1. हिन्दी समाचार
  2. जीवन मंत्रा
  3. सर्दी के रोग: मौसमी बीमारियों को अलविदा कहने के उपाय और घरेलू उपाय

सर्दी के रोग: मौसमी बीमारियों को अलविदा कहने के उपाय और घरेलू उपाय

इस मौसम में होने वाली कुछ सामान्य बीमारियां हैं कॉमन कोल्ड, पेट फ्लू, रूखी त्वचा, अस्थमा और बहुत कुछ। उनसे निपटने का तरीका जानने के लिए नीचे स्क्रॉल करें।

By प्रीति कुमारी 
Updated Date

सर्दी के मौसम में सामान्य सर्दी काफी आम है लेकिन यह अपने साथ कई अन्य संक्रमणों का खतरा भी लेकर आती है। और बढ़ते वायु प्रदूषण के स्तर के बीच जहां हर तरफ हानिकारक विषाक्त पदार्थ हवा में बिखरे हुए हैं, इस संवेदनशील समय के दौरान अपना ख्याल रखना और भी महत्वपूर्ण हो जाता है।

पढ़ें :- काम के बोझ से तनाव महसूस कर रहे हैं? अपनी मुद्रा में सुधार करने के लिए इन 15 मिनट की योग दिनचर्या को आजमाएं

यह कोई खबर नहीं है कि सर्दी और मानसून के मौसम विभिन्न संक्रमण और स्वास्थ्य समस्याएं लाते हैं क्योंकि ये दो मौसम ठंडे और हवा वाले होते हैं। इस मौसम में होने वाली कुछ सामान्य बीमारियां हैं: सामान्य सर्दी, पेट फ्लू, शुष्क त्वचा, अस्थमा और बहुत कुछ।

इसलिए यहां हम कुछ बुनियादी वेलनेस टिप्स लेकर आए हैं जो सर्दियों में स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं से निपटने में आपकी मदद कर सकते हैं।

व्यक्तिगत स्वच्छता को ध्यान में रखें

पेट फ्लू, सामान्य सर्दी और फ्लू जैसे संक्रामक रोगों से खुद को बचाने के लिए अच्छी व्यक्तिगत स्वच्छता का अभ्यास करना सबसे महत्वपूर्ण तरीकों में से एक है। यह अपने आप से दूसरे व्यक्ति में संक्रमण को फैलने से रोकने में भी मदद करता है।

पढ़ें :- yoga: जांघों और कूल्हों के फैट को घटाने के लिए आजमाएं ये 4 आसान योग आसन

योग का अभ्यास करें

जल नेति जैसी योग क्रियाओं का अभ्यास करने से ऊपरी श्वसन पथ से अतिरिक्त श्लेष्मा को हटाने में मदद मिलेगी और बिना किसी रुकावट के उचित वायु प्रवाह में मदद मिलेगी। इस प्रकार यह दमा की स्थिति में भी मदद करता है और भीड़, एलर्जी और सर्दी को कम करता है। इसका अभ्यास किसी योग्य योग प्रशिक्षक के मार्गदर्शन में ही करना चाहिए। सिर दर्द से बचने के लिए अभ्यास के बाद नाक के छिद्र को ठीक से फूंकने का ध्यान रखना चाहिए।

इन उपायों का करें इस्तेमाल

तुलसी: तुलसी में अच्छे एंटीसेप्टिक और एंटीवायरल गुण होते हैं और इसे सामान्य सर्दी और फ्लू जैसे वायरल संक्रमणों के लिए अनुशंसित किया जाता है। यह कफ को तरल करने में भी मदद करता है और खांसी और अस्थमा के लिए प्रभावी है। इसे सूप और सॉस में टॉपिंग के रूप में जोड़ा जा सकता है। इस बीच, हल्दी एक अन्य घटक है जिसमें एक महान एंटीवायरल गुण होता है और इन्फ्लूएंजा वायरस के खिलाफ प्रभावी ढंग से कार्य करता है। यह एंटीऑक्सिडेंट में भी समृद्ध है और इसमें एक विरोधी भड़काऊ संपत्ति है।

स्वस्थ खाएं

पढ़ें :- गर्दन के दर्द के लिए 3 अति-प्रभावी योग आसन

उस मौसम में विटामिन सी से भरपूर खाद्य पदार्थ आवश्यक होते हैं क्योंकि यह प्रतिरक्षा का निर्माण करता है। इस पोषक तत्व के साथ फल और सब्जियां नारंगी, स्ट्रॉबेरी, ब्रोकोली, ब्रसेल्स स्प्राउट्स, काली मिर्च हैं। इसके अलावा दही जैसे प्रोबायोटिक्स भी आपकी इम्युनिटी को मजबूत रखने में मददगार साबित हो सकते हैं।

अपना वर्कआउट न छोड़ें

रोजाना कसरत करना सुनिश्चित करें क्योंकि यह आपकी चयापचय दर को उच्च रखता है। चाहे पैदल चलना हो, योग करना हो, कूदना हो या साइकिल चलाना हो, रोजाना अभ्यास करने के लिए कोई भी शारीरिक व्यायाम करें। इससे आपके शरीर में रक्त प्रवाह की गुणवत्ता भी बनी रहेगी।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...