देशहित में बसपा केंद्र के साथ, राजनीतिक लड़ाई का चीन उठा सकता है फायदा : मायावती

mayawati
यूपी में सरकार बनी तो सभी ​जातियों के महान संतों के नाम अस्पताल का करेंगे निर्माण : ​मायावती

लखनऊ। भारत-चीन विवाद को लेकर बॉर्डर पर तनाव जारी है। वहीं, कांग्रेस और भाजपा इसको लेकर आपस में वार-पलटवार कर रहीं हैं। बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने कहा कि चीन का मसला गंभीर है लेकिन बीजेपी-कांग्रेस राजनीति में लगी हुई है, ये बिल्कुल ठीक नहीं है।

With Bsp Center In Country Interest China Can Benefit From Political Battle Mayawati :

मायावी ने कहा कि इस राजनीतिक लड़ाई का चीन भी फायदा उठा सकता है और इसका देश की जनता को नुकसान हो रहा है। मायावती ने कहा कि देशहित के मसले पर बसपा केंद्र के साथ है, चाहे केंद्र में किसी की भी सरकार हो। इनकी आपसी लड़ाई का सबसे ज्यादा नुकसान देश की जनता को हो रहा है। इस लड़ाई में देशहित के मुद्दे दब रहे हैं।

उन्होंने कहा कि यह एक गंभीर विषय है। इस पर बसपा, केंद्र की भाजपा सरकार के साथ है। बता दें कि चीन के मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि जिन लोगों ने भारत की धरती की तरफ आंख उठाकर देखा है उन्हें करारा जवाब दिया जा रहा है।

मायावती ने डीजल-पेट्रोल के बढ़ते दामों पर कहा कि एक तरफ तो देश की जनता कोविड-19 के कारण मुश्किल में है। दूसरी तरफ डीजल-पेट्रोल के बढ़ते दामों ने उनकी मुश्किलें और बढ़ा दी हैं। इसलिए जरूरी है कि सरकार इनके बढ़ते दामों पर नियंत्रण लगाए।

 

लखनऊ। भारत-चीन विवाद को लेकर बॉर्डर पर तनाव जारी है। वहीं, कांग्रेस और भाजपा इसको लेकर आपस में वार-पलटवार कर रहीं हैं। बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने कहा कि चीन का मसला गंभीर है लेकिन बीजेपी-कांग्रेस राजनीति में लगी हुई है, ये बिल्कुल ठीक नहीं है। मायावी ने कहा कि इस राजनीतिक लड़ाई का चीन भी फायदा उठा सकता है और इसका देश की जनता को नुकसान हो रहा है। मायावती ने कहा कि देशहित के मसले पर बसपा केंद्र के साथ है, चाहे केंद्र में किसी की भी सरकार हो। इनकी आपसी लड़ाई का सबसे ज्यादा नुकसान देश की जनता को हो रहा है। इस लड़ाई में देशहित के मुद्दे दब रहे हैं। उन्होंने कहा कि यह एक गंभीर विषय है। इस पर बसपा, केंद्र की भाजपा सरकार के साथ है। बता दें कि चीन के मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि जिन लोगों ने भारत की धरती की तरफ आंख उठाकर देखा है उन्हें करारा जवाब दिया जा रहा है। मायावती ने डीजल-पेट्रोल के बढ़ते दामों पर कहा कि एक तरफ तो देश की जनता कोविड-19 के कारण मुश्किल में है। दूसरी तरफ डीजल-पेट्रोल के बढ़ते दामों ने उनकी मुश्किलें और बढ़ा दी हैं। इसलिए जरूरी है कि सरकार इनके बढ़ते दामों पर नियंत्रण लगाए।