वाह रे कोरोना, प्रवासी मजदूर से 22 हजार में बेचवा दिया जिगर का टुकड़ा!

5958Due_to_the_lockdown,_the_laborer_sold_the_2-month-old_baby_for_Rs_22,000

नई दिल्ली: कोरोना महामारी के कारण लगे लॉकडाउन के दौरान लोगों की जिंदगी दूभर होती जा रही है। खासकर उन लोगों को भारी मुश्किल का सामना करना पड़ रहा है, जो दैनिक मजदूरी करके दो वक्त की रोटी का जुगाड़ करते थे। ऐसे ही संकट में फंसे एक मजदूर ने अपने 2 महीने के बच्चे को महज 22 हजार रुपये में बेच डाला। मामला हैदराबाद का है, जहां एक प्रवासी मजदूर ने अपने पड़ोसी की बहन को अपने 2 महीने के नवजात बच्चे को बेच दिया। हालांकि पुलिस उसे अब गिरफ्तार कर चुकी है।

Wow Ray Corona Migrant Laborer Sold A Piece Of Liver For 22 Thousand :

बताया जा रहा है कि पैसों की कमी और लॉकडाउन में परेशानी को देखते हुए इस व्यक्ति ने अपना बच्चा बेचा। बच्चे का सौदा 20 रूपये के स्टांप पेपर पर लिख कर तय किया गया है। हालांकि, इस घटना का एक दूसरा पहलू भी बताया जा रहा है। पुलिस का कहना है कि पड़ोसी की बहन के कोई औलाद नहीं थी जिसकी वजह से उसने बच्चा खरीदा। बताया जा रहा है कि पुलिस ने तीनों लोगों को एक नोटिस देकर छोड़ दिया है।

वहीँ, बच्चा बेचने वाले मदन की पत्नी ने बताया कि उसके पति ने बिना बताये बच्चे का सौदा कर दिया। जब उसे पता लगा तो उसने काफी हंगामा किया और पति के साथ झगड़ा भी किया। उसके हल्ला मचाने से ही लोग जमा हुए और पुलिस को सूचना दी गई थी।

मदन की पत्नी बताती है कि उसके घर में खाने को कुछ भी नहीं है। लॉकडाउन के कारण मजदूरी करना भी संभव नहीं हो पा रहा। खाने के लाले पड़े हैं। उसका पति शराबी है और उसने पैसे के लिए ये सब कर डाला। हम पहले कमा-खा लेते थे लेकिन लॉकडाउन के बाद हमारे पास कुछ भी नहीं है। फिलहाल पुलिस ने बच्चा मां तक पहुंचा दिया है।

नई दिल्ली: कोरोना महामारी के कारण लगे लॉकडाउन के दौरान लोगों की जिंदगी दूभर होती जा रही है। खासकर उन लोगों को भारी मुश्किल का सामना करना पड़ रहा है, जो दैनिक मजदूरी करके दो वक्त की रोटी का जुगाड़ करते थे। ऐसे ही संकट में फंसे एक मजदूर ने अपने 2 महीने के बच्चे को महज 22 हजार रुपये में बेच डाला। मामला हैदराबाद का है, जहां एक प्रवासी मजदूर ने अपने पड़ोसी की बहन को अपने 2 महीने के नवजात बच्चे को बेच दिया। हालांकि पुलिस उसे अब गिरफ्तार कर चुकी है। बताया जा रहा है कि पैसों की कमी और लॉकडाउन में परेशानी को देखते हुए इस व्यक्ति ने अपना बच्चा बेचा। बच्चे का सौदा 20 रूपये के स्टांप पेपर पर लिख कर तय किया गया है। हालांकि, इस घटना का एक दूसरा पहलू भी बताया जा रहा है। पुलिस का कहना है कि पड़ोसी की बहन के कोई औलाद नहीं थी जिसकी वजह से उसने बच्चा खरीदा। बताया जा रहा है कि पुलिस ने तीनों लोगों को एक नोटिस देकर छोड़ दिया है। वहीँ, बच्चा बेचने वाले मदन की पत्नी ने बताया कि उसके पति ने बिना बताये बच्चे का सौदा कर दिया। जब उसे पता लगा तो उसने काफी हंगामा किया और पति के साथ झगड़ा भी किया। उसके हल्ला मचाने से ही लोग जमा हुए और पुलिस को सूचना दी गई थी। मदन की पत्नी बताती है कि उसके घर में खाने को कुछ भी नहीं है। लॉकडाउन के कारण मजदूरी करना भी संभव नहीं हो पा रहा। खाने के लाले पड़े हैं। उसका पति शराबी है और उसने पैसे के लिए ये सब कर डाला। हम पहले कमा-खा लेते थे लेकिन लॉकडाउन के बाद हमारे पास कुछ भी नहीं है। फिलहाल पुलिस ने बच्चा मां तक पहुंचा दिया है।