World aids day 2018: जाने एड्स के लक्षण और बचाव के तरीके

World aids day 2018: जाने एड्स के लक्षण और बचाव के तरीके
World aids day 2018: जाने एड्स के लक्षण और बचाव के तरीके

नई दिल्ली। हर साल 1 दिसंबर को वर्ल्ड एड्स डे मनाया जाता है। एड्स वह गंभीर बीमारी है जिसका अभी तक कोई इलाज नहीं मिल पाया है। हालांकि बीते कुछ दशकों में भारत में इस बीमारी को लेकर व्यापक स्तर पर जागरूकता अभियान चलाए गए हैं। जानकारों की माने तो अब तक एड्स के कारण दुनिया भर में लगभग 36 मिलियन लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। आज एड्स डे के मौके पर हम इस गंभीर बीमारी से जुड़ी कई ऐसी बातों के बारे में बताने जा रहे हैं जो शायद बहुत कम लोगों को ही पता हैं।

Wworld Aids Day 2018 Know About The Symptoms :

इन बातों का रखें ध्यान

  • एक सर्वे में यह सामने आया है कि सबसे ज्यादा महिला सेक्स वर्क्स एड्स की शिकार होती हैं।
  • नशीली दवा और इंजेक्शन लगने से भी लोग इस बीमारी का शिकार हो गए हैं।
  • कई बार ऐसा होता है एचआईवी पॉजिटिव होने का मतलब लोग एड्स समझते हैं। यह वायरस अगर किसी इंसान में मौजूद हो तो उसे एचआईवी पॉजिटिव कहा जाता है।
  • इस वायरस की वजह से ही हमारे शरीर में कमजोरी आने लगती है। जिसके बाद 8 से 10 साल के बाद शरीर में एड्स के लक्षण दिखने शुरू हो जाते हैं।
  • एचआईवी की वजह से शरीर में तनाव और थकावट महसूस होने लगती है।
  • इन वजहों से होता है एड्स जाने कैसे करें इन सबसे बचाव
  • अनसेफ सेक्स- असुरक्षित यौन संबंध बनाना एड्स की सबसे बड़ी वजह है।
  • गलत तरीके से खून चढ़ाने से- अक्सर किसी को ब्लड डोनेट करते वक्त या खून चढ़ाते वक्त भी कुछ खास बातों का ध्यान रखना बेहद जरूरी होता है।
  • एकबार इस्तेमाल की हुई सुई को दोबारा इस्तेमाल करने से- सुई का गलत तरीके से इस्तेमाल या फिर पुरानी सुई के इस्तेमाल करने से भी एड्स होता है।
  • इन्फेक्टेड ब्लेड यूज करने से- कई बार शेविंग बनाते समय या फिर किसी और कार्य के लिए उपयोग में आने वाली ब्लेड संक्रमित होती है जो एड्स की बड़ी वजह बनती है।
नई दिल्ली। हर साल 1 दिसंबर को वर्ल्ड एड्स डे मनाया जाता है। एड्स वह गंभीर बीमारी है जिसका अभी तक कोई इलाज नहीं मिल पाया है। हालांकि बीते कुछ दशकों में भारत में इस बीमारी को लेकर व्यापक स्तर पर जागरूकता अभियान चलाए गए हैं। जानकारों की माने तो अब तक एड्स के कारण दुनिया भर में लगभग 36 मिलियन लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। आज एड्स डे के मौके पर हम इस गंभीर बीमारी से जुड़ी कई ऐसी बातों के बारे में बताने जा रहे हैं जो शायद बहुत कम लोगों को ही पता हैं।इन बातों का रखें ध्यान
  • एक सर्वे में यह सामने आया है कि सबसे ज्यादा महिला सेक्स वर्क्स एड्स की शिकार होती हैं।
  • नशीली दवा और इंजेक्शन लगने से भी लोग इस बीमारी का शिकार हो गए हैं।
  • कई बार ऐसा होता है एचआईवी पॉजिटिव होने का मतलब लोग एड्स समझते हैं। यह वायरस अगर किसी इंसान में मौजूद हो तो उसे एचआईवी पॉजिटिव कहा जाता है।
  • इस वायरस की वजह से ही हमारे शरीर में कमजोरी आने लगती है। जिसके बाद 8 से 10 साल के बाद शरीर में एड्स के लक्षण दिखने शुरू हो जाते हैं।
  • एचआईवी की वजह से शरीर में तनाव और थकावट महसूस होने लगती है।
  • इन वजहों से होता है एड्स जाने कैसे करें इन सबसे बचाव
  • अनसेफ सेक्स- असुरक्षित यौन संबंध बनाना एड्स की सबसे बड़ी वजह है।
  • गलत तरीके से खून चढ़ाने से- अक्सर किसी को ब्लड डोनेट करते वक्त या खून चढ़ाते वक्त भी कुछ खास बातों का ध्यान रखना बेहद जरूरी होता है।
  • एकबार इस्तेमाल की हुई सुई को दोबारा इस्तेमाल करने से- सुई का गलत तरीके से इस्तेमाल या फिर पुरानी सुई के इस्तेमाल करने से भी एड्स होता है।
  • इन्फेक्टेड ब्लेड यूज करने से- कई बार शेविंग बनाते समय या फिर किसी और कार्य के लिए उपयोग में आने वाली ब्लेड संक्रमित होती है जो एड्स की बड़ी वजह बनती है।