PM मोदी ने आखिर क्यों चुना रात 9 बजे का समय, जानिए वजह

modi
15 अप्रैल को लॉक डाउन खुलने के आसार कम, मोदी सरकार कर रही विचार

देशवासियों के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज जो संदेश जारी किया उसमें उन्होंने 5 अप्रैल को रात 9 बजे 9 मिनट के लिए दीपक जलाने की बात कही। पीएम मोदी के इस संदेश के बाद देशवासियों में इस बात को लेकर उत्सुकता है कि आखिर पीएम मोदी ने रात 9 बजे 9 मिनट पर दीपक जलाने, मोमबत्तियां जलाने का ही संदेश दिया। इस दौरान इंटरनेट पर कई प्रकार के कारण बताए जा रहे हैं। कई रिपोट्र्स में कहा जा रहा है िक 9 अंक को चुनने के पीछे लॉकडाउन का 9वां दिन होना बड़ी वजह हो सकती है।

Why Did Pm Modi Choose The Time Of 9 Oclock At Night Know The Reason :

पीएम मोदी ने अपने संबोधन की शुरुआत भी यही कहकर की थी कि आज 21 दिन के लॉकडाउन का 9वां दिन है। ऐसे में उन्होंने लोगों को संबोधित करने के लिए 9 अंक को प्राथमिकता दी। हाल ही में नवरात्रि गुजरे हैं और पीएम मोदी भी नवरात्रि के व्रत रखते हैं। इस बार भी उन्होंने नवरात्रि का व्रत रखा और इसकी शुरुआत पर ही उन्होंने कहा कि वे इस बार मां से देश के सुख और शांति की प्रार्थना करेंगे। पीएम मोदी ने अपने संबोधन में भी कहा कि 9 बजे 9 मिनट महाशक्ति का जागरण करना है।

यही नहीं पीएम मोदी ने भी अपने संबोधन में सोशल डिस्टेंसिंग की तुलना इस वक्त कोरोना के रामबाण इलाज से की। यही नहीं उनकी अपील पर गौर करें तो अंधकार पर रोशनी की जीत करने की बात कही। यानी बुराई पर अच्छाई की जीत की बात की, जो आम तौर पर दशहरे पर की जाती है। धार्मिक दृष्टि से देखा जाए तो दीप का बड़ा ही महत्व है। हिंदू धर्म में दीप को आत्मा एवं ईश्वर का प्रतीक माना जाता है।  उल्लेखनीय है कि इससे पहले पीएम मोदी ने कई बार 8 बजे राष्ट्र को संबोधित किया।

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि लॉकडाउन के समय करोड़ों लोग घरों में हैं, कुछ लोग सोच रहे हैं कि इतनी बड़ी लड़ाई को अकेले कैसे लड़ पाएंगे। कितने दिन ऐसे काटने पड़ेंगे। यह लॉकडाउन का समय जरूर है, हम अपने-अपने घरों में जरूर हैं, हम में से कोई अकेला नहीं है. 130 करोड़ लोगों की सामूहिक शक्ति सबके साथ है।

देशवासियों के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज जो संदेश जारी किया उसमें उन्होंने 5 अप्रैल को रात 9 बजे 9 मिनट के लिए दीपक जलाने की बात कही। पीएम मोदी के इस संदेश के बाद देशवासियों में इस बात को लेकर उत्सुकता है कि आखिर पीएम मोदी ने रात 9 बजे 9 मिनट पर दीपक जलाने, मोमबत्तियां जलाने का ही संदेश दिया। इस दौरान इंटरनेट पर कई प्रकार के कारण बताए जा रहे हैं। कई रिपोट्र्स में कहा जा रहा है िक 9 अंक को चुनने के पीछे लॉकडाउन का 9वां दिन होना बड़ी वजह हो सकती है। पीएम मोदी ने अपने संबोधन की शुरुआत भी यही कहकर की थी कि आज 21 दिन के लॉकडाउन का 9वां दिन है। ऐसे में उन्होंने लोगों को संबोधित करने के लिए 9 अंक को प्राथमिकता दी। हाल ही में नवरात्रि गुजरे हैं और पीएम मोदी भी नवरात्रि के व्रत रखते हैं। इस बार भी उन्होंने नवरात्रि का व्रत रखा और इसकी शुरुआत पर ही उन्होंने कहा कि वे इस बार मां से देश के सुख और शांति की प्रार्थना करेंगे। पीएम मोदी ने अपने संबोधन में भी कहा कि 9 बजे 9 मिनट महाशक्ति का जागरण करना है। यही नहीं पीएम मोदी ने भी अपने संबोधन में सोशल डिस्टेंसिंग की तुलना इस वक्त कोरोना के रामबाण इलाज से की। यही नहीं उनकी अपील पर गौर करें तो अंधकार पर रोशनी की जीत करने की बात कही। यानी बुराई पर अच्छाई की जीत की बात की, जो आम तौर पर दशहरे पर की जाती है। धार्मिक दृष्टि से देखा जाए तो दीप का बड़ा ही महत्व है। हिंदू धर्म में दीप को आत्मा एवं ईश्वर का प्रतीक माना जाता है।  उल्लेखनीय है कि इससे पहले पीएम मोदी ने कई बार 8 बजे राष्ट्र को संबोधित किया। पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि लॉकडाउन के समय करोड़ों लोग घरों में हैं, कुछ लोग सोच रहे हैं कि इतनी बड़ी लड़ाई को अकेले कैसे लड़ पाएंगे। कितने दिन ऐसे काटने पड़ेंगे। यह लॉकडाउन का समय जरूर है, हम अपने-अपने घरों में जरूर हैं, हम में से कोई अकेला नहीं है. 130 करोड़ लोगों की सामूहिक शक्ति सबके साथ है।