यहां मौत पर है बैन, 70 सालों से कोई नहीं मरा

नई दिल्ली। वैसे तो हर देश अपनी किसी न किसी खूबियों के लिए जाने जाते हैं लेकिन दुनिया मे एक ऐसी जगह है जहां मौत पर ही बैन है। जी हाँ यहाँ कोई भी व्यक्ति मर नहीं सकता है। यह सुनने में थोड़ा अटपटा जरूर लगा होगा आपको लेकिन यह सच है। नॉर्वे के छोटे से शहर लॉन्गइयरबेन में प्रकृति के नियमों के खिलाफ प्रशासन ने मौत पर पाबंदी लगा दी है।




2000 की आबादी वाले इस शहर में लोगों को मरने की इजाजत नहीं है। यही वजह है कि यहां पिछले 70 सालों से किसी की मौत नहीं हुई है। बताया जा रहा है कि यहाँ यह पाबंदी इसलिए लगानी पड़ी क्योंकि यहां कड़ाके की ठंड होती है। जिसके चलते बॉडी सालों तक ऐसी की ऐसी ही पड़ी रहती है। ठंड की वजह से न तो वो गलती है और न ही सड़ती है। सालों तक शव नष्ट नहीं हो पाता।

एक शोध में पाया गया कि साल 1917 में जिस शख्स की मौत इनफ्लुएंजा की वजह से हुई उसके शव में इंनफ्लुएंजा के वायरस जस के तस पड़े थे। जिससे बीमारी फैलने का खतरा मंडराने लगा। इसके बाद प्रशासन ने इस शहर में मौत पर पाबंदी लगा दी। अब यहां जो भी व्यक्ति मरने वाला होता है या कोई इमरजेंसी आती है तो उस व्यक्ति को हेलिकॉप्टर से देश के दूसरे इलाके में ले जाया जाता है और मरने के बाद वहीं उसका अंतिम संस्कार किया जाता है।