1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. नक्सलियों के खिलाफ लड़ाई को अंजाम तक पहुंचाएंगे और इस जंग में हमारी जीत तय : अमित शाह

नक्सलियों के खिलाफ लड़ाई को अंजाम तक पहुंचाएंगे और इस जंग में हमारी जीत तय : अमित शाह

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने नक्सलियों के खिलाफ अभियान को और तेज करने का संकल्प सोमवार को दोहराया है। उन्होंने कहा कि इस जंग में हमारी जीत तय है।श्री शाह ने वाम उग्रवाद प्रभावित क्षेत्र की स्थिति पर आज यहां एक लगभग दो घंटे की लम्बी उच्च स्तरीय बैठक की । इसके बाद पत्रकारों से कहा कि नक्सलियों के खिलाफ लड़ाई को और तेज किया जायेगा।

By शिव मौर्या 
Updated Date

Will Lead The Fight Against Naxalites And Our Victory In This Battle Is Fixed Amit Shah

जगदलपुर। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने नक्सलियों के खिलाफ अभियान को और तेज करने का संकल्प सोमवार को दोहराया है। उन्होंने कहा कि इस जंग में हमारी जीत तय है।

पढ़ें :- कोरोना के लक्षण दिखने पर बिना डॉक्टर की सलाह पी ली दवा, एक परिवार के सात लोगों की मौत

श्री शाह ने वाम उग्रवाद प्रभावित क्षेत्र की स्थिति पर आज यहां एक लगभग दो घंटे की लम्बी उच्च स्तरीय बैठक की । इसके बाद पत्रकारों से कहा कि नक्सलियों के खिलाफ लड़ाई को और तेज किया जायेगा। उऩ्होंने कहा कि जवानों की शहादत व्यर्थ नही जायेंगी,और इस लडाई को निर्णायक मोड़ पर पहुंचाया जायेगा। श्री शाह ने कहा कि बीजापुर जैसी कायरतापूर्ण घटना से लड़ाई नही रूकेंगी बल्कि और दृढ़ता से आगे बढ़ेगी।

उन्होंने कहा कि केन्द्रीयकेन्द्रीय एवं राज्य के सुरक्षा बलों ने नक्सलियों के खिलाफ इस इलाके में जोरदार अभियान चलाया है,और केन्द्र एवं राज्य सरकार ने तमाम विकास कार्य इस इलाके में किए हैं जिससे नक्सलियों ने बौखलाहट में इस तरह की कायरतापूर्ण कार्रवाई की है। उऩ्होंने कहा कि इस लड़ाई को अंजाम तक पहुंचाया जायेगा और इस जंग में हमारी जीत तय है।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इस मौके पर कहा कि नक्सलियों के विरूद्ध सुरक्षा बलों के आपरेशन जारी रहेंगे तथा इस अभियान को अंजाम तक पहुंचाएंगे। नक्सलियों के प्रभाव क्षेत्र में कैम्पों की स्थापना का कार्य तेजी से किया जाएगा।क्षेत्र में विकास के कार्यों में भी तेजी लाई जाएगी। उऩ्होंने कहा कि हमारे जवानों ने बहुत साहस से नक्सलियों का सामना किया है, जिससे नक्सलियों की भारी क्षति हुई है। उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र में नये कैम्प स्थापित किए जा रहे हैं, जिससे नक्सलियों की बौखलाहट दिख रही है। नक्सली सीमित दायरे में सिमट गए हैं।

उऩ्होंने कहा कि ऐसा पहली बार हुआ है कि हम नक्सलियों की मांद में घुस चुके हैं। उन्होंने कहा कि केन्द्र और राज्य सरकार क्षेत्र में विकास के कार्यों में तेजी लाते हुए मिलकर कार्य कर रहे हैं। सड़कों के निर्माण के साथ कनेक्टीविटी देने व योजनाओं का लाभ अंदरूनी क्षेत्रों में पहुंचाने का प्रयास किया जा रहा है।उन्होंने कहा कि बैठक में इस संबंध में सार्थक बातचीत हुई है और उन्हें उम्मीद है कि केन्द्र सरकार हमारी मांगों पर उचित कार्रवाई करेगी।

पढ़ें :- असम में अभी तक मुख्यमंत्री पद का फैसला नहीं कर पाई भाजपा

इससे पूर्व हुई उच्च स्तरीय बैठक में गृह मंत्रालय के वरिष्ठ सुरक्षा सलाहकार के.विजय कुमार, केन्द्रीय गृह सचिव ए.के. भल्ला,छत्तीसगढ़ के पुलिस महानिदेशक डी.एम.अवस्थी, सीआरपीएफ के डायरेक्टर जनरल कुलदीप सिंह, डायरेक्टर आईबी अरविंद कुमार, छत्तीसगढ़ के विशेष पुलिस महानिदेशक नक्सल ऑपरेशन अशोक जुनेजा, उपस्थित थे।

पहली बार इस बैठक में प्रभावित क्षेत्रों के जनप्रतिनिधि भी शामिल थे।बैठक में पहली बार सत्ता एवं प्रतिपक्ष के जनप्रतिनिधियों ने नक्सलवाद के खात्मे पर पूरी एकजुटता दिखाई और उन्होने इसके खात्मे की चुनौतियों एवं उससे निपटने के सुझाव भी दिए।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
X