अमरोहा में विवाहिता से गैंगरेप, सहारनपुर में महिला ने पुलिसकर्मियों पर लगाया सामूहिक दुष्कर्म का आरोप

अमरोहा। उत्तर प्रदेश में महिलाओं के साथ छेड़छाड़ और बलात्कार के मामले दिन प्रतिदिन बढ़ते ही जा रहे हैं| रोजाना इस तरह की खबरे आने से ऐसा प्रतीत हो रहा है कि प्रदेश में अपराधी बेख़ौफ़ हो गए हैं| ताजा मामला प्रदेश के अमरोहा जिले से है| यहां के डिडौली कोतवाली क्षेत्र के एक गांव में विवाहिता को घर में अकेला देख गैर संप्रदाय के युवकों ने सामूहिक दुष्कर्म किया। विरोध करने पर पीड़िता के हाथ पैर तोड़ दिया। घटना से गांव में तनाव की स्थिति उत्पन्न हो गई।

प्राप्त जानकारी के अनुसार, यह मामला डिडौली कोतवाली क्षेत्र के एक गांव का है। यहां का एक व्यक्ति दिल्ली में रहकर बढ़ई का काम करता है। घर पर उसकी पत्नी परिवार के अन्य सदस्यों के साथ अकेली रहती है। रविवार शाम करीब पांच बजे डिडौली के एक गांव के दो लोग यहां आए थे। वह घर में घुसे और महिला को अकेला देखकर बुरी नीयत से दबोच लिया और जबरन बारी-बारी से दुष्कर्म किया। विरोध करने पर दोनों ने विवाहिता को बुरी तरह से पीटा, जिससे उसका एक हाथ और एक पैर टूट गया। फिलहाल पीड़िता को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया और आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। गांव में एहतियात के तौर पर पुलिस तैनात कर दी गई है।

उधर प्रदेश के सहारनपुर जिले में एक महिला ने कोतवाल सहित तीन पुलिसकर्मियों पर उससे सामूहिक बलात्कार करने का आरोप लगाया है। इस पूरे प्रकरण की जांच पुलिस क्षेत्राधिकारी देवबंद को सौंपी गई है| सहारनपुर के अपर पुलिस अधीक्षक (देहात) जगदीश शर्मा ने बताया कि सहारनपुर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आरपीएस यादव को दिए पत्र में पीड़ित ने कहा है कि उसके पति को देवबंद पुलिस ने 1 अगस्त, 2015 को झूठे मुकदमे में फसांकर जेल भेज दिया था।

उसने जब थाने जाकर अपने पति को गलत फंसाने की बात कही और सहायता मांगी तो वहां मौजूद सिपाही ने इंस्पेक्टर से बात कर मदद करने का आश्वासन दिया। पीड़ित ने अपने शिकायती पत्र में कहा कि 6 अगस्त को एक सिपाही उसके घर आया और थाना प्रभारी से मिलने की बात कही। महिला का आरोप है कि जब वह कोतवाल से मिलने के लिए उसके कमरे में गई और उससे अपने पति के बारे में मदद मांगी तो कोतवाल ने उससे अवैध संबंध बनाने का दबाव बनाया और जब उसने इसका विरोध किया तो उसने रिवाल्वर की नोक पर उसके साथ दुष्कर्म किया। महिला ने यह आरोप भी लगाया कि एक अन्य दारोगा सहित दो पुलिसकर्मियों ने भी उससे दुष्कर्म किया है। उन लोगों ने यह धमकी भी दी कि यदि उसने इस घटना की जानकारी किसी अन्य को दी तो उसके पति पर अन्य आपराधिक मामले लगा दिए जाएंगे।

इसके अलावा कासगंज में किशोरी से दरिंदगी के बाद उसकी हत्या कर दी गई| यहां के पटियाली कसबे में घर से खेत के लिए गई एक किशोरी (14) के साथ दो युवकों ने दरिंदगी की और बाद में उसकी दुपट्टे से गला घोटकर उसकी हत्या कर दी। किशोरी का अर्धनग्न शव झाड़ियों में पड़ा मिला। शव पर मिले दांतों के काटने और नोंचने के निशान उसके साथ हुई हैवानियत की कहानी बता रहे थे। परिवारीजनों ने बस्ती के ही दो युवकों प्रमोद और ओमकार पर दुष्कर्म के बाद हत्या करने का आरोप लगाया है और इस संबंध में थाने पर तहरीर दी है। रविवार सुबह 7:30 बजे किशोरी अपने घर से गई थी।