ए​शियन गेम्स 2018: समापन समारोह में रानी रामपाल बने भारतीय दल की ध्वजवाहक

rani rampal
ए​शियन गेम्स 2018: समापन समारोह में रानी रामपाल बने भारतीय दल की ध्वजवाहक

नई दिल्ली। एशियन गेम्स 2018 के समापन समारोह में महिला हॉकी टीम की कप्तान रानी रामपाल को भारतीय दल का ध्वजवाहक चुना गया है। भारतीय ओलिंपिक संघ (आईओए) के अध्यक्ष नरिंदर बत्रा ने शनिवार ने शनिवार को इसकी घोषणा करते हुए कहा कि रविवार के कार्यक्रम के लिए रानी को भारतीय दल का ध्वजवाहक चुना गया। 

Woman Hockey Team Captain Rani Rampal To Be Indias Flag Bearer In Asiad Closing Ceremony :

इन खेलों के उद्घाटन समारोह के लिए स्टार भाला फेंक ऐथलीट नीरज चोपड़ा को भारतीय दल का ध्वजवाहक चुना गया था, जिन्होंने इन खेलों में स्वर्ण पदक भी जीता। 23 साल की रानी की कप्तानी में भारतीय महिला हॉकी टीम ने 20 साल के पदकों को सूखा खत्म करते हुए रजत पदक जीता है। इन खेलों में रानी के उत्क्रष्ट प्रदर्शन को देखते हुए आईओए ने उन्हे ध्वजवाहक के रूप में चुना है। 

टीम हालांकि फाइनल में जापान से 1-2 से हार के कारण 36 साल बाद स्वर्ण पदक जीतने से चूक गई। बता दें कि लगभग 550 भारतीय खिलाड़ियों के दल में से ज्यादातर खिलाड़ी स्वदेश लौट गए है। इसके वहां जितने भी खिलाड़ी बचे थे, उनमें से ही ध्वजवाहक का चुनाव किया गया है। 

 

नई दिल्ली। एशियन गेम्स 2018 के समापन समारोह में महिला हॉकी टीम की कप्तान रानी रामपाल को भारतीय दल का ध्वजवाहक चुना गया है। भारतीय ओलिंपिक संघ (आईओए) के अध्यक्ष नरिंदर बत्रा ने शनिवार ने शनिवार को इसकी घोषणा करते हुए कहा कि रविवार के कार्यक्रम के लिए रानी को भारतीय दल का ध्वजवाहक चुना गया। 

इन खेलों के उद्घाटन समारोह के लिए स्टार भाला फेंक ऐथलीट नीरज चोपड़ा को भारतीय दल का ध्वजवाहक चुना गया था, जिन्होंने इन खेलों में स्वर्ण पदक भी जीता। 23 साल की रानी की कप्तानी में भारतीय महिला हॉकी टीम ने 20 साल के पदकों को सूखा खत्म करते हुए रजत पदक जीता है। इन खेलों में रानी के उत्क्रष्ट प्रदर्शन को देखते हुए आईओए ने उन्हे ध्वजवाहक के रूप में चुना है। 

टीम हालांकि फाइनल में जापान से 1-2 से हार के कारण 36 साल बाद स्वर्ण पदक जीतने से चूक गई। बता दें कि लगभग 550 भारतीय खिलाड़ियों के दल में से ज्यादातर खिलाड़ी स्वदेश लौट गए है। इसके वहां जितने भी खिलाड़ी बचे थे, उनमें से ही ध्वजवाहक का चुनाव किया गया है।