एक के बदले दस सिर लाने वाले आज चुप क्यों: कांग्रेस

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में CRPF ट्रेनिंग सेंटर पर हुए आतंकवादी हमले पर विपक्ष ने मंगलवार को संसद में सरकार को घेरने की कोशिश की। मंगलवार को लोकसभा में जवानों की शहादत को लेकर हंगामा हुआ। शहीदों को श्रद्धांजलि देने के बाद कांग्रेस सांसद ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया ने कहा कि एक सिर के बदले दस सिर लाने का बयान देने वाले पीएम नरेंद्र मोदी शहीदों की शहादत पर चुप क्‍यों हैं? इतना ही नहीं ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया ने कहा कि बीजेपी को अपने सांसद के बयान पर माफी मांगनी चाहिए। इससे पहले लोकसभा में सासंदों ने ‘पाकिस्तान मुर्दाबाद’ के नारे भी लगाए।

सिंधिया ने सत्तारूढ़ बीजेपी को घेरते हुए कहा, ‘जो लोग कहते थे कि एक सिर के बदले 10 सिर लायेंगे, वे आज चुप क्यों हैं। देश के प्रधानमंत्री कोई बात नहीं कह रहे हैं। एक वर्ष में 82 सैनिकों ने जान दी है। पाकिस्तान के प्रति सरकार की नीति क्या है? सरकार के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार पाकिस्तान के एनएसए से मिल रहे हैं और वह भी तब जाधव के परिवार की उनसे मिलने की घटना का मुद्दा सामने आता है। सरकार की विदेश नीति क्या है, हम समझ नहीं पा रहे हैं।’

{ यह भी पढ़ें:- सीमा पर पाकिस्तान की नापाक हरकत, चार जवान शहीद और पांच नागरिक मारे गए }

उन्होंने कहा कि पुलवामा हमले के बारे में खुफिया जानकारी पहले से थी। आतंकवादी जहां से घुसे वहां पर फ्लडलाइट नहीं थीं। इससे लगता है कि खुफिया जानकारी को गंभीरता से नहीं लिया गया। अगर ऐसा हुआ है तो इसकी ज़िम्मेदारी कौन लेगा?


अनंत कुमार ने गिनाईं ये उपलब्धियां

विपक्ष की ओर से उठाए गए सवालों पर सरकार का पक्ष रखते हुए संसदीय कार्यमंत्री अनंत कुमार ने कहा कि हमने पिछले एक साल में 200 से ज्‍यादा आतंकियों को ढेर किया है। पुलवामा हमले में शामिल तीनों आतंकियों को भी सुरक्षाबलों ने मार गिराया है। इस मामले पर राजनीति नहीं होनी चाहिए। इस वजह से गृहमंत्री राजनाथ सिंह सदन में मौजूद होते हुए भी इस हमले पर बयान नहीं देंगे।

{ यह भी पढ़ें:- राहुल के स्वागत को खड़े कांग्रेस और बीजेपी कार्यकर्ताओं में तीखी झड़प, पुलिस ने किया लाठीचार्ज }

Loading...