World Heart Day 2019: हार्ट ब्लॉकेज से परेशान है तो अपनाए ये घरेलु नुस्खे

World Heart Day 2019: हार्ट ब्लॉकेज से परेशान है तो अपनाए घरेलु नुस्खे
World Heart Day 2019: हार्ट ब्लॉकेज से परेशान है तो अपनाए घरेलु नुस्खे

लखनऊ। बदलते लाइफस्टाइल के साथ आज के समय में हर कोई किसी न किसी बीमारी से जूझ रहा है। गलत खान-पान के कारण लोगों में दिल की बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है, जिसके कारण बड़ों से लेकर युवाओं में भी हार्ट अटैक का खतरा बढ़ रहा है। बता दें, जब शरीर में कोलेस्ट्रॉल का लेवल बढ़ जाता है तो दिल की नाड़ियों में फैट जमा होने लग जाता है। यदि इसे समय रहते कंट्रोल न किया जाए तो बाद में इससे हार्ट अटैक तक होने का खतरा बढ़ जाता है। दिल की बीमारी से बचने के लिए और जागरुकता फैलाने के लिए हर साल 29 सितंबर को ‘विश्व हृदय दिवस’ मनाया जाता है। आइये आज विश्व हृदय दिवस के मौके पर जानते है हार्ट ब्लॉकेज से बचने के लिए कुछ घरेलु उपचार….

World Heart Day 2019 :

हार्ट ब्लॉकेज के घरेलु उपचार

दालचीनी: दालचीनी हार्ट ब्लॉकेज के लिए एक बढ़िया औषधि है। इससे हार्ट से जुड़ी समस्याएं भी कम होती है। सांस की तकलीफ दूर करने में भी सहायक है।

लौकी का जूस: लौकी का ताजा जूस पीने से हार्ट ब्लॉकेज नहीं होती। इसके साथ ही यदि रोगी सुबह की सैर करता है तो और भी ज्यादा अच्छा होता है। लेकिन ध्यान रखें कि कभी भी कड़वे जूस का सेवन न करें।

अलसी: अलसी में ओमेगा-3 फैटी एसिड की अधिकता होती है, जिससे दिल स्वस्थ रहता है। इसको भूनकर रख लें और फिर इसका रोज एक चम्मच सेवन करें।

लहसुन: लहसुन में गंदगी को शरीर से बाहर निकालने का गुण होता है। इसके नियमित सेवन से कोलेस्ट्रॉल का लेवल कम होता है।

इलायची: मसालों की रानी कही जाने वाली इलायची स्वाद और सुगंध में तो सबसे अच्छी होती ही है लेकिन यह दिल के रोगों में भी लाभकारी हैं। आयुर्वेद में इसे दिल के इलाज में बहुत काम आने वाली औषधि बताया गया है।

अश्वगंधा: यह दिल की बीमारियों के इलाज में कारगर है। इसमें एंटीऑक्सिडेंट, एंटी-इन्फ़्लामेट्री, एंटी-ट्यूमर और रिजुवनेशन के गुण मौजूद होते हैं। यह तनाव को दूर करने में मददगार है। इससे दिल की कोशिकाओं को मजबूती मिलती है और दिल की बीमारियां दूर रहती हैं।

लखनऊ। बदलते लाइफस्टाइल के साथ आज के समय में हर कोई किसी न किसी बीमारी से जूझ रहा है। गलत खान-पान के कारण लोगों में दिल की बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है, जिसके कारण बड़ों से लेकर युवाओं में भी हार्ट अटैक का खतरा बढ़ रहा है। बता दें, जब शरीर में कोलेस्ट्रॉल का लेवल बढ़ जाता है तो दिल की नाड़ियों में फैट जमा होने लग जाता है। यदि इसे समय रहते कंट्रोल न किया जाए तो बाद में इससे हार्ट अटैक तक होने का खतरा बढ़ जाता है। दिल की बीमारी से बचने के लिए और जागरुकता फैलाने के लिए हर साल 29 सितंबर को 'विश्व हृदय दिवस' मनाया जाता है। आइये आज विश्व हृदय दिवस के मौके पर जानते है हार्ट ब्लॉकेज से बचने के लिए कुछ घरेलु उपचार.... हार्ट ब्लॉकेज के घरेलु उपचार दालचीनी: दालचीनी हार्ट ब्लॉकेज के लिए एक बढ़िया औषधि है। इससे हार्ट से जुड़ी समस्याएं भी कम होती है। सांस की तकलीफ दूर करने में भी सहायक है। लौकी का जूस: लौकी का ताजा जूस पीने से हार्ट ब्लॉकेज नहीं होती। इसके साथ ही यदि रोगी सुबह की सैर करता है तो और भी ज्यादा अच्छा होता है। लेकिन ध्यान रखें कि कभी भी कड़वे जूस का सेवन न करें। अलसी: अलसी में ओमेगा-3 फैटी एसिड की अधिकता होती है, जिससे दिल स्वस्थ रहता है। इसको भूनकर रख लें और फिर इसका रोज एक चम्मच सेवन करें। लहसुन: लहसुन में गंदगी को शरीर से बाहर निकालने का गुण होता है। इसके नियमित सेवन से कोलेस्ट्रॉल का लेवल कम होता है। इलायची: मसालों की रानी कही जाने वाली इलायची स्वाद और सुगंध में तो सबसे अच्छी होती ही है लेकिन यह दिल के रोगों में भी लाभकारी हैं। आयुर्वेद में इसे दिल के इलाज में बहुत काम आने वाली औषधि बताया गया है। अश्वगंधा: यह दिल की बीमारियों के इलाज में कारगर है। इसमें एंटीऑक्सिडेंट, एंटी-इन्फ़्लामेट्री, एंटी-ट्यूमर और रिजुवनेशन के गुण मौजूद होते हैं। यह तनाव को दूर करने में मददगार है। इससे दिल की कोशिकाओं को मजबूती मिलती है और दिल की बीमारियां दूर रहती हैं।