महिला ने कंट्रोल रूम फोन कर दी सूचना ‘मैं मरने जा रही हूं’, जानें पूरा मामला

sucide attempt
महिला ने कंट्रोल रूम फोन कर दी सूचना 'मैं मरने जा रही हूं', जानें पूरा मामला

लखनऊ। राजधानी के गोमतीनगर स्थित वरदान खंड निवासी सेल्स टैक्स के सेवानिवृत्त अधिकारी की पत्नी ने बुधवार शाम पुलिस कंट्रोल रूम को सूचना दी कि ‘मैं मरने जा रही हूं, मेरी डेड बॉडी उठवा ले जाओ’। कंट्रोल रूम से सूचना मिलते ही पीआरवी वरदान खंड स्थित उनके आवास पहुंची। दरवाजा तोड़कर रिटायर अधिकारी की पत्नी को बाहर निकाला और लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया, जहां उनका इलाज चल रहा है। एसएसआई गोमतीनगर अमरनाथ यादव के मुताबिक, वरदानखंड निवासी महेंद्र पांडेय सेल्स टैक्स विभाग से अधिकारी के पद से सेवानिवृत्त हुए हैं।

Woman Calls The Control Room Informs I Am Going To Die Know The Whole Matter :

दरअसल, वह अपनी पत्नी अभिलाषा पांडेय संग रहते हैं। पुलिस के मुताबिक, अभिलाषा का पति से किसी बात पर कई दिनों से विवाद चल रहा है। इसी कारण उन्होंने पुलिस कंट्रोल रूम को सूचना दी कि वह मरने जा रही है। उनकी डेड बॉडी उठवा ले जाएं। सूचना पर पीआरवी और थाने की पुलिस पहुंची।

वहीं, काफी देर तक डोर वेल बजाई, लेकिन कोई जवाब नहीं मिला। काफी देर बाद किसी तरह महेंद्र पांडेय ने दरवाजा खोला। वह पहले मंजिल पर सो रहे थे। इसके बाद पुलिस घर का अन्य तीन दरवाजा तोड़कर अंदर दाखिल हुई। अंदर अभिलाषा पांडेय बेहोश पड़ी थी।

साथ ही पास में दवाओं की शीशी खाली पड़ी मिली। पुलिस ने उन्हें तत्काल लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया, जहां उनका इलाज किया जा रहा है।

लखनऊ। राजधानी के गोमतीनगर स्थित वरदान खंड निवासी सेल्स टैक्स के सेवानिवृत्त अधिकारी की पत्नी ने बुधवार शाम पुलिस कंट्रोल रूम को सूचना दी कि ‘मैं मरने जा रही हूं, मेरी डेड बॉडी उठवा ले जाओ’। कंट्रोल रूम से सूचना मिलते ही पीआरवी वरदान खंड स्थित उनके आवास पहुंची। दरवाजा तोड़कर रिटायर अधिकारी की पत्नी को बाहर निकाला और लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया, जहां उनका इलाज चल रहा है। एसएसआई गोमतीनगर अमरनाथ यादव के मुताबिक, वरदानखंड निवासी महेंद्र पांडेय सेल्स टैक्स विभाग से अधिकारी के पद से सेवानिवृत्त हुए हैं। दरअसल, वह अपनी पत्नी अभिलाषा पांडेय संग रहते हैं। पुलिस के मुताबिक, अभिलाषा का पति से किसी बात पर कई दिनों से विवाद चल रहा है। इसी कारण उन्होंने पुलिस कंट्रोल रूम को सूचना दी कि वह मरने जा रही है। उनकी डेड बॉडी उठवा ले जाएं। सूचना पर पीआरवी और थाने की पुलिस पहुंची। वहीं, काफी देर तक डोर वेल बजाई, लेकिन कोई जवाब नहीं मिला। काफी देर बाद किसी तरह महेंद्र पांडेय ने दरवाजा खोला। वह पहले मंजिल पर सो रहे थे। इसके बाद पुलिस घर का अन्य तीन दरवाजा तोड़कर अंदर दाखिल हुई। अंदर अभिलाषा पांडेय बेहोश पड़ी थी। साथ ही पास में दवाओं की शीशी खाली पड़ी मिली। पुलिस ने उन्हें तत्काल लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया, जहां उनका इलाज किया जा रहा है।