IG ने छात्राओं को बताया ‘राइट टू प्राइवेट’ का मतलब, छात्राओं ने पूछे ऐसे सवाल

हरदोई। उत्तर प्रदेश में महिला अपराध पर रोकथाम लगाने के लिए यूपी पुलिस द्वारा महिला सशक्तिकरण के लिए शुरू किए गए ‘नारी सुरक्षा सप्ताह’ का आईजी रेंज जयनारायन सिंह ने हरदोई जिले में शुभारंभ किया। जहां पुलिस अधिकारियों ने छात्राओं को आत्मरक्षा के टिप्स दिए साथ ही सोशल मीडिया पर हो रही घटनाओं से सावधानी बरतने की अपील की। वहीं, छात्राओं ने भी पुलिस अधिकारियों से दिल खोलकर सवाल पूछे।

हरदोई जिले के सण्डीला तहसील इलाके के दिव्यांनद पीजी कॉलेज में 4 दिसंबर से 10 दिसंबर तक चलने वाले ‘नारी सुरक्षा सप्ताह’ का शुभारंभ हो गया है। आईजी जयनारायन सिंह ने छात्राओं को वुमन हेल्प लाइन 1090 और यूपी 100 की उपयोगिता के बारे में बताया। छात्राओं की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए नारी सुरक्षा के तहत यूपी सरकार द्वारा उठाये गए कदम और जरूरी नबंर को लेकर लघु फिल्म और डीजीपी सुलखान सिंह का संदेश भी दिखाया गया।

{ यह भी पढ़ें:- जारी है यूपी पुलिस का 'ऑपरेशन क्लीन', नोएडा में मुठभेड़ के बाद तीन बदमाश अरेस्ट }

‘राइट टू प्राइवेट’ डिफेंस की दी जानकारी

    • कार्यक्रम में पहुंची छात्राओं को संबोधित करते हुए आईजी जयनारायन सिंह ने कहा- ‘राइट टू प्राइवेट’ डिफेंस में यह व्यवस्था दी गयी है कि अगर कोई आप पर आक्रमक होता है जिससे आपकी जानमाल को खतरा है तो उसमें आत्मरक्षा में उठाया गये कदम भले ही सामने वाला मर भी जाये पर आपका बाल भी बांका नहीं होगा ऐसी व्यवस्था है।
    • इसमें और स्पष्ट कर दूं अगर आपको जानमाल का खतरा हो तो आपके पास जो भी चीज़ हो पेपरवेट, ईंट, पत्थर से अपना बचाव करें। इसमें आपके खिलाफ थाने में कोई मामला भी दर्ज नहीं होगा।
    • आईजी ने सोशल मीडिया का सावधानी से इस्तेमाल करने की अपील करते हुए बताया- ‘सामने वाले को एकांत का मौका न दें और फेसबुक पर अनजान चेहरों से दोस्ती न करें। उन्होंने अपनी मिसाल देते हुए कहा कि इतनी उम्र सर्विस और आईजी होने के बावजूद उनके महज 29 फेसबुक फ्रेंड्स हैं।’
    • एसपी विपिन मिश्रा ने छात्राओं को संबोधित करते हुए कहा- ‘सशक्तिकरण की बात इसलिए आती है कि आप चीजों को अवॉयड करते हो। आप अवॉयड न करें तो हमेशा सशक्त हैं।’
    • व्हाट्सएप और फेसबुक से सावधानी बरतें। फेसबुक में बहुत से लोग फेक आईडी बना कर आपका इस्तेमाल कर सकते हैं। अनजान लोगों से अपनी बातें शेयर करने से पहले उनके विषय में बारीकी से जानकारी कर लें क्योंकि यहीं से समस्या की शुरुआत होती है।

छात्राओं ने खुलकर पूछा सवाल

{ यह भी पढ़ें:- 26 जनवरी से आपके मोबाइल में होगा 'पैनिक बटन', एक क्लिक पर मिलेगी मदद }

  • पुलिस के रिश्वत लेने और पुलिस की जांच करने पर छात्राओं ने पूछे सवाल।
  • रिश्वत लेने की बात पर आईजी ने छात्रा का जवाब देते हुए कहा कि क्योंकि पुलिस चूंकि वर्दी में होती है और उसकी ओपन आइडेंटिफिकेशन है इसलिए इसपर उंगलियां जल्दी उठती हैं। दूसरे विभागों में भी ऐसा होता है। फिलहाल इसे खत्म करने का प्रयास किया जा रहा है।

Loading...