1. हिन्दी समाचार
  2. कोरोना लड़ाई में आगे निकलते दिख रहे दुनिया भर में महिला नेतृत्व वाले देश

कोरोना लड़ाई में आगे निकलते दिख रहे दुनिया भर में महिला नेतृत्व वाले देश

Women Led Countries Around The World Looking Forward To The Corona Fight

By टीम पर्दाफाश 
Updated Date

लंदन: कोरोना ने दुनिया में 1,26,779 लोगों की जान ले ली है, और 20,00,933 लोगों को अपनी चपेट में ले लिया है। अमेरिका और ब्रिटेन जैसे देश भी इसके आगे घुटने टेक रहे हैं। दूसरी ओर वे देश इस लड़ाई में आगे निकलते दिख रहे हैं जिनकी कमान महिला नेताओं के हाथ में है। जर्मनी हो या न्यूजीलैंड, महिला लीडर्स के देश अपने लोगों को बचाने में बेहतर साबित होती दिख रही हैं।

पढ़ें :- नेपाल के पीएम केपी शर्मा ओली को कम्युनिस्ट पार्टी से किया गया बाहर

पर्यटन पर निर्भर करीब 5 करोड़ की आबादी वाले न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जसिंडा अर्डन ने 19 मार्च को ही देश की सीमाएं बंदकर 23 मार्च को चार हफ्ते के लिए लॉकडाउन लगा दिया। गैर-जरूरी वर्कर्स के लिए राशन या एक्सरसाइज के अलावा घर से बाहर निकालना बंद कर दिया गया। जसिंडा ने बताया कि लोगों की सेहत पर यह सदी का सबसे बड़ा खतरा है और कीवी शांति से मिल-जुलकर डिफेंस की दीवार बनाकर लड़ रहे हैं।

वहीं 8.3 करोड़ की आबादी वाले जर्मनी में इंफेक्शन के 1,32,000 मामले सामने आए लेकिन मौत का आंकड़ा दूसरे यूरोपीय देशों की तुलना में काफी कम रहा। पूरे यूरोप में सबसे ज्यादा इंटेंसिव केयर बेड्स हैं और सबसे बड़ा कोरोना वायरस टेस्टिंग प्रोग्राम भी।इसके बारे में हान्स क्रॉशलिक ने बताया, ‘शायद जर्मनी में हमारी सबसे बड़ी ताकत सरकार में सबसे ऊंचे लेवल पर फैसले लेना है और साथ में लोगों को जर्मन चांसलर एंजेला मार्केल सरकार पर भरोसा भी है।’

इसके साथ ही फिनलैंड की प्राइम मिनिस्टर सैना मरिन दुनिया की सबसे कम उम्र की नेता हैं लेकिन 55 लाख की आबादी वाले देश में सिर्फ 59 मौतें हुई हैं। आइसलैंड की प्रधानमंत्री कैटरिन के ऊपर सिर्फ 3,60,000 की आबादी की जिम्मेदारी है लेकिन बड़े स्तर पर टेस्टिंग के चलते बाकी दुनिया के लिए अच्छी खबर आई। दरअसल, यहां टेस्ट किए गए करीब आधे लोग बिना लक्षणों के वायरस का घर बन चुके थे। यहां तेजी से कॉन्टैक्ट-ट्रेसिंग की गई और संदिग्दों को क्वॉरंटीन कर दिया गया।

इन देशों के अलावा 2.4 करोड़ की आबादी वाले इस देश में जब राष्ट्रपति साई इंग-वेन को वुहान में फैले वायरस के बारे में पता चला तो उन्होंने सबसे पहले वुहान से आने वाले सारे प्लेन्स के इंस्पेक्शन का आदेश दे दिया। इसके बाद एक एपिडेमिक कमांड सेंटर खोला गया और पर्सनल प्रोटेक्शन एक्विपमेंट के उत्पादन को बढ़ा दिया गया।

पढ़ें :- उत्तर प्रदेश स्थापना दिवसः पीएम मोदी, रक्षामंत्री राजनाथ से लेकर कई नेताओं ने दी बधाई

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...