विश्व मोटापा दिवस: स्वस्थ रहने के लिए योग के साथ करें संतुलित भोजन

विश्व मोटापा दिवस: स्वस्थ रहने के लिए योग के साथ करें संतुलित भोजन
विश्व मोटापा दिवस: स्वस्थ रहने के लिए योग के साथ करें संतुलित भोजन

लखनऊ। त्योहारी सीजन शुरू हो गया है और यह समय होता है अपनों के साथ खुशियां मनाने का साथ ही तरह-तरह के पकवानों के लुफ्ट उठाने का। ऐसे में त्योहार के बहाने से हम अपनी सेहत के खयाल को दरकिनार करते हुए अपने पसंद के व्यंजनों का जमकर लुफ्ट उठाते हैं, इस वजह ने न सिर्फ वजन बढ़ता है बल्कि स्वास्थ्य संबंधी तमाम समस्याओं का भी सामना करना पड़ता है। जब अचानक से हमारा वजन बढ़ने लगता है तो हम फौरन ही डाइटिंग शुरू कर देते हैं हालांकि यह बिलकुल भी सही नहीं है। अगर आप भी यह सोचते हैं कि खाना-पीना छोड़ देने से आप फिट हो जाएंगे तो यह आपकी सबसे बड़ी भूल है और ऐसा करने से आपको कमजोरी आने लगती है। तो अब आप पहले से ही ठान लें कि इस त्योहारी सीजन में आप संतुलित मात्रा में और स्वस्थ भोजन ही करेंगे जिससे त्योहार का मज़ा फीका न पड़े।

World Obesity Day 2019 :

बता दें कि आज के समय में लोगों के लिए बढ़ रही मोटापे की समस्या को देखते हुए हर साल 11 अक्टूबर को विश्व मोटापा दिवस मनाया जाता है। विश्व मोटापा दिवस वार्षिक अभियान की स्थापना विश्व मोटापा फेडरेशन ने वर्ष 2015 में की थी। उसी के बाद से ये अभियान लगातार मनाया जा रहा है। इस अभियान के तहत लोगों को स्वस्थ रहने, अपने वजन पर नियंत्रण रखने और अपने को स्वस्थ बनाए रखने के लिए जागरुक किया जाता है।

इन उपायों से कम कर सकेंगे वजन

  • कम उर्जा वाले वयंजनों का सेवन करें। जैसे भूने चने, मूंग दाल, दलिया आदि का सेवन करें। इनमें फैट कम होता है।
  • दो बडे़ चम्मच मूली के रस शहद में मिलाकर बराबर मात्रा में पानी के साथ पिएं, ऐसा करने से माह के बाद मोटापा कम होने लगेगा।
  • हर रोज सुबह-सुबह एक गिलास ठंडे पानी में दो चम्मच शहद घोलकर मिला लीजिए। इस घोल को पीने से शरीर से वसा की मात्रा कम होती है।
  • सुबह नाश्ते में अंकुरित अनाज लीजिए। मूंग, चना और सोयाबीन को अंकुरित करके खाने से से उनमें मौजूद पोषक तत्वों की मात्रा दोगुनी हो जाती है।
  • मौसमी हरी सब्जियों का प्रयोग ज्याएदा मात्रा में करें। मौसमी सब्जियां जैसे – मेथी, पालक, बथुआ, चौलाईसाग हैं। इनमें कैल्शियम अधिक मात्रा में होता है।
  • सोयाबीन का सेवन कीजिए। इसमें ज्याएदा मात्रा में प्रोटीन होता है और इसमें पाया जाने वाला आइसोफ्लेवंस नामक प्रोटीन शरीर से चर्बी को कम करता है।
  • खाने में गेहूं के आटे की चपाती बंद करके जौ और चने के आटे की चपाती लेना शुरू करें। जौ और चने में कार्बोहाइड्रेट पदार्थ होते हैं जो आसानी से पच जाते हैं।
  • अधिक चिकनाईयुक्त दूध, बटर तथा इससे बने पनीर का सेवन बंद कर दें। क्योंंकि इनमें वसा ज्याइदा मात्रा में होता है जो कि मोटापे का कारण बन सकता है।
  • फास्ट फूड, जंक फूड, कचौरी, समोसे, पिज्जा बर्गर न खाएं। कोल्ड ड्रिंक न पिएं, क्योंकि कोल्डा ड्रिंक की 500 मिलीलीटर मात्रा में 20 चम्मच शुगर होती है जिससे मोटापा बढ़ता है।
लखनऊ। त्योहारी सीजन शुरू हो गया है और यह समय होता है अपनों के साथ खुशियां मनाने का साथ ही तरह-तरह के पकवानों के लुफ्ट उठाने का। ऐसे में त्योहार के बहाने से हम अपनी सेहत के खयाल को दरकिनार करते हुए अपने पसंद के व्यंजनों का जमकर लुफ्ट उठाते हैं, इस वजह ने न सिर्फ वजन बढ़ता है बल्कि स्वास्थ्य संबंधी तमाम समस्याओं का भी सामना करना पड़ता है। जब अचानक से हमारा वजन बढ़ने लगता है तो हम फौरन ही डाइटिंग शुरू कर देते हैं हालांकि यह बिलकुल भी सही नहीं है। अगर आप भी यह सोचते हैं कि खाना-पीना छोड़ देने से आप फिट हो जाएंगे तो यह आपकी सबसे बड़ी भूल है और ऐसा करने से आपको कमजोरी आने लगती है। तो अब आप पहले से ही ठान लें कि इस त्योहारी सीजन में आप संतुलित मात्रा में और स्वस्थ भोजन ही करेंगे जिससे त्योहार का मज़ा फीका न पड़े। बता दें कि आज के समय में लोगों के लिए बढ़ रही मोटापे की समस्या को देखते हुए हर साल 11 अक्टूबर को विश्व मोटापा दिवस मनाया जाता है। विश्व मोटापा दिवस वार्षिक अभियान की स्थापना विश्व मोटापा फेडरेशन ने वर्ष 2015 में की थी। उसी के बाद से ये अभियान लगातार मनाया जा रहा है। इस अभियान के तहत लोगों को स्वस्थ रहने, अपने वजन पर नियंत्रण रखने और अपने को स्वस्थ बनाए रखने के लिए जागरुक किया जाता है। इन उपायों से कम कर सकेंगे वजन
  • कम उर्जा वाले वयंजनों का सेवन करें। जैसे भूने चने, मूंग दाल, दलिया आदि का सेवन करें। इनमें फैट कम होता है।
  • दो बडे़ चम्मच मूली के रस शहद में मिलाकर बराबर मात्रा में पानी के साथ पिएं, ऐसा करने से माह के बाद मोटापा कम होने लगेगा।
  • हर रोज सुबह-सुबह एक गिलास ठंडे पानी में दो चम्मच शहद घोलकर मिला लीजिए। इस घोल को पीने से शरीर से वसा की मात्रा कम होती है।
  • सुबह नाश्ते में अंकुरित अनाज लीजिए। मूंग, चना और सोयाबीन को अंकुरित करके खाने से से उनमें मौजूद पोषक तत्वों की मात्रा दोगुनी हो जाती है।
  • मौसमी हरी सब्जियों का प्रयोग ज्याएदा मात्रा में करें। मौसमी सब्जियां जैसे - मेथी, पालक, बथुआ, चौलाईसाग हैं। इनमें कैल्शियम अधिक मात्रा में होता है।
  • सोयाबीन का सेवन कीजिए। इसमें ज्याएदा मात्रा में प्रोटीन होता है और इसमें पाया जाने वाला आइसोफ्लेवंस नामक प्रोटीन शरीर से चर्बी को कम करता है।
  • खाने में गेहूं के आटे की चपाती बंद करके जौ और चने के आटे की चपाती लेना शुरू करें। जौ और चने में कार्बोहाइड्रेट पदार्थ होते हैं जो आसानी से पच जाते हैं।
  • अधिक चिकनाईयुक्त दूध, बटर तथा इससे बने पनीर का सेवन बंद कर दें। क्योंंकि इनमें वसा ज्याइदा मात्रा में होता है जो कि मोटापे का कारण बन सकता है।
  • फास्ट फूड, जंक फूड, कचौरी, समोसे, पिज्जा बर्गर न खाएं। कोल्ड ड्रिंक न पिएं, क्योंकि कोल्डा ड्रिंक की 500 मिलीलीटर मात्रा में 20 चम्मच शुगर होती है जिससे मोटापा बढ़ता है।