1. हिन्दी समाचार
  2. तकनीक
  3. आरोग्य सेतु ऐप किसने बनाया? देशभर में 15 करोड़ यूजर्स वाले ऐप की सच्चाई आई सामने

आरोग्य सेतु ऐप किसने बनाया? देशभर में 15 करोड़ यूजर्स वाले ऐप की सच्चाई आई सामने

By शिव मौर्या 
Updated Date

नई दिल्ली। आरोग्य सेतु ऐप को लेकर चल रहे बवाल के बीच अब सरकार का बयान सामने आया है। सरकार की तरफ से स्पष्टीकरण सामने आया है। विवाद बढ़ने के बाद कोरोनावायरस से लड़ने के लिए रिकॉर्ड समय में सार्वजनिक निजी सहयोग से आरोग्य सेतु ऐप को तैयार किया गया। सरकार ने बताया कि राष्ट्रीय सूचना-विज्ञान केंद्र (एनआईसी) ने उद्योग और शैक्षणिक क्षेत्र के वॉलनटिअर्स के सहयोग से आरोग्य सेतु ऐप तैयार किया गया है।

पढ़ें :- पठानकोट में लगे सनी देओल के लापता होने के पोस्टर, लोगों का आरोप-एक भी काम नहीं किए

आपको बता दें कि पिछले दिनों केंद्रीय सूचना आयोग ने आरोग्य सेतु ऐप की जानकारी को लेकर नेशनल इन्फॉर्मेटिक सेंटर (NIC) के अधिकारियों को फटकार लगाई थी। जिसमें कहा गया था कि नेशनल इन्फॉर्मेटिक सेंटर की वेबसाइट पर आरोग्य सेतु ऐप का नाम है लेकिन इसके विकास को लेकर कोई जानकारी नहीं है।

इसके बाद सरकार ने बताया कि आरोग्य सेतु ऐप को रिकॉर्ड 21 दिनों में पारदर्शी तरीके से सार्वजनिक-निजी सहयोग से विकसित किया गया है। ऐसे में आरोग्य सेतु ऐप पर संदेह नहीं करना चाहिए। आरोग्य सेतु ऐप की मदद से कोविड-19 (COVID-19) से लड़ने में काफी मदद मिली है।

इस तरह शुरू हुआ विवाद
सौरव दास नाम के एक शख्स ने चीफ इन्फॉर्मेशन कमिशन में शिकायत दर्ज कराई थी। दास ने दावा किया है कि उन्होंने आरोग्य सेतु ऐप को बनाने वाले के बारे में जानकारी के लिए एनआईसी, नैशनल ई-गवर्नेंस डिविजन और मिनिस्ट्री ऑफ इलेक्ट्रॉनिक्स ऐंड इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी से संपर्क किया था। लेकिन किसी ने भी संतोषजनक जवाब नहीं दिया। जिसके बाद केंद्रीय सूचना आयोग ने कारण बताओं नोटिस जारी किया।

पढ़ें :- एयरपोर्ट पर कस्टम ने बरामद की बेशकीमती घड़ियां, एक की कीमत 27.9 करोड़ रुपये
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...