अमेरिका में इन राज्‍यों में टॉपलेस घूम सकती हैं महिलाएं, सुप्रीम कोर्ट ने दी इजाजत

topless girl
अमेरिका में इन राज्‍यों में टॉपलेस घूम सकती हैं महिलाएं, सुप्रीम कोर्ट ने दी इजाजत

नई दिल्ली। अमेरिका (America) में ‘फ्री द निप्पल’ मूवमेंट को बड़ी जीत मिली है। सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने महिलाओं को टॉपलेस (Topless) होकर घूमने की आजादी दे दी है। पश्चिमी अमेरिका के 6 राज्यों में अब महिलाओं (Women) का टॉपलेस घूमना लीगल हो गया है। वहीं, इन राज्‍यों में रहने वाली कई महिलाओं ने इस फैसले का विरोध भी किया था, लेकिन कोर्ट ने ‘फ्री द निप्पल’ (Free the nipple) मूवमेंट की बात मानी और इन 6 राज्‍यों में औरतों के टॉपलेस घूमने की मंजूरी दे दी।

Women Can Roam Topless In These States In America Supreme Court Allows :

दरअसल, ‘फ्री द निप्पल’ नाम से कई महिलाओं ने एक ग्लोबल मूवमेंट चलाया। इस आंदोलन में महिलाओं की मांग थी कि उनको भी पुरुषों की ही तरह टॉपलेस घूमने का अधिकार दिया जाए। साथ ही उनका मानना था कि महिलाओं का शरीर सिर्फ सेक्सुअल ऑबजेक्ट नहीं है। बल्कि उन्हें भी पुरुषों की तरह समान अधिकार मिलने चाहिए। इसी मूवमेंट पर अपना फैसला देते हुए कोर्ट ने टॉपलेस बैन को हटा दिया।

इस मूवमेंट को रोकने के लिए खर्च किए 2 करोड़

खबर के मुताबिक, फॉर्ट कॉलिन्स सरकार ने कोलोराडो शहर में इस मूवमेंट को रोकने के लिए 2 करोड़ रुपये से ज्यादा खर्च किए थे, लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने फैसला ‘फ्री द निप्पल’ मूवमेंट के पक्ष में सुनाया। फॉर्ट कॉलिन्स सरकार के प्रवक्ता ने कहा कि कोर्ट ने महिलाओं को टॉपलेस घूमने की आजादी दे दी है। अब हम शहर में बाकि अहम चीजों पर पैसा खर्च करेंगे।

अमेरिका के 6 राज्यों में टॉपलेस घूम सकती हैं महिलाएं

महिलाओं ने इस मामले को फरवरी में सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी और मांग की कि टॉपलेस बैन हटना चाहिए। कोर्ट ने अब ‘फ्री द निप्पल’ मूवमेंट की बात मानी और पश्चिमी अमेरिका के 6 राज्‍यों में औरतों के टॉपलेस घूमने की मंजूरी दे दी। कोलोराडो शहर शहर में अब महिलाएं सितंबर के आखिरी हफ्ते से टॉपलेस होकर घूम सकेंगी।

अमेरिका में अब तक था ये कानून

इससे पहले अमेरिका में सिर्फ 10 साल से कम उम्र की बच्चियों को टॉप के बिना सार्वजनिक स्थानों पर घूमने की आजादी थी। हाल ही में लेकसाइड बीच पर तीन महिलाओं के टॉपलेस घूमने का विवाद हुआ था।

नई दिल्ली। अमेरिका (America) में ‘फ्री द निप्पल’ मूवमेंट को बड़ी जीत मिली है। सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने महिलाओं को टॉपलेस (Topless) होकर घूमने की आजादी दे दी है। पश्चिमी अमेरिका के 6 राज्यों में अब महिलाओं (Women) का टॉपलेस घूमना लीगल हो गया है। वहीं, इन राज्‍यों में रहने वाली कई महिलाओं ने इस फैसले का विरोध भी किया था, लेकिन कोर्ट ने 'फ्री द निप्पल' (Free the nipple) मूवमेंट की बात मानी और इन 6 राज्‍यों में औरतों के टॉपलेस घूमने की मंजूरी दे दी। दरअसल, 'फ्री द निप्पल' नाम से कई महिलाओं ने एक ग्लोबल मूवमेंट चलाया। इस आंदोलन में महिलाओं की मांग थी कि उनको भी पुरुषों की ही तरह टॉपलेस घूमने का अधिकार दिया जाए। साथ ही उनका मानना था कि महिलाओं का शरीर सिर्फ सेक्सुअल ऑबजेक्ट नहीं है। बल्कि उन्हें भी पुरुषों की तरह समान अधिकार मिलने चाहिए। इसी मूवमेंट पर अपना फैसला देते हुए कोर्ट ने टॉपलेस बैन को हटा दिया। इस मूवमेंट को रोकने के लिए खर्च किए 2 करोड़ खबर के मुताबिक, फॉर्ट कॉलिन्स सरकार ने कोलोराडो शहर में इस मूवमेंट को रोकने के लिए 2 करोड़ रुपये से ज्यादा खर्च किए थे, लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने फैसला ‘फ्री द निप्पल’ मूवमेंट के पक्ष में सुनाया। फॉर्ट कॉलिन्स सरकार के प्रवक्ता ने कहा कि कोर्ट ने महिलाओं को टॉपलेस घूमने की आजादी दे दी है। अब हम शहर में बाकि अहम चीजों पर पैसा खर्च करेंगे। अमेरिका के 6 राज्यों में टॉपलेस घूम सकती हैं महिलाएं महिलाओं ने इस मामले को फरवरी में सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी और मांग की कि टॉपलेस बैन हटना चाहिए। कोर्ट ने अब ‘फ्री द निप्पल’ मूवमेंट की बात मानी और पश्चिमी अमेरिका के 6 राज्‍यों में औरतों के टॉपलेस घूमने की मंजूरी दे दी। कोलोराडो शहर शहर में अब महिलाएं सितंबर के आखिरी हफ्ते से टॉपलेस होकर घूम सकेंगी। अमेरिका में अब तक था ये कानून इससे पहले अमेरिका में सिर्फ 10 साल से कम उम्र की बच्चियों को टॉप के बिना सार्वजनिक स्थानों पर घूमने की आजादी थी। हाल ही में लेकसाइड बीच पर तीन महिलाओं के टॉपलेस घूमने का विवाद हुआ था।