1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. कौन सुने फरियाद , अधिकारी कर्मचारी मस्त , जनता त्रस्त

कौन सुने फरियाद , अधिकारी कर्मचारी मस्त , जनता त्रस्त

By टीम पर्दाफाश 
Updated Date
लखीमपुर खीरी । जिले की सिंगाही  नगर पंचायत में यथा राजा तथा प्रजा, वाली कहावत सटीक बैठती है। नगर पंचायत के कार्यालय में कर्मचारी से लेकर अफसर निर्धारित समय के बाद कब तक आएंगे कुछ कहा नहीं जा सकता। कर्मचारियों को भी शायद इस बात का अहसास है कि जब साहब ही समय पर दफ्तर नहीं आते तो हमारा कोई क्या बिगाड़ेगा। बहरहाल नगर पंचायत में इस तरह की कार्यप्रणाली से आमजन परेशान हैं।
नगर पंचायत के यह दो सीन बताने के लिए काफी हैं कि कस्बे का विकास कराने के लिए नगर नगर पंचायत के अधिकारी और कर्मचारी कितने गंभीर हैं। मौका मुआयना में कुछ कर्मियों को छोड़ दिया जाए तो अधिकारी-कर्मचारी सुबह के वक्त दफ्तर नहीं पहुंचे। कुर्सियां खाली पड़ी थी। दफ्तर खुले थे।  ऐेसे में सहज अंदाजा लगाया जा सकता है कि लापरवाही का आलम यही रहेगा तो कस्बे का विकास कैसे होगा। ऐसे में जो कस्बे वासी शिकायत लेकर पहुंचते हैं तो उनको भी मायूस होकर लौटना पड़ता है
सुबह 11 बजे 
निर्धारित समय के बाद भी अधिशासी अधिकारी के कार्यालय के बाहर कई लोग साहब के आने का इंतजार कर रहे थे। साहब की खाली कुर्सी लोगों को मुँह चिढ़ा रही थी।
सुबह : 11 30 बजे
लेखाकार कार्यालय में अक्सर भीड़भाड़ रहती है। जमीन जायदाद से संबंधित काम कराने के लिए लोगों का आना-जाना लगा हुआ था, लेकिन कार्यालय तय समय के डेढ़ घंटे बाद भी सूना पड़ा था। अपने काम कराने के लिये आने वाले लोग इंतजार कर वापस लौट रहे थे।
कार्यालय के लगाने पड़ते हैं चक्कर 
वार्ड नं 5 के सभासद प्रतिनिधि मज्जन खां ने बताया कि वे वार्ड के कार्यों से नगर पंचायत कार्यालय आते हैं, लेकिन ज्यादातर समय यहां अधिकारी मौजूद नहीं रहते। कार्य करवाने के लिए उन्हें तीन से चार दिन तक चक्कर लगाने पड़ते हैं।
कार्यालय में नहीं मिलता है अधिकारी 
कस्बेवासी परजेश रस्तोगी ने बताया कि उन्हें अलाव के मामले की शिकायत अधिकारी को देनी थी, लेकिन यहां कोई नहीं मिलता है। अधिकारी कार्यालय से गायब रहते हैं और कस्बे के लोग परेशान रहते हैं। इस बाबत एसडीएम निघासन ओपी गुप्ता ने बताया कि निर्धारित समय पर दफ्तर आने के सख्त निर्देश दिए गए हैं। मैं खुद जायजा लेकर देखूंगा कि कौन समय पर आता है और कौन देरी से आता है।
                                                                रिपोर्ट-एसडी त्रिपाठी

पढ़ें :- बच्चों का धर्म परिवर्तन कराने के आरोप में स्कूल पर पथराव, जमकर हुआ हंगामा
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...