टीम अखिलेश के पांच नेताओं को मिली वाई श्रेणी की सुरक्षा

लखनऊ: मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की टीम के पांच नेताओं को बृहस्पतिवार को वाई-श्रेणी सुरक्षा प्रदान की गयी है। हालांकि देर रात इसकी अधिकारिक पुष्टि नहीं हो सकी। पुलिस महानिदेशक कार्यालय के अधिकारी इस सम्बन्ध में कोई गोल-मोल जवाब दे रहे है।सपा में पिछले दिनों हुए घमासान के दौरान प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव की अखिलेश यादव की टीम में शामिल कुछ नेताओं ने खुलकर खिलाफत की थी। इस पर एमएलसी अरविन्द यादव व राकेश यादव को पार्टी से निष्कासित कर दिया गया था।




इसके अतिरिक्त पार्टी के कुछ युवा नेताओं को नोटिस जारी कर जवाब तलब किया गया था। अब प्रदेश सरकार इन नेताओं पर मेहरबान हुई है। इन्हें वाई-श्रेणी की सुरक्षा से नवाजा गया है। सूत्रों के मुताबिक अरविन्द यादव, राजू यादव, राकेश यादव, अतुल प्रधान व पीडी तिवारी को वाई-श्रेणी की सुरक्षा दी गयी है। सुरक्षा सम्बन्धी आदेश सुरक्षा मुख्यालय को भेज दिया गया है।

हालांकि इससे पुलिस महकमे के आला अधिकारी इनकार कर रहे है। पुलिस महानिदेशक के कार्यालय के अधिकारी यह तर्क दे रहे है कि वरिष्ठ नेताओं को अक्सर सुरक्षा प्रदान की जाती है। ज्यादा पूछने पर गोल-मोल जवाब देकर टाल दिया।



क्या होती है वाई श्रेणी की सुरक्षा?
वाई श्रेणी की सुरक्षा में कुल 11 पुलिस कर्मी मौजूद रहते हैं। सुरक्षा में पुलिस की एक जीप और ड्राइवर भी उपलब्ध कराया जाता है। सुरक्षा में 2 सब इंस्पेक्टर, 2 हेड कांस्टेबल, 4 कांस्टेबल और 2 होमगार्ड होते हैं। राज्य सरकार गृह विभाग से हरी झंडी मिलने के बाद वाई श्रेणी की सुरक्षा देती है।