हमारे समर्थक सिखाएंगे नीतीश को सबक: मोहम्मद शहाबुद्दीन

Will Teach Nitish Kumar Lesson Says Lalus Man Shahabuddin Sent Back To Jail

सीवान: सर्वोच्च न्यायालय द्वारा शुक्रवार को जमानत रद्द किए जाने के बाद राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के पूर्व सांसद मोहम्मद शहाबुद्दीन ने बिहार के सीवान की एक अदालत में आत्मसमर्पण कर दिया। इस दौरान उन्होंने कहा कि आने वाले चुनाव में हमारे समर्थक नीतीश को सबक सिखाएंगे। पुलिस ने कहा कि शहाबुद्दीन ने सर्वोच्च न्यायालय के आदेश के बाद सीवान के व्यवहार न्यायालय में आत्मसमर्पण कर दिया। अदालत के आदेश के बाद उन्हें सीवान जेल भेज दिया गया।




शहाबुद्दीन ने अदालत परिसर में पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि उनको न्याय प्रणाली पर पूरा विश्वास है। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के खिलाफ बोलने का खामियाजा भुगतने जैसे सवाल पर सांसद ने कहा, “जो सच है, उसे बोलने को लेकर मैं परवाह नहीं करता। मैं आज भी अपने बयान पर कायम हूं। अगले चुनाव में हमारे समर्थक उन्हें सबक सिखा देंगे।”

उल्लेखनीय है कि जमानत पर जेल से रिहा होने के बाद शहाबुद्दीन ने कहा था कि राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद उनके नेता हैं जबकि नीतीश कुमार परिस्थितिजन्य मुख्यमंत्री हैं। सर्वोच्च न्यायालय के फैसले पर कोई टिप्पणी करने से इंकार करते हुए उन्होंने कहा, “अदालत के आदेश का सम्मान करते हुए जैसे ही मुझे फैसले की जानकारी हुई, मैंने आत्मसमर्पण कर दिया।”





सर्वोच्च न्यायालय ने शुक्रवार को राजद के बाहुबली नेता मोहम्मद शहाबुद्दीन को राजीव रोशन की हत्या के मामले में पटना उच्च न्यायालय से मिली जमानत रद्द करते हुए वापस जेल भेजने का आदेश दिया। राजीव के पिता चंद्रकेश्वर प्रसाद के साथ बिहार सरकार ने शहाबुद्दीन को पटना उच्च न्यायालय से मिली जमानत को सर्वोच्च न्यायालय में चुनौती दी थी। शहाबुद्दीन को सात सितम्बर को पटना उच्च न्यायालय से जमानत मिली थी, जिसके बाद 10 सितम्बर को भागलपुर जेल से इस बाहुबली नेता को रिहा कर दिया गया था।

सीवान: सर्वोच्च न्यायालय द्वारा शुक्रवार को जमानत रद्द किए जाने के बाद राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के पूर्व सांसद मोहम्मद शहाबुद्दीन ने बिहार के सीवान की एक अदालत में आत्मसमर्पण कर दिया। इस दौरान उन्होंने कहा कि आने वाले चुनाव में हमारे समर्थक नीतीश को सबक सिखाएंगे। पुलिस ने कहा कि शहाबुद्दीन ने सर्वोच्च न्यायालय के आदेश के बाद सीवान के व्यवहार न्यायालय में आत्मसमर्पण कर दिया। अदालत के आदेश के बाद उन्हें सीवान जेल भेज दिया गया। शहाबुद्दीन ने…