पर्दाफाश: ये भी हैं राम रहीम जैसे बाबा, बंधक बना नाबालिक लड़कियों का करता था यौन शोषण

नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली के रोहिणी इलाके में चल रहे आध्यात्मिक विश्वविद्यालय आश्रम के नाम पर महिलाओं व नाबालिग लड़कियों को बंधक बनाने वाले बाबा का हुआ पर्दाफाश। मामले को गंभीरता से लेते हुए हाई कोर्ट ने सीबीआइ को जांच के आदेश दिए। मुख्य न्यायाधीश गीता मित्तल व न्यायमूर्ति सी हरिशंकर की पीठ ने सीबीआइ निदेशक को विशेष जांच दल (एसआइटी) गठित कर मामले में दुष्कर्म की धारा में एफआइआर दर्ज करने का आदेश दिया।

सीबीआई की खास टीम ने जब आश्रम पर छापा मारा तो वहां कई लड़कियों को आश्रम से सुरक्षित निकाला गया और आश्रम से जुड़े दो लोगों को हिरासत में लिया। छापेमारी के दौरान दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल भी वहां मौजूद थीं। आश्रम के अंदर 100 से अधिक लड़कियों को बंधक बनाया गया है और इसमें से अधिकांश नाबालिग हैं। भगवान के संबंध में शिक्षा देने के नाम पर बच्चियों और महिलाओं को कथित रूप से गैर-कानूनी तरीके से बंधक बनाकर रखता था और यौन शोषण करता था।

{ यह भी पढ़ें:- दिल्ली: ठंड से मरने वालों के लिए केजरीवाल ने उपराज्यपाल को जिम्मेदार ठहराया }

‘बाहरी दुनिया से ताल्लुक रखना पाप है और तुम मेरी 16,000 रानियों में से एक हो’

‘अपनी रानी कहता था बाबा’ आश्रम में कई खाली सिरिंज और दवाइयां भी मिली हैं। इस आश्रम में अधिकतर महिलाएं उत्तर प्रदेश या छत्तीसगढ़ की हैं। मीडिया से बातचीत के दौरान एक महिला ने आश्रम में अपने साथ हुई हैवानियत के बारे में बताया। 32 वर्षीय महिला ने बताया कि आश्रम का बाबा उसे अपनी 16,000 रानियों में से एक कहता था। उसने कई बार मेरा बलात्कार किया। वो कहते थे कि अगर हम बाहरी दुनिया से ताल्लुक रखते हैं, तो हम पाप कर रहे हैं।’

{ यह भी पढ़ें:- चारा घोटाले में लालू यादव को साढ़े तीन साल की सजा }

Loading...