1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. अलीगढ़: Raja Mahendra Pratap Singh University में इन कोर्स की होगी पढाई, जानें कब बनकर होगी तैयार?

अलीगढ़: Raja Mahendra Pratap Singh University में इन कोर्स की होगी पढाई, जानें कब बनकर होगी तैयार?

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के अलीगढ़ जिले (Aligarh District) में राजा महेंद्र प्रताप सिंह स्टेट यूनिवर्सिटी (Raja Mahendra Pratap Singh University) में वर्ल्ड बैंक डिपार्टमेंट (World Bank Department) इसका निर्माण करा रहा है। इससे पहले ये ज़िम्मेदारी पीडब्ल्यूडी विभाग (PWD Department) को दी गई थी। यूनिवर्सिटी 97.27 एकड़ भूमि पर बनेगी। सरकार ने इसका प्लान भी जारी कर दिया है। अभी पहली किस्त के तौर पर 10 करोड़ रुपये जारी किए जा चुके हैं। दो साल के भीतर जनवरी 2023 तक ये परियोजना पूरी हो जाएगी।

By संतोष सिंह 
Updated Date

अलीगढ़। उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के अलीगढ़ जिले (Aligarh District) में राजा महेंद्र प्रताप सिंह स्टेट यूनिवर्सिटी (Raja Mahendra Pratap Singh University) में वर्ल्ड बैंक डिपार्टमेंट (World Bank Department) इसका निर्माण करा रहा है। इससे पहले ये ज़िम्मेदारी पीडब्ल्यूडी विभाग (PWD Department) को दी गई थी। यूनिवर्सिटी 97.27 एकड़ भूमि पर बनेगी। सरकार ने इसका प्लान भी जारी कर दिया है। अभी पहली किस्त के तौर पर 10 करोड़ रुपये जारी किए जा चुके हैं। दो साल के भीतर जनवरी 2023 तक ये परियोजना पूरी हो जाएगी।

पढ़ें :- Covid-19 महामारी में भारत ने गरीब की जिस तरह मदद की वह तारीफ-ए-काबिल : वर्ल्ड बैंक

यूनिवर्सिटी में प्रशासनिक भवन, शौक्षणिक भवन, लाइब्रेरी, कॉमन फैसिलिटी सेंटर, गर्ल्स और ब्वायज हॉस्टल, अधिकारियों के आवास, गार्डरूम सहित अन्य निर्माण शामिल हैं। ये सभी निर्माण कार्य 97.27 एकड़ में पूरे होंगे। यूनिवर्सिटी निर्माण की अधिसूचना 22 नवम्बर 2019 को जारी हुई थी। यूनिवर्सिटी के कुलसचिव व वित्त अधिकारी की नियुक्ति की जा चुकी है। यूनिवर्सिटी बनने के बाद अलीगढ़, हाथरस, कासगंज व एटा के लगभग 395 कॉलेज शामिल होंगे।

यूनिवर्सिटी के स्कूल ऑफ वोकेशनल स्टडीज (School of Vocational Studies) में बैचलर इन वोकेशनल कोर्स, पशु एंव डेयरी टेक्निकल ट्रेनिंग, कम्युनिकेटिव इंग्लिश फॉरेन लैंग्वेज का कोर्स होगा. स्कूल और एडवांस लर्निंग में डिपार्टमेंट कफ एडवांस कम्प्यूटिंग, डिपार्टमेंट ऑफ़ बायो टेक्नोलॉजी, डिपार्टमेंट ऑफ़ डिसीज़न साइंस, डिपार्टमेंट ऑफ़ मस्क्युलर जेनेटिक्स, डिपार्टमेंट ऑफ़ रेनयुवेबेल एनर्जी शामिल होंगे। बता दें कि डिपार्टमेंट ऑफ़ मल्टीलेंग्युल स्टडीज में स्कूल ऑफ स्पिरिचुअल साइंस एंड योगा, स्कूल ऑफ हयूमैनिटिज़ आर्ट एंड सोशल साइंस, स्कूल ऑफ ट्रांस डिससिप्लीनरी साइंस में विभ‍िन्न कोर्स उपलब्ध रहेंगे।

बता दें कि राजा महेंद्र सिंह ने ही अलीगढ़ में यूनिवर्सिटी खोलने के लिए अपनी जमीन दान की थी, लेकिन अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के किसी भी कोने में उनका नाम अंकित नहीं है। इसी कारण यहां पर एएमयू यानी अलीगढ़ मुस्ल‍िम यूनिवर्सिटी (Aligarh Muslim University)  का नाम बदलने के लिए काफी मांग उठती रहती है। लेकिन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Chief Minister Yogi Adityanath) ने इसके लिए रास्ता निकाला है।

प्रदेश सरकार ने अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (Aligarh Muslim University) के जवाब में महेंद्र प्रताप सिंह के नाम पर राज्य स्तरीय विश्वविद्यालय बनाने का निर्णय लिया। योगी आदित्यनाथ सरकार ने 2019 में राजा महेंद्र प्रताप के नाम पर अलीगढ़ में एक नया यूनिवर्सिटी स्थापित करने का भरोसा दिलाया था। सीएम योगी आदित्यनाथ ने 14 सितंबर, 2019 को यूनिवर्सिटी के निर्माण की घोषणा की थी। अब इसकी नींव प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 14 सितंबर को रखेंगे। कोल तहसील के लोढ़ा और मुसईपुर गांवों में यूनिवर्सिटी के लिए भूमि प्रस्तावित की गई थी। जिला प्रशासन ने 37 हेक्टेयर से अधिक सरकारी भूमि देने का निर्णय किया था। इसके अलावा अन्य 10 हेक्टेयर भूमि अधिग्रहित की गई थी।

पढ़ें :- खाद्य पदार्थों में मिलावटखोरी किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं की जाएगी : सीएम योगी

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...