अयोध्या फैसले पर पुनर्विचार याचिका दायर होगी या नहीं, बैठक में आज होगा फैसला

m
अयोध्या फैसले पर पुनर्विचार याचिका दायर होगी या नहीं, बैठक में आज होगा फैसला

लखनऊ। अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ रिव्यू याचिका दाखिल करने के लिए मुस्लिम ने सहमति दे दी है। इसको लेकर मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की आज होने वाली बैठक में इसका ऐलान हो सकता है।
सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद मुस्लिम समुदाय की सर्वोच्च संस्था ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के चेयरमैन मौलाना सैयद राबे हसनी नदवी की अध्यक्षता में आज कार्यकारिणी सदस्यों की बैठक हो रही है।

Whether Or Not A Review Petition Will Be Filed On The Ayodhya Verdict The Decision Will Be Taken In The Meeting Today :

इसमें फैसले के खिलाफ रिव्यू दाखिल करने समेत अन्य मुद्दों पर भी चर्चा होने की उम्मीद है। बताया जा रहा है कि पहले यह बैठक नदवा कॉलेज में होने वाली थी लेकिन अचानक यह मीटिंग वहां से कैंसिल कर दी गयी। बताया जा रहा है कि अब मुमताज पीजी कॉलेज में बैठक होगी। एआईएमआईएम के राष्ट्रीय अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की बैठक में शामिल होने पहुंच गए हैं, उनके अलावा डॉ आसमा ज़हरा, महिला विंग की संयोजक भी पहुंच गई हैं।

बोर्ड के पदाधिकारियों ने सुप्रीम कोर्ट में बाबरी मस्जिद की पैरोकारी कर रहे मुस्लिम पक्षकारों को शनिवार को नदवा बुलाकर सुप्रीम कोर्ट के फैसले को लेकर विचार-विमर्श किया। अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद ही पर्सनल लॉ बोर्ड ने इस पर असहमति जताते हुए रिव्यू दाखिल करने की घोषणा की थी।

बोर्ड का कहना है कि सुप्रीम कोर्ट का फैसला आस्था की बुनियाद पर आधारित है। कोर्ट ने सुनवाई के दौरान मुस्लिम पक्ष के तमाम साक्ष्यों का संज्ञान लेकर मंदिर तोड़कर मस्जिद का निर्माण न होने की बात स्वीकार की लेकिन अपने फैसले में कहीं न कहीं साक्ष्यों की जगह आस्था को तरजीह दी।

लखनऊ। अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ रिव्यू याचिका दाखिल करने के लिए मुस्लिम ने सहमति दे दी है। इसको लेकर मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की आज होने वाली बैठक में इसका ऐलान हो सकता है। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद मुस्लिम समुदाय की सर्वोच्च संस्था ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के चेयरमैन मौलाना सैयद राबे हसनी नदवी की अध्यक्षता में आज कार्यकारिणी सदस्यों की बैठक हो रही है। इसमें फैसले के खिलाफ रिव्यू दाखिल करने समेत अन्य मुद्दों पर भी चर्चा होने की उम्मीद है। बताया जा रहा है कि पहले यह बैठक नदवा कॉलेज में होने वाली थी लेकिन अचानक यह मीटिंग वहां से कैंसिल कर दी गयी। बताया जा रहा है कि अब मुमताज पीजी कॉलेज में बैठक होगी। एआईएमआईएम के राष्ट्रीय अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की बैठक में शामिल होने पहुंच गए हैं, उनके अलावा डॉ आसमा ज़हरा, महिला विंग की संयोजक भी पहुंच गई हैं। बोर्ड के पदाधिकारियों ने सुप्रीम कोर्ट में बाबरी मस्जिद की पैरोकारी कर रहे मुस्लिम पक्षकारों को शनिवार को नदवा बुलाकर सुप्रीम कोर्ट के फैसले को लेकर विचार-विमर्श किया। अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद ही पर्सनल लॉ बोर्ड ने इस पर असहमति जताते हुए रिव्यू दाखिल करने की घोषणा की थी। बोर्ड का कहना है कि सुप्रीम कोर्ट का फैसला आस्था की बुनियाद पर आधारित है। कोर्ट ने सुनवाई के दौरान मुस्लिम पक्ष के तमाम साक्ष्यों का संज्ञान लेकर मंदिर तोड़कर मस्जिद का निर्माण न होने की बात स्वीकार की लेकिन अपने फैसले में कहीं न कहीं साक्ष्यों की जगह आस्था को तरजीह दी।