कैराना लोकसभा उपचुनाव में प्रत्याशी को लेकर सपा में मंथन जोरों पर

ex cm akhilesh yadav1
कैराना लोकसभा उपचुनाव में प्रत्याशी को लेकर सपा में मंथन जोरों पर

कैराना। कैराना लोकसभा सीट पर होने वाले लोकसभा चुनाव में प्रत्याशी को लेकर समाजवादी पार्टी में मंथन जोरों पर है। इस सीट पर सपा, बसपा और रालोद तीनों पार्टियां साथ में चुनाव लड़ेंगी, अब ऐसे में तमाम तरह के कयास लगाए जा रहे है। कुछ लोगों का मानना है कि इस सीट पर इस गठबंधन की तरफ से रालोद के चौधरी अजीत सिंह प्रत्याशी हो सकते है, हालाकि इसकी अभी कोई आधिकारिक पुष्टि नही हो सकी है।

Who Will Be The Candidate In Kairana Loksabha Election :

बता दें कि इस सीट से सांसद रहे हु​कूम सिंह की मौत के बाद यहां उपचुनाव होने है। केन्द्रिय चुनाव आयोग ने अभी तक इस चुनाव की कोई तिथि घोषित नही किया है, लेकिन आशंका जताई जा रही है कि जल्द ही यहां चुनाव होंगे। बता दें कि इससे पहले फूलपुर और गोरखपुर सीट पर हुए उपचुनाव में मिली सफलता थी, जिसके बाद हौसले पहले से बहुत ज्यादा बढ़ चुके है। इस सफलता के बाद इस बार भी सपा और बसपा का गठबंधन ना होना तय हैं। इस बीच समाजवादी पार्टी की तरफ से एक बड़ी महिला नेता के नाम की चर्चाएं भी शुरू हो गई है।

आपकों बता दें कि सोशल मीडिया पर बने सपा के ग्रुप पर चर्च हैं कि कैराना से सपा विधायक नाहिद हसन की मां और पूर्व सांसद तबस्सुम हसन को उतारा सकता है। वही पार्टी पदाधिकारियों का कहना है कि अभी तक कैराना लोकसभा सीट से किसी भी प्रत्याशी का नाम फाइनल नही हुआ है।

कैराना। कैराना लोकसभा सीट पर होने वाले लोकसभा चुनाव में प्रत्याशी को लेकर समाजवादी पार्टी में मंथन जोरों पर है। इस सीट पर सपा, बसपा और रालोद तीनों पार्टियां साथ में चुनाव लड़ेंगी, अब ऐसे में तमाम तरह के कयास लगाए जा रहे है। कुछ लोगों का मानना है कि इस सीट पर इस गठबंधन की तरफ से रालोद के चौधरी अजीत सिंह प्रत्याशी हो सकते है, हालाकि इसकी अभी कोई आधिकारिक पुष्टि नही हो सकी है।बता दें कि इस सीट से सांसद रहे हु​कूम सिंह की मौत के बाद यहां उपचुनाव होने है। केन्द्रिय चुनाव आयोग ने अभी तक इस चुनाव की कोई तिथि घोषित नही किया है, लेकिन आशंका जताई जा रही है कि जल्द ही यहां चुनाव होंगे। बता दें कि इससे पहले फूलपुर और गोरखपुर सीट पर हुए उपचुनाव में मिली सफलता थी, जिसके बाद हौसले पहले से बहुत ज्यादा बढ़ चुके है। इस सफलता के बाद इस बार भी सपा और बसपा का गठबंधन ना होना तय हैं। इस बीच समाजवादी पार्टी की तरफ से एक बड़ी महिला नेता के नाम की चर्चाएं भी शुरू हो गई है।आपकों बता दें कि सोशल मीडिया पर बने सपा के ग्रुप पर चर्च हैं कि कैराना से सपा विधायक नाहिद हसन की मां और पूर्व सांसद तबस्सुम हसन को उतारा सकता है। वही पार्टी पदाधिकारियों का कहना है कि अभी तक कैराना लोकसभा सीट से किसी भी प्रत्याशी का नाम फाइनल नही हुआ है।