सेना के जवान को थप्पड़ मारने वाली महिला अरेस्ट

army
नई दिल्ली। दक्षिण दिल्ली में सेना के एक ट्रक और अपनी कार के बीच हुई मामूली टक्कर के बाद अधिकारी को थप्पड़ मारने वाली महिला को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस के मुताबिक, गुरग्राम फेज-5 की स्मृति कालरा को एक जन सेवक पर हमला करने और उसे अपने कर्तव्यों का निर्वहन करने से रोकने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। बता दें कि बीते नौ सितंबर को वसंत कुंज के पास घटी इस घटना के कुछ दिनों…

नई दिल्ली। दक्षिण दिल्ली में सेना के एक ट्रक और अपनी कार के बीच हुई मामूली टक्कर के बाद अधिकारी को थप्पड़ मारने वाली महिला को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस के मुताबिक, गुरग्राम फेज-5 की स्मृति कालरा को एक जन सेवक पर हमला करने और उसे अपने कर्तव्यों का निर्वहन करने से रोकने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है।

बता दें कि बीते नौ सितंबर को वसंत कुंज के पास घटी इस घटना के कुछ दिनों बाद जूनियर कमीशन अधिकारी ने बुधवार को शिकायत दर्ज कराई थी।
पुलिस ने बताया, दोनों वाहनों के बीच हुई मामूली सी टक्कर के बाद, महिला अपनी कार से बाहर निकली और जेसीओ को थप्पड़ जड़ दिया। जेसीओ उस समय अपनी वर्दी में था और एक आधिकारिक वाहन चला रहा था।

{ यह भी पढ़ें:- आस्था या अंधविश्वास: भगवान कृष्ण की मूर्ति पी रही दूध, देखें वीडियो }

पास से गुजर रहे एक अन्य वाहन चालक द्वारा बनाई गई इस घटना की वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गई। पुलिस ने कालरा की इंडिका कार की पंजीकरण संख्या का पता लगाया। महिला का विवाह एक सैन्य अधिकारी के बेटे से हुआ था, लेकिन तलाक के बाद से वह अपने माता-पिता के साथ गुरूग्राम में रह रही है।

शिकायतकर्ता सूबेदार महावीर सिंह राठौर ने बुधवार को इस घटना की शिकायत वसंतकुंज साउथ थाने में दी। जबकि घटना नौ सितम्बर की बताई गई। महावीर सिंह मानेसर के एनएसजी सेंटर में तैनात हैं। वह अपने साथी चालक हवलदार मोहम्मद आरिफ खान के साथ सरकारी काम से पांच सैनिकों को निजामुद्दीन रेलवे स्टेशन छोड़ने के लिए सरकारी ट्रक से निकले थे।

{ यह भी पढ़ें:- मेजर गोगोई नाबालिक लड़की के साथ श्रीनगर में गिरफ्तार, जानिए पूरा मामला }

इस महिला को ये भी नहीं मालूम कि वह जिस व्यक्ति पर हाथ उठा रही …

#Shame महिला सशक्तिकरण का चेहरा देखिए, इस महिला को ये भी नहीं मालूम कि वह जिस व्यक्ति पर हाथ उठा रही है उसने भारतीय सेना की वर्दी पहन रखी है। इसी वर्दी को पहनने वाले जवान सीमाओं की सुरक्षा करते हैं। बेहद निंदनीय#Shame

{ यह भी पढ़ें:- कूड़ा बीनने गए दलित दंपति की बेरहमी से पिटाई, जाति पूछकर उतार दिया मौत के घाट }

Posted by on Tuesday, September 12, 2017

Loading...