1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. WFI President और बीजेपी सांसद बृजभूषण शरण सिंह करते हैं यौन शोषण, जंतर-मंतर पर 30 पहलवान कर रहे हैं प्रदर्शन

WFI President और बीजेपी सांसद बृजभूषण शरण सिंह करते हैं यौन शोषण, जंतर-मंतर पर 30 पहलवान कर रहे हैं प्रदर्शन

दिल्ली के जंतर-मंतर (Jantar -Mantar) पर बुधवार को भारतीय पहलवान भारतीय कुश्ती संघ (Wrestling Federation of India) के खिलाफ गंभीर आरोप लगाते हुए प्रदर्शन कर रहे हैं। इस प्रदर्शन में कुल 30 पहलवान शामिल हैं। ओलंपिक और राष्ट्रमंडल खेलों में पदक जीतने वाले पहलवान प्रदर्शन कर रहे हैं। प्रदर्शन में शामिल पहलवानों ने कुश्ती संघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह (BJP MP Brijbhushan Sharan Singh) पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। दिल्ली के जंतर-मंतर (Jantar -Mantar) पर बुधवार को भारतीय पहलवान भारतीय कुश्ती संघ (Wrestling Federation of India) के खिलाफ गंभीर आरोप लगाते हुए प्रदर्शन कर रहे हैं। इस प्रदर्शन में कुल 30 पहलवान शामिल हैं। ओलंपिक और राष्ट्रमंडल खेलों में पदक जीतने वाले पहलवान प्रदर्शन कर रहे हैं। प्रदर्शन में शामिल पहलवानों ने कुश्ती संघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह (BJP MP Brijbhushan Sharan Singh) पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं। प्रदर्शन में शामिल पहलवान विनेश फोगाट (Vinesh Phogat) ने कुश्ती संघ के अध्यक्ष और कोच के ऊपर पर महिलाओं को प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है।

पढ़ें :- विनेश, बजरंग पूनिया और साक्षी मलिक ने ओवरसाइट कमेटी पर उठाया सवाल, कहा-बड़े दुख की बात है कि इस...

विनेश ने अपने बयान में कहा कि कोच महिला खिलाड़ियों को प्रताड़ित कर रहे हैं और फेडरेशन के चहेते कुछ कोच महिला कोचों के साथ भी बदसलूकी करते हैं। वे लड़कियों का यौन उत्पीड़न (Sexually Assaults)  करते हैं। डब्ल्यूएफआई अध्यक्ष (WFI President)  ने कई लड़कियों का यौन उत्पीड़न (Sexually Assaults) किया है। विनेश फोगाट ने कहा है कि कुश्ती संघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह ( Brijbhushan Sharan Singh) ने कई लड़कियों का यौन शोषण (Sexually Assaults)  किया है। इसके साथ ही उन्होंने कहा है कि पुरुष कोच भी लड़कियों और महिला कोच का यौन शोषण करते हैं।

 

जंतर-मंतर पर मौजूद पहलवानों ने कहा कि वे (संघ) हमारे निजी जीवन में भी दखल देते हैं और हमें परेशान करते हैं। वे हमारा शोषण कर रहे हैं। जब हम ओलंपिक में गए थे तो हमारे पास फिजियो या कोच नहीं था। जब से हमने आवाज उठाई है, हमें धमकाया जा रहा है।

पढ़ें :- कुश्ती का दंगल अब पहुंचा कोर्ट, बृजभूषण के खिलाफ यौन उत्पीड़न के आरोपों को दी चुनौती

विनेश फोगाट ने कहा कि टोक्यो ओलंपिक में हार के बाद डब्ल्यूएफआई अध्यक्ष ने मुझे ‘खोटा सिक्का’ कहा। डब्ल्यूएफआई ने मुझे मानसिक रूप से प्रताड़ित किया। मैं हर दिन अपने जीवन को समाप्त करने के बारे में सोचती थी। अगर किसी पहलवान को कुछ होता है तो इसकी जिम्मेदारी डब्ल्यूएफआई अध्यक्ष (WFI President) की होगी।

जानें क्या है मामला?

भारत के कई दिग्गज पहलवान भारतीय कुश्ती संघ के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं। दिल्ली के जंतर-मंतर में प्रदर्शन कर रहे पहलवानों ने राष्ट्रीय महासंघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह ( Brijbhushan Sharan Singh) पर तानाशाही के आरोप लगाए हैं। विरोध प्रदर्शन कर रहे पहलवानों में टोक्यो ओलंपिक के कांस्य पदक विजेता बजरंग पुनिया (Tokyo Olympics bronze medalist Bajrang Punia) , साक्षी मलिक (Sakshi Malik) और विश्व चैम्पियनशिप पदक विजेता विनेश फोगट (World Championship medalist Vinesh Phogat) सहित देश के कई शीर्ष पहलवान शामिल हैं। बता दें कि बृजभूषण शरण सिंह ( Brijbhushan Sharan Singh) कैसरगंज से भाजपा सांसद (BJP MP) भी हैं।

पढ़ें :- Wrestlers Protest : खेल मंत्रालय के निर्देश पर WFI की जनरल काउंसिल मीटिंग रद्द, जांच पूरी होने तक कुश्ती संघ से दूर रहें बृजभूषण

अपने प्रदर्शन को लेकर पहलवान बजरंग पुनिया (Wrestler Bajrang Punia) ने कहा कि भारतीय कुश्ती महासंघ (WFI) पहलवानों को परेशान कर रहा है। जो लोग डब्ल्यूएफआई (WFI)  का हिस्सा हैं उन्हें खेल के बारे में कुछ नहीं पता है। पहलवान कुश्ती महासंघ में चल रही तानाशाही को बर्दाश्त नहीं करना चाहते। ओलंपिक पदक विजेता पहलवान साक्षी मलिक (Olympic medalist wrestler Sakshi Malik) ने कहा कि हम भारतीय कुश्ती महासंघ का विरोध कर रहे हैं। हम पहलवान यहां इकट्ठे हुए हैं।

भारतीय कुश्ती संघ के सहायक सचिव विनोद तोमर (Vinod Tomar, Assistant Secretary, Wrestling Federation of India) प्रदर्शन कर रहे पहलवानों से मिलने पहुंचे। उन्होंने कहा कि पता नहीं यह किस बारे में है। डब्ल्यूएफआई अध्यक्ष (WFI President)  को लिखे पत्र से पता चला कि कुछ पहलवान विरोध में बैठे हैं। मैं उनसे उनकी समस्या पूछने आया हूं। एक बार जब वे फेडरेशन में आ जाएंगे तो सारे मसले सुलझ जाएंगे। उन्होंने मुझे अभी तक नहीं बताया कि मामला क्या है। अभी तक मेरे या फेडरेशन के सामने इस तरह का कोई मुद्दा नहीं उठाया गया है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...