1. हिन्दी समाचार
  2. विश्व महिला मुक्केबाजी: सेमीफाइनल में हारकर भी इतिहास रच गईं ‘मैरीकॉम’

विश्व महिला मुक्केबाजी: सेमीफाइनल में हारकर भी इतिहास रच गईं ‘मैरीकॉम’

By रवि तिवारी 
Updated Date

Womens Boxing Championship Mc Mary Kom Loses In Semi Final

नई दिल्ली। भारत की एमसी मेरीकॉम को विश्व महिला मुक्केबाजी चैम्पियनशिप के सेमीफाइनल में हार का सामना करना पड़ा। शनिवार को 51 किलोग्राम भारवर्ग के सेमीफाइनल में उन्हें तुर्की की बुसेनाज काकिरोग्लू के खिलाफ हार झेलनी पड़ी।

पढ़ें :- Lamborghini ने इलेक्ट्रिक वाहनों की योजना किया ऐलान, पहली इलेक्ट्रिक सुपरकार को 2030 तक किया जाएगा पेश

सेमीफाइनल में दूसरी वरीयता प्राप्त तुर्की की बुसेनाज साकिरोग्लू से 1-4 के अंतर से हराते हुए मैरीकॉम विश्व महिला मुक्केबाजी चैंपियनशिप में अपने सातवें गोल्ड मेडल से चूक गईं। हालांकि गोल्ड से ठीक एक कदम पहले मिली हार के बाद भारत ने मैच रेफरी के निर्णय के खिलाफ अपील दर्ज कराई है।

48 किलोग्राम भारवर्ग में छह बार विश्व चैम्पियन रह चुकीं मैरी का यह 51 किलोग्राम भार वर्ग में विश्व चैम्पियनशिप में पहला पदक है। वह हालांकि, इस भारवर्ग में 2014-एशियाई खेलों में स्वर्ण और 2018 कॉमनवेल्थ खेलों में स्वर्ण पदक जीत चुकी हैं। साथ ही इसी भार वर्ग में मैरी ने लंदन ओलंपिक 2012 में कांस्य जीता था।

मेरीकॉम के नाम रिकॉर्ड 8 पदक

महिला विश्व मुक्केबाजी चैम्पियनशिप में मेरीकॉम का यह 8वां पदक है। उन्होंने क्वार्टर फाइनल में कोलंबिया की इंग्रीट वालेंसिया को 5-0 से हराकर पदक पक्का कर लिया था।

पढ़ें :- 612 अंक उछलकर सेंसेक्स 50200 के करीब और निफ्टी 15100 के पार हुआ बंद

पुरुष और महिला दोनों विश्व चैम्पियनशिप की बात करें, तो मेरीकॉम ने सर्वाधिक 8 पदक अपने नाम कर लिये हैं। यानी महिला या पुरुषों दोनों वर्गों ने सर्वाधिक विश्व चैम्पियनशिप पदक अब मेरीकॉम के नाम हैं। उन्होंने पुरुष मुक्केबाज क्यूबा के फेलिक्स सेवॉन (1986-1999) को पीछे छोड़ा, जिनके नाम विश्व चैम्पियनशिप में 7 पदक थे।

विश्व चैम्पियनशिप: सर्वाधिक पदक

1. मेरीकॉम (महिला) – 8 पदक (6 गोल्ड+1 सिल्वर +1 ब्रॉन्ज)

2. फेलिक्स सेवॉन (पुरुष), 7 पदक (6 गोल्ड+ 1 सिल्वर)

3. केटी टेलर (महिला) 6 पदक (5 गोल्ड+ 1 ब्रॉन्ज)

पढ़ें :- Mahindra Thar का सस्ता बेस वेरिएंट जल्द होगा लांच, जानें कितनी होगी कीमत ?

भारत की अपील की ठुकराई गई

भारत ने इस फैसले के खिलाफ अपील की, लेकिन उसे ठुकरा दिया गया। एआईबीए के निर्देशों के अनुसार, एक खिलाड़ी तभी अपील कर सकता है जब वह 2:3 या 1:3 के अंतर से मैच हारा हो, मेरीकॉम 1:4 से मुकाबला हारी थीं, इसलिए तकनीकी समिति ने उनके पीले कार्ड को स्वीकार नहीं किया।

मैच के बाद मेरीकॉम ने खेल मंत्री किरण रिजिजू और प्रधानमंत्री नेंरद्र मोदी को टैग करते हुए ट्वीट किया, उन्होंने लिखा, ‘कैसे और क्यों..? दुनिया को पता चलने दीजिए कि यह निर्णय कितना सही और गलत है।’

पढ़ें :- कांग्रेस का बड़ा 'प्रहार', कहा- कोरोना से हुई मौत के आंकड़ों को छिपा रही है योगी सरकार

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
X