1. हिन्दी समाचार
  2. खबरें
  3. World Book Day 2019: जाने विश्व पुस्तक दिवस का इतिहास और इससे जुड़ी कुछ खास बातें…

World Book Day 2019: जाने विश्व पुस्तक दिवस का इतिहास और इससे जुड़ी कुछ खास बातें…

By आस्था सिंह 
Updated Date

लखनऊ। आज यानि 23 अप्रैल को दुनियाभर में विश्व पुस्तक दिवस (World Book Day 2019) मनाया जा रहा है। साहित्य के शौकीनो के लिए आज का दिन बेहद खास है। आज की आधुनिक दुनिया में भले ही लोग कंप्यूटर और इंटरनेट का इस्तेमाल ज्यादा करते हैं लेकिन किताबों का शौक अभी भी बरकरार हैं। UNESCO ने विश्व पुस्तक दिवस की शुरुआत 23 अप्रैल 1995 में की थी। जिसके बाद से पूरी दुनिया में इस दिन को विश्व पुस्तक दिवस के तौर पर मनाया जाने लगा।

23 अप्रैल को ही क्यों मनाते हैं विश्व पुस्तक दिवस

1923 में प्रसिद्ध राइटर मीगुयेल डी सरवेन्टीस (Miguel de Cervantes) का देहांत 23 अप्रैल को हुआ था। उनके सम्मान में और मीगुयेल की याद में वर्ल्ड बुक डे इसी दिन मनाया जाने लगा। 23 अप्रैल को मीगुयेल डी सरवेन्टीस के अलावा महान लेखक विलियम शेक्सपियर का भी देहांत हुआ था। विलियम शेक्सपियर को विश्व का ‘साहित्य सम्राट’ भी कहा जाता है। आज भी उनकी लिखी किताबों को लोग पढ़ना पसंद करते हैं इसलिए भी 23 अप्रैल का दिन बेहद खास है।

क्यों मनाया जाता है ‘वर्ल्ड बुक डे’

दुनिया भर मे वर्ल्ड बुक डे इसलिए मनाया जाता है जिससे किताबों की अहमियत को समझा जा सके। साथ ही संस्कृातियों और पीढ़‍ियों के बीच में एक सेतु की तरह भी हैं। वर्ल्ड बुक डे के जरिए यूनेस्को रचनात्म्कता, विविधता और ज्ञान पर सब के अधिकार के मकसद को बढ़ावा देना चाहता है। यह दिवस विश्व भर के लोगों खासकर लेखकों, शिक्षकों, सरकारी व‍ निजि संस्थानों, एनजीओ और मीडिया को एक प्लैाटफॉर्म मुहैया कराता है, ताकि साक्षरता को बढ़ावा दिया जा सके और सभी लोगो को शिक्षा के संसाधनों तक पहुंचाया जा सके।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...