PM मोदी बैंकों से क्यों नहीं कहते कि मुझसे पैसा ले लें: विजय माल्या

vijay mallya
PM मोदी बैंकों से क्यों नहीं कहते कि मुझसे पैसा ले लें: विजय माल्या

नई दिल्ली। बैंकों के हजारों करोड़ रुपये डकारने वाले भगोड़े कारोबारी विजय माल्याने गुरुवार को कई ट्वीट कर एक बार फिर बैंकों के बकाये रकम की भुगतान की बात दोहराई। पीएम मोदी बुधवार को 16वीं लोकसभा के अपने अंतिम भाषण में बिना माल्या का नाम लिए बैंकों का 9000 करोड़ रुपये लेकर ‘भाग जाने वाले’ एक शख्स की चर्चा की थी। इसके जवाब में माल्या ने कहा कि वह तो पैसा लौटाने को तैयार हैं, लेकिन पीएम मोदी आखिर बैंकों से इसे लेने को कहते क्यों नहीं।

Why Is Pm Narendra Modi Not Asking Banks To Accept Money I Am Offering Vijay Mallya :

हाल ही में लोकसभा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिना नाम लिये विजय माल्या पर बड़ा हमला किया था। लोकसभा में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव की चर्चा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था- जो लोग देश से भाग गए हैं, वो ट्विटर पर रो रहे हैं कि मैं तो 9 हजार करोड़ रुपये लेकर निकला था, लेकिन मोदी जी ने मेरे 13 हजार करोड़ जब्त कर लिए।

विजय माल्‍या ने अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर सवाल उठाते हुए ट्वीट किया है, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पिछले भाषण के बारे में मुझे पता चला। वह बहुत अच्‍छा बोलते हैं। इस दौरान उन्होंने बिना नाम लिए कहा कि एक आदमी 9000 करोड़ रुपये ले कर भाग गया है। इसमें उनका इशारा मेरी ओर था। मैं बड़े ही आदर से प्रधानमंत्री से पूछना चाहता हूं कि आखिर क्यों वह बैंकों को मुझे से पैसा लेने को नहीं कहते हैं। कम से कम इससे जनता के पैसे की रिकवरी हो जाएगी। मैंने कर्नाटाक हाई कोर्ट में सेटलमेंट का ऑफर पहले ही दे दिया है।’

माल्या ने पिछले दिनों ट्वीट कर बताया कि वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट अदालत के 10 दिसंबर, 2018 के आदेश पर फैसला आने के बाद मैंने अपील की अपनी मंशा के बारे में बता दिया है। गृह मंत्री के निर्णय से पहले मैं अपील नहीं कर सकता था। अब मैं अपील करूंगा। माल्या (63) के प्रत्यर्पण को ब्रिटेन के गृह मंत्री साजिद जाविद ने मंजूरी दी थी। आपको बता दें माल्या पर भारतीय बैंकों का कुल 9400 करोड़ रुपये बकाया है।

नई दिल्ली। बैंकों के हजारों करोड़ रुपये डकारने वाले भगोड़े कारोबारी विजय माल्याने गुरुवार को कई ट्वीट कर एक बार फिर बैंकों के बकाये रकम की भुगतान की बात दोहराई। पीएम मोदी बुधवार को 16वीं लोकसभा के अपने अंतिम भाषण में बिना माल्या का नाम लिए बैंकों का 9000 करोड़ रुपये लेकर 'भाग जाने वाले' एक शख्स की चर्चा की थी। इसके जवाब में माल्या ने कहा कि वह तो पैसा लौटाने को तैयार हैं, लेकिन पीएम मोदी आखिर बैंकों से इसे लेने को कहते क्यों नहीं। हाल ही में लोकसभा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिना नाम लिये विजय माल्या पर बड़ा हमला किया था। लोकसभा में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव की चर्चा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था- जो लोग देश से भाग गए हैं, वो ट्विटर पर रो रहे हैं कि मैं तो 9 हजार करोड़ रुपये लेकर निकला था, लेकिन मोदी जी ने मेरे 13 हजार करोड़ जब्त कर लिए। विजय माल्‍या ने अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर सवाल उठाते हुए ट्वीट किया है, 'प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पिछले भाषण के बारे में मुझे पता चला। वह बहुत अच्‍छा बोलते हैं। इस दौरान उन्होंने बिना नाम लिए कहा कि एक आदमी 9000 करोड़ रुपये ले कर भाग गया है। इसमें उनका इशारा मेरी ओर था। मैं बड़े ही आदर से प्रधानमंत्री से पूछना चाहता हूं कि आखिर क्यों वह बैंकों को मुझे से पैसा लेने को नहीं कहते हैं। कम से कम इससे जनता के पैसे की रिकवरी हो जाएगी। मैंने कर्नाटाक हाई कोर्ट में सेटलमेंट का ऑफर पहले ही दे दिया है।' माल्या ने पिछले दिनों ट्वीट कर बताया कि वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट अदालत के 10 दिसंबर, 2018 के आदेश पर फैसला आने के बाद मैंने अपील की अपनी मंशा के बारे में बता दिया है। गृह मंत्री के निर्णय से पहले मैं अपील नहीं कर सकता था। अब मैं अपील करूंगा। माल्या (63) के प्रत्यर्पण को ब्रिटेन के गृह मंत्री साजिद जाविद ने मंजूरी दी थी। आपको बता दें माल्या पर भारतीय बैंकों का कुल 9400 करोड़ रुपये बकाया है।