इन सुविधाओं के साथ सभी इलेक्ट्रिक कारों की नंबर प्लेट का रंग होगा हरा

electric-vehicle-charging
इन सुविधाओं के साथ सभी इलेक्ट्रिक कारों की नंबर प्लेट का रंग होगा हरा

नई दिल्ली। देश की राजधानी में केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्रालय ने इलेक्ट्रिक वाहनों की अलग पहचान बनाने के लिए देश के सभी राज्यों को निर्देश दिए हैं। इसमें सरकार ने कहा है कि राज्यों में इलेक्ट्रिक वाहनों के तौर पर रजिस्टर होने वाले वाहनों की रजिस्ट्रेशन प्लेट हरे ब्लैकग्राउंड वाली होनी चाहिए, जिसमें नंबर व्हाइट कलर में लिखे जाएंगे।

With These Features The Number Plate Of All The Electric Cars Will Be Green :

दरअसल, सरकार ने राज्यों को पत्र लिखा जिसमें प्राइवेट कमर्शियल वाहनों की रजिस्ट्रेशन प्लेट का बैकग्राउंड हरे कलर का रखने को कहा गया है, जबकि नंबर पीले कलर में दर्ज कराने के निर्देश दिए गए हैं। नीति आयोग ने केंद्र सरकार के लिए इसी तरह का प्रस्ताव तैयार किया है और इसमें केंद्र के 7 मंत्रालय, रोड, हैवी इंडस्ट्री की मदद ली गई है। बता दें, सरकार कमर्शियल वाहनों में चलने वाले इलेक्ट्रिक वाहनों की खरीदारी को पार्किंग और टोल में डिस्काउंट देना चाहती है। इसी डिस्काउंट को देने के लिए सरकार इलेक्ट्रिक वाहनों की अलग से पहचान करना चाहती है, जिससे पार्किंग और टोल में आसानी से फायदा दिया जा सकेगा।

जानकारी के लिए आपको बता दें कि भारतीय सड़कों पर मौजूद वाहनों के पास फिलहाल चार तरह की नंबर प्लेट है। इसमें निजी वाहनों के लिए व्हाइट बैकग्राउंड के साथ ब्लैक नंबर और लेटर, कमर्शियल वाहनों के लिए पीले बैकग्राउंड के साथ ब्लैक लेटर, सेल्फ ड्राइवेन रेंटल व्हीकल के लिए ब्लैक बैकग्राउंड के साथ व्हाइट लेटर, हाई कमीशन के वाहनों के लिए ब्लू बैकग्राउंड के साथ व्हाइट लेटर दर्ज करा सकते हैं।

इतना ही नहीं रक्षा मंत्रालय की तरफ से मिलिट्री वाहनों के रजिस्ट्रेशन के लिए अलग तरह के नंबर जारी किए जाते हैं। इसके साथ ही राष्ट्रपति और गवर्नर के वाहनों के लिए रेड बैकग्राउंड रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट के साथ राष्ट्रीय प्रतीक का चिह्न भी लगाया जाता है।

नई दिल्ली। देश की राजधानी में केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्रालय ने इलेक्ट्रिक वाहनों की अलग पहचान बनाने के लिए देश के सभी राज्यों को निर्देश दिए हैं। इसमें सरकार ने कहा है कि राज्यों में इलेक्ट्रिक वाहनों के तौर पर रजिस्टर होने वाले वाहनों की रजिस्ट्रेशन प्लेट हरे ब्लैकग्राउंड वाली होनी चाहिए, जिसमें नंबर व्हाइट कलर में लिखे जाएंगे। दरअसल, सरकार ने राज्यों को पत्र लिखा जिसमें प्राइवेट कमर्शियल वाहनों की रजिस्ट्रेशन प्लेट का बैकग्राउंड हरे कलर का रखने को कहा गया है, जबकि नंबर पीले कलर में दर्ज कराने के निर्देश दिए गए हैं। नीति आयोग ने केंद्र सरकार के लिए इसी तरह का प्रस्ताव तैयार किया है और इसमें केंद्र के 7 मंत्रालय, रोड, हैवी इंडस्ट्री की मदद ली गई है। बता दें, सरकार कमर्शियल वाहनों में चलने वाले इलेक्ट्रिक वाहनों की खरीदारी को पार्किंग और टोल में डिस्काउंट देना चाहती है। इसी डिस्काउंट को देने के लिए सरकार इलेक्ट्रिक वाहनों की अलग से पहचान करना चाहती है, जिससे पार्किंग और टोल में आसानी से फायदा दिया जा सकेगा। जानकारी के लिए आपको बता दें कि भारतीय सड़कों पर मौजूद वाहनों के पास फिलहाल चार तरह की नंबर प्लेट है। इसमें निजी वाहनों के लिए व्हाइट बैकग्राउंड के साथ ब्लैक नंबर और लेटर, कमर्शियल वाहनों के लिए पीले बैकग्राउंड के साथ ब्लैक लेटर, सेल्फ ड्राइवेन रेंटल व्हीकल के लिए ब्लैक बैकग्राउंड के साथ व्हाइट लेटर, हाई कमीशन के वाहनों के लिए ब्लू बैकग्राउंड के साथ व्हाइट लेटर दर्ज करा सकते हैं। इतना ही नहीं रक्षा मंत्रालय की तरफ से मिलिट्री वाहनों के रजिस्ट्रेशन के लिए अलग तरह के नंबर जारी किए जाते हैं। इसके साथ ही राष्ट्रपति और गवर्नर के वाहनों के लिए रेड बैकग्राउंड रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट के साथ राष्ट्रीय प्रतीक का चिह्न भी लगाया जाता है।