1. हिन्दी समाचार
  2. Joint Pain: इस वजह से सर्दियों में बढ़ जाता है जोड़ों का दर्द, जानें कैसे मिलेगी राहत

Joint Pain: इस वजह से सर्दियों में बढ़ जाता है जोड़ों का दर्द, जानें कैसे मिलेगी राहत

Why Joint Pain Increases In Winter

By आस्था सिंह 
Updated Date

लखनऊ। सर्दियों का मौसम शुरू हो गया है और ऐसे में जोड़ों के दर्द की समस्या काफी बढ़ जाती है। दरअसल इस मौसम में ब्लड अच्छी तरह से संचरित नहीं हो पाता है और शरीर के अगले भागों में खून का बहाव काफी कम हो जाता है और यही वजह है कि सर्दी के मौसम में एक छोटी सी चोट भी तेज और चुभन वाला दर्द होता है।

पढ़ें :- सोनौली:कोतवाली के बगल में बना दिया कूड़ा घर,आस-पास के लोगो का जीना हुआ दुश्वार

बैरोमीटर के दबाव में होने वाले बदलाव से जोड़ों में सूजन हो सकती है। ज्यादा तला भुना खाने, व्यायाम न करना और डिहाइड्रेशन इस समस्या को और बढ़ा देते हैं। सर्दी के मौसम में जोड़ों में दर्द की परेशानी काफी ज्यादा हो सकती है। मौसम से संबंधित जोड़ों का दर्द आमतौर पर ऑस्टियोआर्थराइटिस और रुमेटाइइड गठिया से पीड़ित रोगियों में देखने को मिलता है।

आइये जानते हैं कैसे पाएं सर्दियों में जोड़ों के दर्द से राहत और क्या है इसके मुख्य कारण….

सर्दियों में जोड़ों का दर्द बढ़ने के कारण

  • सर्दियों में शरीर हार्ट के पास के ब्लड को गर्म रखना चाहता है और इसके कारण जाइंट्स में ब्लड का सर्कुलेशन कम हो जाता है, इसके कारण जोड़ों में अधिक दर्द जकड़न होती है।
  • सर्दियों में उन लोगों को जोड़ों में अधिक दर्द होता है जिन्हें पहले कभी आर्थोपेडिक संबंधी चोट लगी हो, फ्रैक्चर या मोच की समस्या हुई हो या जिनकी हड्डियों को जोड़ा गया हो।
  • जोड़ों पर यूरिक एसिड का इकट्ठा होना।
  • कभी-कभी दर्द अनुवांशिक कारणों से भी जोड़ों में दर्द होता है।
  • दर्द कमजोरी के चलते भी होते हैं।
  • बासी खाना खाने, अपच, ठंडी सीलन भरी जगहों में रहना, तनाव इसके प्रमुख कारण हैं।

नसों में खिंचाव

पढ़ें :- बंगालः नारेबाजी से नाराज हुईं ममता बनर्जी, कहा-किसी को बुलाकर बेइज्जत करना ठीक नहीं

  • बारिश और सर्दी में ‘एटमॉसफेरिक प्रेशर’ यानी वायुमंडलीय दबाव कम हो जाता है।
  • इससे जोड़ों में सूजन बढ़ने लगती है।
  • ये जोड़ टखने, घुटने, नितम्ब, रीढ़, उंगलियों या शरीर के किसी भी हिस्से के हो सकते हैं।
  • कई बार ये सूजन अंदरूनी होती है।
  • सूजन आने से नसों में खिंचाव पैदा होता है, वे नाजुक हो जाती हैं।

जोड़ों में कसाव

  • गर्मी में चीजें फैलती हैं और ठंड में सिकुड़ती हैं।
  • अगर जीवनशैली सुस्त है तो जोड़ों के ऊपर ठंड का असर ज्यादा पड़ता है।
  • कोशिकाएं और मांसपेशियां सिकुड़ने लगती हैं।
  • जोड़ कठोर हो जाते हैं।
  • उनके लचीलेपन में कमी आती है।

मिलता है कम ऑक्सीजन

  • सर्दी के दौरान खून की धमनियां संकुचित हो जाती हैं, जिससे खून का प्रवाह सामान्य ढंग से नहीं हो पाता।
  • शरीर के विभिन्न अंगों तक खून,पानी और ऑक्सीजन की पूर्ति कम हो जाती है।
  • इसकी वजह है कि खून में हिमोग्लोबिन होता है, जो ऑक्सीजन को एक जगह से दूसरी जगह तक ले जाता है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...