1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. प्रवासी भारतीयों के योगदान का विश्व आकलन करता है तो उसे ‘सशक्त और समर्थ भारत’ की आवाज़ सुनाई देती है : पीएम मोदी

प्रवासी भारतीयों के योगदान का विश्व आकलन करता है तो उसे ‘सशक्त और समर्थ भारत’ की आवाज़ सुनाई देती है : पीएम मोदी

दुनिया के अलग-अलग देशों में जब सबसे शांतिप्रिय, लोकतांत्रिक और अनुशासित नागरिकों की चर्चा होती है, तो Mother of Democracy होने का भारतीय गौरव और बढ़ जाता है। हमारे इन प्रवासी भारतीयों के योगदान का विश्व आकलन करता है, तो उसे 'सशक्त और समर्थ भारत' की आवाज़ भी सुनाई देती है।

By शिव मौर्या 
Updated Date

इंदौर। मध्य प्रदेश के इंदौर में तीन दिवसीय प्रवासी भारतीय सम्मेलन चल रहा है। सोमवार को इस सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शामिल हुए। सम्मेलन में पहुंचे दुनिया भर के भारतवंशियों को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने उनका स्वागत किया। प्रधानमंत्री ने विदेशों में रह रहे भारतीयों को उन देशों में भारत का राष्ट्रदूत बताया। उन्होंने कहा सभी प्रवासी अपनी माटी को नमन करने आए हैं। इसके साथ ही कहा कि, ये ‘प्रवासी भारतीय दिवस सम्मेलन’ मध्य प्रदेश की धरती पर हो रहा है, जिसे देश का ह्रदय क्षेत्र कहा जाता है।

पढ़ें :- मध्य प्रदेश के मुरैना में एयरफोर्स के सुखोई-30 और मिराज-2000 फाइटर जेट क्रैश,राहत बचाव दल मौके पर पहुंचा

मध्य प्रदेश में मां नर्मदा का जल, यहां के जंगल, आदिवासी परंपरा और यहां का अध्यात्म आपकी यात्रा को अविस्मरणीय बनाएगी। इसके साथ ही कहा कि, हमने सदियों पहले वैश्विक व्यापार की असाधारण परंपरा शुरू की थी। हम असीम लगने वाले समंदरों के पार गए। अलग-अलग देशों, अलग-अलग सभ्यताओं के बीच व्यावसायिक संबंध कैसे साझी समृद्धि के रास्ते खोल सकती है, भारत ने करके दिखाया।

इसके साथ ही पीएम मोदी ने कहा कि, दुनिया के अलग-अलग देशों में जब भारत के लोग एक कॉमन फैक्टर की तरह दिखते हैं, तो ‘वसुधैव कुटुंबकम्’ की भावना के साक्षात् दर्शन होते हैं। दुनिया के किसी एक देश में जब भारत के अलग-अलग प्रान्तों और अलग-अलग क्षेत्रों के लोग मिलते हैं, तो ‘एक भारत, श्रेष्ठ भारत’ का सुखद अहसास होता है।

साथ ही कहा कि, दुनिया के अलग-अलग देशों में जब सबसे शांतिप्रिय, लोकतांत्रिक और अनुशासित नागरिकों की चर्चा होती है, तो Mother of Democracy होने का भारतीय गौरव और बढ़ जाता है। हमारे इन प्रवासी भारतीयों के योगदान का विश्व आकलन करता है, तो उसे ‘सशक्त और समर्थ भारत’ की आवाज़ भी सुनाई देती है।

G-20 समूह की अध्यक्षता करेगा भारत
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि, इस वर्ष भारत दुनिया के G-20 समूह की अध्यक्षता भी कर रहा है। भारत इस ज़िम्मेदारी को एक बड़े अवसर के रूप में देख रहा है। हमारे लिए ये दुनिया को भारत के बारे में बताने का अवसर है। ये दुनिया के लिए भारत के अनुभवों से सीखने का अवसर है।

पढ़ें :- Pragya Thakur बोलीं- हिंदू अपने घरों पर चाकू तेज कर के रखें लोग, अपनी सुरक्षा में करारा जवाब देना हमारा है अधिकार

 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...