पैर से प्लेन चलाने वाली इस महिला पायलेट ने बनाए कई वर्ल्ड रिकॉर्ड

jessica cox
पैर से प्लेन चलाने वाली इस महिला पायलेट ने बनाए कई वर्ल्ड रिकॉर्ड

नई दिल्ली। किसी ने सच ही कहा है ‘जहां चाह वहां राह’ आझम आपको इसी कहावत को सच साबित करने वाली एक ऐसी महिला के बारे में बताएंगे जिसने अपनी शारीरिक अक्षमता को कभी भी अपनी सफलता के आड़े नहीं आने दिया। अपने हौसले, साहस और इच्छाशक्ति से तमाम लोगों के लिए मिसाल बनने वाली जेसिका कॉक्स (Jessica Cox) अपनी सफलताओं से एक बड़ा उदाहरण पेश कर रही हैं। दरअसल ये दुनिया की पहली ऐसी इकलौती महिला हैं जो पैरों से प्लेन उड़ाती हैं। आज हम आपको जेसिका की तमाम ऐसी चीजों के बारे में बताने जा रहे हैं जिसमें उन्होने वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया है।

World First Female Armless Pilot Who Fly Plane By Feet :

देखें वीडियो

जेसिका कॉक्स के पास ही एक ऐसा लाइसेंस है जो दुनिया के पहले किसी आर्मलेस (बिना हाथ) के पायलट को दिया गया। इस वजह से इस महिला का नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में दर्ज किया गया है। जेसिका में खास बात यह है कि ये ना सिर्फ पैरों से प्लेन उड़ाती है बल्कि अन्य छोटे बड़े काम भी पैरों से करने में एक्सपर्ट है।

जेसिका कॉक्स के बारे में….

अमेरिका के एरिजोना में जन्मी जेसिका के हाथ बचपन से ही नहीं थे। 14 साल तक इन्होंने नकली हाथ का इस्तेमाल किया इसके बाद इन्होंने ये भी हटवा दिया और सारे कैम पैरों से करने की प्रैक्टिस शुरू कर दी। तब से ही ये अपने सभी काम पैरों से करती आ रही है, ना सिर्फ डेली रुटीन के काम बल्कि कार चलाना, आंखों में लेंस लगाना, गैस भरना, कंप्यूटर चलाने से लेकर वो सारे काम जो एक सामान्य आदमी कर सकता है, वो कर रही है। इनकी कंप्यूटर टाइपिंग की स्पीड आपको हैरान कर देगी दरअसल ये पैर से 25 वर्ड प्रति मिनट की स्पीड से टाइप करती हैं।

बता दें कि 34 वर्षीय जेसिका को इंटरनेट सर्फिंग, स्कूबा डाइविंग, घुड़सवारी का काफी शौक है। यही नहीं वो लिखाई भी पैरों से ही करती है। अपने जूते के लेस भी जेसिका पैरों से ही बांधती है। जेसिका ने 22 साल की उम्र में प्लेन चलाना सीखा और इसके तीन साल के अंदर ही यानि 25 साल में ही इसे लाइसेंस मिल गया। इनकी जब शादी हुई तो इनके मंगेतर ने भी इनके पैरों के उंगली में रिंग पहनाई थी।

नई दिल्ली। किसी ने सच ही कहा है ‘जहां चाह वहां राह’ आझम आपको इसी कहावत को सच साबित करने वाली एक ऐसी महिला के बारे में बताएंगे जिसने अपनी शारीरिक अक्षमता को कभी भी अपनी सफलता के आड़े नहीं आने दिया। अपने हौसले, साहस और इच्छाशक्ति से तमाम लोगों के लिए मिसाल बनने वाली जेसिका कॉक्स (Jessica Cox) अपनी सफलताओं से एक बड़ा उदाहरण पेश कर रही हैं। दरअसल ये दुनिया की पहली ऐसी इकलौती महिला हैं जो पैरों से प्लेन उड़ाती हैं। आज हम आपको जेसिका की तमाम ऐसी चीजों के बारे में बताने जा रहे हैं जिसमें उन्होने वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया है। देखें वीडियो [embed]https://www.youtube.com/watch?time_continue=285&v=XgOE88OFrrE[/embed] जेसिका कॉक्स के पास ही एक ऐसा लाइसेंस है जो दुनिया के पहले किसी आर्मलेस (बिना हाथ) के पायलट को दिया गया। इस वजह से इस महिला का नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में दर्ज किया गया है। जेसिका में खास बात यह है कि ये ना सिर्फ पैरों से प्लेन उड़ाती है बल्कि अन्य छोटे बड़े काम भी पैरों से करने में एक्सपर्ट है। जेसिका कॉक्स के बारे में.... अमेरिका के एरिजोना में जन्मी जेसिका के हाथ बचपन से ही नहीं थे। 14 साल तक इन्होंने नकली हाथ का इस्तेमाल किया इसके बाद इन्होंने ये भी हटवा दिया और सारे कैम पैरों से करने की प्रैक्टिस शुरू कर दी। तब से ही ये अपने सभी काम पैरों से करती आ रही है, ना सिर्फ डेली रुटीन के काम बल्कि कार चलाना, आंखों में लेंस लगाना, गैस भरना, कंप्यूटर चलाने से लेकर वो सारे काम जो एक सामान्य आदमी कर सकता है, वो कर रही है। इनकी कंप्यूटर टाइपिंग की स्पीड आपको हैरान कर देगी दरअसल ये पैर से 25 वर्ड प्रति मिनट की स्पीड से टाइप करती हैं। बता दें कि 34 वर्षीय जेसिका को इंटरनेट सर्फिंग, स्कूबा डाइविंग, घुड़सवारी का काफी शौक है। यही नहीं वो लिखाई भी पैरों से ही करती है। अपने जूते के लेस भी जेसिका पैरों से ही बांधती है। जेसिका ने 22 साल की उम्र में प्लेन चलाना सीखा और इसके तीन साल के अंदर ही यानि 25 साल में ही इसे लाइसेंस मिल गया। इनकी जब शादी हुई तो इनके मंगेतर ने भी इनके पैरों के उंगली में रिंग पहनाई थी।