धोनी के बचाव में आए भरत अरुण, कहा- उन्होंने स्थिति के हिसाब से बैटिंग की

dhoni
धौनी के बचाव में आए भरत अरुण, कहा- उन्होंने स्थिति के हिसाब से बैटिंग की

नई दिल्ली। भारतीय टीम के गेंदबाजी कोच भरत अरुण ने धीमी बल्लेबाजी के कारण आलोचनाओं का शिकार हो रहे महेंद्र सिंह धोनी का बचाव करते हुए बुधवार को कहा है कि पूर्व कप्तान ने स्थिति को ध्यान में रखकर बल्लेबाजी की थी और उनकी बल्लेबाजी को लेकर किसी तरह की चिंता नहीं है। धोनी ने आईसीसी वर्ल्ड कप-2019 के पिछले मैच में अफगानिस्तान के खिलाफ धीमी बल्लेबाजी की थी जिसे लेकर उनकी काफी आलोचना हुई है।

World Cup 2019 Bharat Arun On Ms Dhoni Slow Batting :

मैच की पूर्व संध्या पर संवाददाता सम्मेलन में अरुण ने कहा, “मुझे लगता है कि धोनी ने स्थिति के हिसाब से बल्लेबाजी की। विकेट की स्थिति ही ऐसी थी। हमने जो लक्ष्य दिया था, हम उसे बचाने में भी सफल रहे। जब धोनी और केदार जाधव बल्लेबाजी कर रहे थे तब अगर हम विकेट खो देते तो चीजें काफी अलग होतीं। इसलिए मुझे नहीं लगता कि इसे लेकर ज्यादा चिंतित होने की जरूरत है।”

उन्होंने कहा, “सभी बल्लेबाजों, सहयोगी स्टाफ, बल्लेबाजी कोच, मुख्य कोच रवि शास्त्री के बीच लगातार बातचीत होती रहती है। शास्त्री सभी कोच के साथ नियमित बात करते हैं। मैं आपको नहीं बता सकता कि हमारे बीच क्या बातचीत होती है लेकिन हां अगर मुझे आपके सवाल का जवाब देना है तो हमारे बीच सुधार के लिये लगातार बातचीत होती है।”

भारत ने मैनचेस्टर में पाकिस्तान के खिलाफ 335 रन बनाये थे और अरुण को उम्मीद है कि वेस्टइंडीज के खिलाफ गुरुवार को भी ऐसा ही होगा। उन्होंने कहा,”अगर आप हमारे पहले तीन मैचों पर गौर करो तो हमने वास्तव में अच्छा स्कोर बनाया। अफगानिस्तान के खिलाफ विकेट पर रन बनाना आसान नहीं था। लेकिन मुझे लगता है कि यह परिस्थितियों को समझना और उनसे तालमेल बिठाने से जुड़ा मसला है।”

नई दिल्ली। भारतीय टीम के गेंदबाजी कोच भरत अरुण ने धीमी बल्लेबाजी के कारण आलोचनाओं का शिकार हो रहे महेंद्र सिंह धोनी का बचाव करते हुए बुधवार को कहा है कि पूर्व कप्तान ने स्थिति को ध्यान में रखकर बल्लेबाजी की थी और उनकी बल्लेबाजी को लेकर किसी तरह की चिंता नहीं है। धोनी ने आईसीसी वर्ल्ड कप-2019 के पिछले मैच में अफगानिस्तान के खिलाफ धीमी बल्लेबाजी की थी जिसे लेकर उनकी काफी आलोचना हुई है। मैच की पूर्व संध्या पर संवाददाता सम्मेलन में अरुण ने कहा, “मुझे लगता है कि धोनी ने स्थिति के हिसाब से बल्लेबाजी की। विकेट की स्थिति ही ऐसी थी। हमने जो लक्ष्य दिया था, हम उसे बचाने में भी सफल रहे। जब धोनी और केदार जाधव बल्लेबाजी कर रहे थे तब अगर हम विकेट खो देते तो चीजें काफी अलग होतीं। इसलिए मुझे नहीं लगता कि इसे लेकर ज्यादा चिंतित होने की जरूरत है।” उन्होंने कहा, "सभी बल्लेबाजों, सहयोगी स्टाफ, बल्लेबाजी कोच, मुख्य कोच रवि शास्त्री के बीच लगातार बातचीत होती रहती है। शास्त्री सभी कोच के साथ नियमित बात करते हैं। मैं आपको नहीं बता सकता कि हमारे बीच क्या बातचीत होती है लेकिन हां अगर मुझे आपके सवाल का जवाब देना है तो हमारे बीच सुधार के लिये लगातार बातचीत होती है।" भारत ने मैनचेस्टर में पाकिस्तान के खिलाफ 335 रन बनाये थे और अरुण को उम्मीद है कि वेस्टइंडीज के खिलाफ गुरुवार को भी ऐसा ही होगा। उन्होंने कहा,"अगर आप हमारे पहले तीन मैचों पर गौर करो तो हमने वास्तव में अच्छा स्कोर बनाया। अफगानिस्तान के खिलाफ विकेट पर रन बनाना आसान नहीं था। लेकिन मुझे लगता है कि यह परिस्थितियों को समझना और उनसे तालमेल बिठाने से जुड़ा मसला है।"