बैंक में नोट जमा करवाने आई महिला से टप्पेबाजों ने उड़ाए ढ़ाई लाख

हरदोई। नोटबंदी के बाद से हर किसी को अपने घर में रखे 500 और 1000 के पुराने नोट बैंक में जमा करवाने की जल्दी है। जिसका असर पिछले 10 दिनों से हर बैंक के बाहर लंबी कतारों के रूप में देखने को मिल रहा है। हर बैंक की तरह ही यूपी के हरदोई जिले के लोनार कस्बे की बैंक आॅफ इंडिया शाखा के बाहर भी नोट जमा करवाने वालों की लाइन लगी थी। इसी लाइन में लगी एक महिला को बैंक के अंदर नगदी काउंटर पर पहुंचने के बाद पता चला कि उसकी रकम पर किसी ने हाथ साफ कर दिया है। जिसके बाद बैंक में अफरा तफरी का माहौल बन गया।




मिली जानकारी के मुताबिक लोनार कस्बे की बैंक आॅइ इंडिया की शाखा पुलिस चौकी के निकट ही स्थित है इसके बावजूद टप्पेबाजों ने बैंक के ग्राहक को अपना शिकार बना रहे हैं। बीते शुक्रवार को पास के गांव के प्रधान अपने ढ़ाई लाख रूपए लेकर बैंक पहुंचे थे। बाजार में कुछ जरूरी काम होने की वजह से प्रधान ने अपनी पत्नी को बैंक के बाहर लाइन में लगा दिया। जब वह बैंक के भीतर कैश काउंटर पर पहुंची और अपने पर्स से रकम निकालने के लिए हाथ बढ़ाया तो उनका पर्स खाली था।




प्रधान की पत्नी ने जैसे ही इस बात की जानकारी बैंक स्टाफ को दी पूरी बैंक में अफरा तफरी का मच गई। बैंक ने घटना की जानकारी पुलिस को देकर सीसीटीवी कैमरों की फुटेज के आधार पर टप्पेबाजों की पहचान करने की कोशिश की और ग्राहकों को सर्तक रहने की नसीहत दी।

Woman Become Victim Of Theft In Bank Queue :

नोटबंदी के बाद बैंकों पर उमड़ी भीड़ ने टप्पेबाजों और जेबकतरों की पौ बारह हो चली है। शहरों में पुलिस प्रशासन व सीसीटीवी कैमरों की निगरानी के चलते लोग सुरक्षित महसूस कर रहे हैं लेकिन कस्बों में पुलिस कर्मियों की कमी के सीसीटीवी कैमरों के सीमित दायरे का लाभ उठा रहे जेबकतरे और टप्पेबाज बैंक के ग्राहकों को अपना शिकार बना रहे हैं।




इस घटना के बाद हरदोई पुलिस कहना है कि पुलिस बैंकों के बाहर कतार में लगे लोगों की सुरक्षा के लिए पूरी तरह से तत्पर है। पुलिस ने बैंक की सीसीटीवी फुटेज के आधार पर टप्पेबाजों की शिनाख्त करने की कोशिश की है, उम्मीद है कि जल्द ही अपराधी पुलिस की पकड़ में होेंगे।

हरदोई। नोटबंदी के बाद से हर किसी को अपने घर में रखे 500 और 1000 के पुराने नोट बैंक में जमा करवाने की जल्दी है। जिसका असर पिछले 10 दिनों से हर बैंक के बाहर लंबी कतारों के रूप में देखने को मिल रहा है। हर बैंक की तरह ही यूपी के हरदोई जिले के लोनार कस्बे की बैंक आॅफ इंडिया शाखा के बाहर भी नोट जमा करवाने वालों की लाइन लगी थी। इसी लाइन में लगी एक महिला को बैंक के अंदर नगदी काउंटर पर पहुंचने के बाद पता चला कि उसकी रकम पर किसी ने हाथ साफ कर दिया है। जिसके बाद बैंक में अफरा तफरी का माहौल बन गया। मिली जानकारी के मुताबिक लोनार कस्बे की बैंक आॅइ इंडिया की शाखा पुलिस चौकी के निकट ही स्थित है इसके बावजूद टप्पेबाजों ने बैंक के ग्राहक को अपना शिकार बना रहे हैं। बीते शुक्रवार को पास के गांव के प्रधान अपने ढ़ाई लाख रूपए लेकर बैंक पहुंचे थे। बाजार में कुछ जरूरी काम होने की वजह से प्रधान ने अपनी पत्नी को बैंक के बाहर लाइन में लगा दिया। जब वह बैंक के भीतर कैश काउंटर पर पहुंची और अपने पर्स से रकम निकालने के लिए हाथ बढ़ाया तो उनका पर्स खाली था। प्रधान की पत्नी ने जैसे ही इस बात की जानकारी बैंक स्टाफ को दी पूरी बैंक में अफरा तफरी का मच गई। बैंक ने घटना की जानकारी पुलिस को देकर सीसीटीवी कैमरों की फुटेज के आधार पर टप्पेबाजों की पहचान करने की कोशिश की और ग्राहकों को सर्तक रहने की नसीहत दी।नोटबंदी के बाद बैंकों पर उमड़ी भीड़ ने टप्पेबाजों और जेबकतरों की पौ बारह हो चली है। शहरों में पुलिस प्रशासन व सीसीटीवी कैमरों की निगरानी के चलते लोग सुरक्षित महसूस कर रहे हैं लेकिन कस्बों में पुलिस कर्मियों की कमी के सीसीटीवी कैमरों के सीमित दायरे का लाभ उठा रहे जेबकतरे और टप्पेबाज बैंक के ग्राहकों को अपना शिकार बना रहे हैं। इस घटना के बाद हरदोई पुलिस कहना है कि पुलिस बैंकों के बाहर कतार में लगे लोगों की सुरक्षा के लिए पूरी तरह से तत्पर है। पुलिस ने बैंक की सीसीटीवी फुटेज के आधार पर टप्पेबाजों की शिनाख्त करने की कोशिश की है, उम्मीद है कि जल्द ही अपराधी पुलिस की पकड़ में होेंगे।