मैरिटल रेप के लिये आखिर क्यों चुप रह जाती हैं भारतीय महिलाएं: कैटरीना कैफ

मुंबई। महिलाओं पर हो रहे अत्याचार को रोकने और महिलाओं के सम्मान के लिए बॉलीवुड अभिनेत्री कैटरीना कैफ ने कहा कि महिलाओं को निश्चित तौर पर आवाज उठानी चाहिए। कैटरीना कहती हैं कि महिलाओं को चुपचाप अत्याचाओं को सहन करने के बजाय उनके खिलाफ होने वाले मैरिटल रेप या और कई तरह के हो रहे अपराधों जैसे मुद्दो पर निश्चित तौर पर आवाज उठानी चाहिए।




एक सम्मेलन में कैटरीना ने कहा, “मैंने तो बहुत सी शिक्षित महिलाओं को भी देखा है जो सामाजिक नियम कायदों के दबाव में आ कर खामोशी से अत्याचारों को सहती रहती हैं। हालांकि किसी को अत्याचार नहीं सहना चाहिए बल्कि उन्हे इसके खिलाफ आवाज उठानी चाहिए। महिलाओं पर ही उँगलियाँ भी उठाई जाती हैं खासतौर पर तब जब हमारे समाज में अधिकतर लोग वैवाहिक बालात्कार जैसे अपराध को मानने से इंकार करते हैं।”




उन्होने महिलाओं से अनुरोध करते हुए कहा, “उन्हे ऐसे मुद्दे पर जरूर आवाज उठानी चाहिए खुद को कमज़ोर समझना ठीक नहीं है क्योंकि किसी तरह की कोरी कल्पना के आधार पर हम लैंगिक रूप से कमजोर नहीं हैं।” आपको बता दे कि 33 वर्षीय अभिनेत्री संयुक्त राष्ट्र महिला शाखा की भागीदारी के साथ आईएमसी वाणिज्य एवं उद्योग मंडल के सहयोग से आयोजित ‘वी यूनाइट’ सम्मेलन में बोल रही थीं।