1. हिन्दी समाचार
  2. तकनीक
  3. स्मार्टफोन चोरी होने पर कर सकते है सरकारी पोर्टल की मदद से उसे ब्लॉक

स्मार्टफोन चोरी होने पर कर सकते है सरकारी पोर्टल की मदद से उसे ब्लॉक

किसी भी व्यक्ति का स्मार्टफोन चोरी होने पर उसे पैसों का नुकसान तो होता ही है लेकिन सबसे अहम किसी व्यक्ति निजी डाटा दूसरे हाथों में चला जाता है जो कि प्राइवेसी और सिक्योरिटी के लिए बहुत खतरनाक है।

By प्रीति कुमारी 
Updated Date

With The Help Of The Government Portal You Can Block Your Smartphone If It Is Stolen

आज के इस दौर में हर किसी के पाश स्मार्टफोन की जरूरत है। आज के समय में स्मार्टफोन हर कीमत में उपलब्ध हैं। स्मार्टफोन की डिमांड बढ्ने के साथ-साथ इनके चोरी होने की दर भी बढ़ती जा रही है। इसलिए इस तरह की दिक्कतों से बचने के लिए फोन चोरी होते ही उसे ब्लॉक कर देना चाहिए जिसका तरीका हम आपको आगे बता रहे हैं।

पढ़ें :- OLED पैनल के साथ हो सकता है Xiaomi का नया Mi TV लांच

कैसे करे चोरी होने पर फ़ोन को ब्लॉक

सेंट्रल ईक्विपमेंट आइडेंटिटी रजिस्टर की वैबसाइट ceir.gov.in पर जाना होगा। CEIR के पास देश के हर मोबाइल फोन का डाटा जैसे फोन का मॉडल, सिम, IMEI नंबर मौजूद होता है जिसकी मदद से चोरी हुए फोन को ढूंढा जा सकता है। इसके साथ ही यहां से मोबाइल को ब्लॉक या अनब्लॉक भी किया जा सकता है। इसके साथ ही अपने मोबाइल फोन चोरी होने पर सबसे पहले आपको पुलिस स्टेशन में एक FIR दर्ज करानी होगी। मोबाइल चोरी की रिपोर्ट को ऑफलाइन के साथ ही ऑनलाइन मोड से भी दर्ज कराया जा सकता है। FIR होने के बाद इसकी कॉपी और कम्प्लेंट नंबर अपने पास रखें।

eir.gov.in पर क्लिक करने पर आपको तीन ऑप्शन Block/Lost Mobile, Check Request Status और Un-Block Found Mobile मिलेंगे। आपको चोरी हुए फोन को ब्लॉक करने के लिए Stolen/Lost Mobile ऑप्शन पर क्लिक करना होगा। इसके बाद नया पेज खुलेगा जिसमें आपको अपने मोबाइल फोन की सभी जानकारी भरनी होगी।

मोबाइल की जानकारी में मोबाइल नंबर, IMEI नंबर, डिवाइस का ब्रांड, कंपनी, फोन खरीदने की इनवॉइस, फोन खोने की तारीख आदि शामिल हैं। इसके अलावा, राज्य, ज़िला, फोन चोरी होने की जगह, कम्प्लेंट नंबर भी दर्ज करना होगा। साथ ही FIR कॉपी को भी अपलोड करना होगा।

पढ़ें :- YouTube की वीडियो चल रही है स्लो और इंटरनेट स्पीड भी ठीक है तो, करें ये काम

इसके बाद एड मोर कम्प्लेंट पर क्लिक करना होगा जिसमें मोबाइल के मालिक का नाम, पता, आधार कार्ड के आठ पैन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेन्स और आइडेंटिटी की जानकारी देनी होगी। इसके बाद अपना मोबाइल नंबर डालना होगा।

 

वेरिफिकेशन के लिए आपके नंबर पर एक OTP आएगा जिसके बाद वेरिफिकेशन हो जाएगी। इस तरह फ़ाइनल सबमिट कर के मोबाइल फोन ब्लॉक हो जाएगा। साथ ही अगर फोन के बारे में कोई डीटेल मिलती है तो उसे भी यूजर्स के पास पहुंचाया जाएगा।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
X