बिहार पुलिस की बर्बरता इतनी भयावह कि देखने वालों की कांप गई रूह

भागलपुर: खाकी की काली करतूतों के सैकड़ों किस्से आपने सुने होंगे लेकिन लाख नसीहतों के बाद भी पुलिसकर्मी सुधरने को तैयार नहीं हैं। ताजा मामला बिहार के भागलपुर में देखने को मिला है। डीएम ऑफिस परिसर में गुरुवार को पुलिस का बर्बरात्मक चेहरा देखने को मिला। पुलिस ने अनशन कर रहे लोगों पर जमकर लाठियां भांजी। इस दौरान महिलाओं को भी नहीं छोड़ा गया उनको भी बेरहमी से पीटा गया। लाठीचार्ज के दौरान महिलाओं के कपड़े फट गए। पुलिस की मार से कई महिलाएं बेहोश हो गईं, उन्हें बुरी तरह घसीटा गया।




प्राप्त जानकारी के अनुसार, चार दिनों से वासगीत का पर्चा दिलाने की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे भूमिहीनों की जब किसी से नहीं सुनी तो उनका धैर्य टूट गया। वे उग्र हो गए। जवाब में पुलिस ने लाठीचार्ज करने के साथ कई प्रदर्शनकारियों को लातों से मारा। लाठीचार्ज में महिलाएं बेहोश हो गई। उनके कपड़े तक फट गए। इस दौरान महिलाएं निर्वस्त्र भी हो गईं। कई महिलाएं जमीन पर गिर गईं। कुछ महिलाओं के गोद में बच्चे थे। वे जमीन पर गिर गए। बच्चों को भी चोटें आई। पुलिस ने घसीटते हुए सभी महिलाओं को वहां से बाहर निकाला। लाठीचार्ज और पत्थरबाजी में आधा दर्जन से अधिक महिलाओं को चोटें आईं।




पुलिस की बर्बरता इतनी भयावह थी कि देखने वालों की रूह कांप गई। पुलिस ने अनशन पर बैठे जन संसद के सदस्यों को भी खदेड़ा और उनका टेंट- शामियाना उखाड़ कर कब्जे में ले लिया।

Loading...