1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. Congress को हराने के लिए बनाएंगे संयुक्त मोर्चा, सिद्धू के पास नहीं है दिमाग : कैप्टन अमरिंदर सिंह

Congress को हराने के लिए बनाएंगे संयुक्त मोर्चा, सिद्धू के पास नहीं है दिमाग : कैप्टन अमरिंदर सिंह

पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Captain Amarinder Singh) ने कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू (State President Navjot Singh Sidhu) के ट्वीट पर बुधवार को प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि वह कुछ भी बोलते हैं। उन्होंने कहा कि वह कुछ नहीं जानता, बहुत ज्यादा बोलता है, उसके पास दिमाग नहीं है। मैंने इस पर कभी अमित शाह या ढ़ीढसा से बात नहीं की, लेकिन अब मैं करूंगा।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Captain Amarinder Singh) ने कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू (State President Navjot Singh Sidhu) के ट्वीट पर बुधवार को प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि वह कुछ भी बोलते हैं। उन्होंने कहा कि वह कुछ नहीं जानता, बहुत ज्यादा बोलता है, उसके पास दिमाग नहीं है। मैंने इस पर कभी अमित शाह या ढ़ीढसा से बात नहीं की, लेकिन अब मैं करूंगा। कैप्टन अमरिंदर सिंह (Captain Amarinder Singh) ने कहा कि मैं कांग्रेस ,शिअद व आप से लड़ने के लिए मजबूत होना चाहता हूं। । मैं उनसे बात करूंगा, हम इन्हें हराने के लिए संयुक्त मोर्चा बनाएंगे।

पढ़ें :- UP Election 2022: प्रियंका गांधी ने मोदी और योगी सरकार को घेरा, कहा-ये लोग मंच से करते हैं झूठे वादे

पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Captain Amarinder Singh)  ने बुधवार को चंडीगढ़ में एक नया राजनीतिक दल बनाने का ऐलान किया है। इसके बाद मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि मैं एक पार्टी बना रहा हूं। उन्होंने कहा कि अब सवाल ये है कि पार्टी का नाम क्या है, ये मैं आपको नहीं बता सकता? क्योंकि ये मैं खुद नहीं जानता। जब चुनाव आयोग पार्टी के नाम और चिन्ह को मंजूर करता है, मैं आपको बता दूंगा। इस दौरान उन्होंने कहा कि राज्य के सभी 117 सीटों पर चुनाव लड़ेंगे।

उन्होंने कहा कि जहां से प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू (State Congress President Navjot Singh Sidhu) चुनाव लड़ेंगे, वहां से वे भी लड़ेंगे। कांग्रेस (Congress) से अलग होने के बाद कैप्टन अमरिंदर सिंह (Captain Amarinder Singh)  ने पहले ही इस बात का संकेत किया था कि वे जल्द नई पार्टी का गठन करेंगे। बीते दिनों उन्होंने कहा था कि किसानों के हित में अगर किसान आंदोलन की समस्या का कोई रास्ता निकला तो वे भाजपा से समझौता कर सकते हैं।

फिलहाल उन्होंने कहा कि गुरुवार को वे 25-30 लोगों को साथ लेकर इस मुद्दे पर गृह मंत्री से मिलेंगे। उनसे इस समस्या के समाधान के लिए बात करेंगे। उम्मीद जताई कि जल्द ही किसान आंदोलन का कोई न कोई समाधान निकल आएगा।

उन्होंने कहा कि सुरक्षा उपायों को लेकर जो मेरा मखौल उड़ाते हैं। उन्होंने कहा कि मैं 10 साल सेना में रहा हूं। दूसरी तरफ मैं 9.5 साल पंजाब का गृह मंत्री रहा और संवेदनशील मुद्दे मेरे अधीन थे। जो एक महीने गृह मंत्री रहा वो कहता है कि वो मुझसे ज़्यादा जानता है। मेरी बेसिक ट्रेनिंग एक सैनिक की है। मेरे प्रशिक्षण की अवधि से लेकर सेना छोड़ने तक, इसलिए मुझे मूल बातें पता हैं। कोई भी परेशान पंजाब नहीं चाहता। हमें समझना चाहिए कि हम पंजाब में बहुत मुश्किल दौर से गुजरे हैं।

पढ़ें :- कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने तत्कालीन मनमोहन सरकार को बताया कमजोर, जानिए पूरा मामला

अमरिंदर सिंह के नए कदम से पंजाब की राजनीति (Politics of Punjab) में जरूर उथल-पुथल मचेगी। इसको लेकर सभी दलों में भी मंथन शुरू हो गया। अभी वहां कांग्रेस की सरकार है, लेकिन उसमें भी आपसी विवाद अभी दूर नहीं हुआ है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...