लॉकडाउन का उल्लंघन किया तो पुलिस ने थमाया पोस्टर, लिखा है- ‘मैं समाज का दुश्मन हूं, मैं घर पर नहीं रहूंगा’

lockdown
लॉकडाउन का उल्लंघन किया तो पुलिस ने थमाया पोस्टर, लिखा है- 'मैं समाज का दुश्मन हूं, मैं घर पर नहीं रहूंगा'

नई दिल्ली। भारत में बढ़ रहे कोरोना वायरस के प्रकोप के चलते केन्द्र व राजय सरकारों ने लॉक डाउन का फैसला लिया है। इसके चलते कुछ राज्यों व तमाम शहरों में लॉक डाउन किया गया है लेकिन लोग इसका पालन सही से नही कर रहे है। इस दौरान कई जगहों पर देखा गया है कि लोग सड़कों पर बेवजह निकल रहे हैं। इसको लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी नाराजगी जाहिर की है। केन्द्र सरकार के सख्त आदेशों के बाद अब ऐसे लोगों के खिलाफ पुलिस ने कार्रवाई शुरू कर दी है।

When The Lockdown Was Violated The Police Gave The Poster I Am An Enemy Of Society I Will Not Stay At Home :

मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश में भी कुछ ऐसा ही नजारा देखने को मिला है। मध्य प्रदेश के मंदसौर में पुलिस ने लॉकडाउन का उल्लंघन कर घर से बाहर आए युवकों के हाथ में पोस्टर थमा दिया गया, जिस पर लिखा है, ‘मैं समाज का दुश्मन हूं, मैं घर पर नहीं रहूंगा।’ मंदसौर के एसपी ने लोगों को घरों तक सीमित रखने के लिए इसे एक सामाजिक प्रयोग बताया है। उन्होंने कहा, ‘अगर कोई धारा 144 का उल्लंघन करेगा, तो उसके साथ सख्ती बरती जाएगी।’
मध्य प्रदेश के अलावा उत्तर प्रदेश में भी ऐसा ही किया जा रहा है। बरेली में पुलिस ने लॉकडाउन के दौरान घरों से निकलने वाले लोगों के साथ ऐसा ही किया।

नई दिल्ली। भारत में बढ़ रहे कोरोना वायरस के प्रकोप के चलते केन्द्र व राजय सरकारों ने लॉक डाउन का फैसला लिया है। इसके चलते कुछ राज्यों व तमाम शहरों में लॉक डाउन किया गया है लेकिन लोग इसका पालन सही से नही कर रहे है। इस दौरान कई जगहों पर देखा गया है कि लोग सड़कों पर बेवजह निकल रहे हैं। इसको लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी नाराजगी जाहिर की है। केन्द्र सरकार के सख्त आदेशों के बाद अब ऐसे लोगों के खिलाफ पुलिस ने कार्रवाई शुरू कर दी है। मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश में भी कुछ ऐसा ही नजारा देखने को मिला है। मध्य प्रदेश के मंदसौर में पुलिस ने लॉकडाउन का उल्लंघन कर घर से बाहर आए युवकों के हाथ में पोस्टर थमा दिया गया, जिस पर लिखा है, 'मैं समाज का दुश्मन हूं, मैं घर पर नहीं रहूंगा।' मंदसौर के एसपी ने लोगों को घरों तक सीमित रखने के लिए इसे एक सामाजिक प्रयोग बताया है। उन्होंने कहा, 'अगर कोई धारा 144 का उल्लंघन करेगा, तो उसके साथ सख्ती बरती जाएगी।' मध्य प्रदेश के अलावा उत्तर प्रदेश में भी ऐसा ही किया जा रहा है। बरेली में पुलिस ने लॉकडाउन के दौरान घरों से निकलने वाले लोगों के साथ ऐसा ही किया।