1. हिन्दी समाचार
  2. अन्य खबरें
  3. Winter Tips : इन दालों में है होती है सबसे ज्यादा प्रोटीन की मात्रा, स्वाद के दीवाने हर दिन आजमा सकते हैं नई दाल

Winter Tips : इन दालों में है होती है सबसे ज्यादा प्रोटीन की मात्रा, स्वाद के दीवाने हर दिन आजमा सकते हैं नई दाल

सर्दियों के मौसम में थाली में दाल के होन से भोजन का स्वाद दोगुना कर देती है। इस मौसम दाल में हरे पत्ते डाल कर  उसका सेवन किया जाता है।

By अनूप कुमार 
Updated Date

Winter Tips : सर्दियों के मौसम में थाली में दाल के होन से भोजन का स्वाद दोगुना कर देती है। इस मौसम दाल में हरे पत्ते डाल कर  उसका सेवन किया जाता है। बथुआ,पालक,सोया मेथी की हरी पत्तियां दाल में डाल कर पकायी जाती है। दाल में इन हरे पत्ते के मिक्स होने के कारण दाल का स्वाद दोगुना हो जाता है।दाल प्रोटीन बहुत बड़ा स्रोत है।

पढ़ें :- होटल जैसे घर पर बनाईये दाल मखनी

भारत में दाल का सेवन मुख्य तौर से किया जाता है। इसे चावल, रोटी या सांबर रेसिपी के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं। दाल की कई किस्में उपलब्ध हैं।स्वाद के दीवाने हर दिन एक नई दाल आजमा सकते हैं। दाल प्रोटीन, विटामिन और मिनरल(Lentils Protein, Vitamins and Minerals) से भरपूर होती है। उन लोगों के लिए दाल खाना विशेष रूप से फायदेमंद है जो अपना वजन कम करने की कोशिश कर रहे हैं।

काली दाल (black pulses)
आमतौर पर इस दाल का इस्तेमाल मां की दाल या दाल मखनी तैयार करने के लिए किया जाता है. उड़द दाल प्रोटीन और विटामिन बी के सबसे समृद्ध स्रोतों में से एक है. फैट और कैलोरी में कम, उड़द की दाल आयरन, फोलिक एसिड, कैल्शियम, मैग्नीशियम और पोटेशियम में भी समृद्ध है. नियमित रूप से उड़द की दाल खाने से पाचन में सुधार, हृदय स्वास्थ्य की रक्षा, ऊर्जा के स्तर को बढ़ावा देने, हड्डियों के स्वास्थ्य में सुधार और तंत्रिका तंत्र को मजबूत करने में मदद मिल सकती है. लगभग आधा कप उड़द की दाल में 12 ग्राम प्रोटीन होता है.

चना दाल (Chickpea lentil)
प्रोटीन और फाइबर से भरपूर चना दाल कई तरह से आपके स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में मदद कर सकती है। एक कप चना दाल आपको पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन, आयरन, कैल्शियम और पोटैशियम प्रदान कर सकती है। चना दाल हृदय और डायबिटीज के अनुकूल दाल है। ये आपके ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने में भी फायदेमंद है।आधा कप चना दाल आपको 9 ग्राम तक प्रोटीन देने में मदद करती है।

मसूर दाल (Red Lentil)
मसूर दाल कई उत्तर भारतीय राज्यों में मुख्य तौर से खाई जाती है। मसूर दाल आयरन, प्रोटीन, फाइबर, विटामिन सी, बी 6, बी 2, फोलिक एसिड, कैल्शियम, जिंक और मैग्नीशियम से भरपूर होती है। आधा कप मसूर दाल आपको लगभग 9 ग्राम प्रोटीन प्रदान करती है।

पढ़ें :- बारिश के मौसम में बनाइए चने की सत्तू की लिट्टी बच्चों से लेकर बड़े तक को आएगा पसंद

तूर दाल (Toor lentil)
तूर दाल एक अन्य मुख्य दाल है जिसका इस्तेमाल खिचड़ी बनाने के लिए किया जाता है। दाल की ये किस्म प्रोटीन और स्वस्थ कार्ब्स का एक बड़ा स्रोत है। ये फाइबर, फोलिक एसिड, आयरन और कैल्शियम से भरपूर होती है। तूर दाल डायबिटीज और हृदय रोगियों के लिए अच्छी होती है। 100 ग्राम तूर दाल में 22 ग्राम प्रोटीन होता है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...