World Liver Day 2019 : लीवर की बीमारी से बचने के लिए रखें इन बातों का ध्यान, वरना जा सकती है जान

world liver day
World Liver Day 2019 : लीवर की बीमारी से बचने के लिए रखें इन बातों का ध्यान, वरना जा सकती है जान

लखनऊ। आज 19 अप्रैल को लिवर से जुड़ी समस्याओं को लेकर जागरुकता फैलाने के लिए वर्ल्ड लिवर डे मनाया जाता है। आज के दिन हम आपको लीवर से जुड़ी वो सारी बातें बताएंगे जिससे हमारा लीवर खराब हो जाता है। इस अवसर पर ‘वर्ल्ड वेल बीइंग संगठन’ के अनुसार भारत में मौत की 10वीं सबसे बड़ी वजह लीवर की बीमारी है। लिवर हमारे शरीर का सबसे अहम अंग है क्योंकि ये पाचन में अहम भूमिका निभाता है। आज हम जानेंगे की आखिर फैट लीवर की समस्या क्यों और कैसे हो जाती है।

World Liver Day 2019 Keep The Liver Disease To Avoid These Things Can Be Noticed :

क्या है फैट लिवर:

जब लिवर में फैट निश्चित मात्रा से अधिक हो जाता है तो उसे फैटी लिवर डिजीज कहते हैं। आमतौर पर लिवर में फैट की मात्रा 5 प्रतिशत से कम होनी चाहिए, लेकिन जब फैट 5 प्रतिशत से अधिक हो जाता है तो खतरा बढ़ जाता है।

इस वजह से होता है फैटी लिवर डिजीज:

व्यक्ति का अधिक वजन
शराब का सेवन
डायबिटीज

लक्षण:

जब किसी व्यक्ति को पीलिया हो जाए, अधिक डकार आने लगे, खाना खाने पर पेट फूल जाए और पाचन तंत्र बिगड़ जाए तो देर न करें डॉक्टर से सलाह लें। आपको लिवर संबंधी बीमारी हो सकती है।

नजर अंदाज ना करें:

लिवर के बढ़ते फैट को नजरअंदाज ना करें। अगर समय पर इसका इलाज नहीं कराया गया तो कुछ सालों में एक स्टेज आता है जिसमें लिवर सिकुड़ने लगता है। धीरे-धीरे लिवर काम करना बंद कर देता है। ऐसे में शरीर में पानी जमा होने लगता है, नसें फूल जाती हैं और उससे ब्लीडिंग होने की आशंका भी हो जाती है।

फैटी लिवर से बचाव:

अगर समय पर बीमारी का पता लग जाये तो अच्छी डाइट, नियमित एक्सरसाइज और दवाइयों के जरिए इलाज कर इसे नियंत्रित किया जा सकता है।

लखनऊ। आज 19 अप्रैल को लिवर से जुड़ी समस्याओं को लेकर जागरुकता फैलाने के लिए वर्ल्ड लिवर डे मनाया जाता है। आज के दिन हम आपको लीवर से जुड़ी वो सारी बातें बताएंगे जिससे हमारा लीवर खराब हो जाता है। इस अवसर पर 'वर्ल्ड वेल बीइंग संगठन' के अनुसार भारत में मौत की 10वीं सबसे बड़ी वजह लीवर की बीमारी है। लिवर हमारे शरीर का सबसे अहम अंग है क्योंकि ये पाचन में अहम भूमिका निभाता है। आज हम जानेंगे की आखिर फैट लीवर की समस्या क्यों और कैसे हो जाती है।

क्या है फैट लिवर:

जब लिवर में फैट निश्चित मात्रा से अधिक हो जाता है तो उसे फैटी लिवर डिजीज कहते हैं। आमतौर पर लिवर में फैट की मात्रा 5 प्रतिशत से कम होनी चाहिए, लेकिन जब फैट 5 प्रतिशत से अधिक हो जाता है तो खतरा बढ़ जाता है। इस वजह से होता है फैटी लिवर डिजीज: व्यक्ति का अधिक वजन शराब का सेवन डायबिटीज लक्षण: जब किसी व्यक्ति को पीलिया हो जाए, अधिक डकार आने लगे, खाना खाने पर पेट फूल जाए और पाचन तंत्र बिगड़ जाए तो देर न करें डॉक्टर से सलाह लें। आपको लिवर संबंधी बीमारी हो सकती है। नजर अंदाज ना करें: लिवर के बढ़ते फैट को नजरअंदाज ना करें। अगर समय पर इसका इलाज नहीं कराया गया तो कुछ सालों में एक स्टेज आता है जिसमें लिवर सिकुड़ने लगता है। धीरे-धीरे लिवर काम करना बंद कर देता है। ऐसे में शरीर में पानी जमा होने लगता है, नसें फूल जाती हैं और उससे ब्लीडिंग होने की आशंका भी हो जाती है। फैटी लिवर से बचाव: अगर समय पर बीमारी का पता लग जाये तो अच्छी डाइट, नियमित एक्सरसाइज और दवाइयों के जरिए इलाज कर इसे नियंत्रित किया जा सकता है।