CAA-NRC के विरोध में यशंवत सिन्हा ने शुरू की गांधी यात्रा, शरद पवार-प्रकाश आंबेडकर भी पहुंचे

Yashwant Sinha
CAA-NRC के विरोध में यशंवत सिन्हा ने शुरू की गांधी यात्रा, शरद पवार-प्रकाश आंबेडकर भी पहुंचे

मुंबई। नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (एनआरसी) के खिलाफ देशभर में प्रदर्शन जारी है। विपक्षी पार्टियां इसको लेकर विरोध कर रही हैं। वहीं इस कानून के खिलाफ पूर्व केंद्रीय मंत्री यशंत सिन्हा ने मुंबई में गांधी शांति यात्रा की शुरूआत की है। वहीं, इस यात्रा में शामिल होने के लिए मुंबई के गेटवे ऑफ इंडिया पर एनसीपी प्रमुख शरद पवार भी पहुंचे हैं।

Yashwant Sinha Begins Gandhi Yatra In Protest Against Caa Nrc Sharad Pawar Prakash Ambedkar Also Arrived :

इसके साथ ही नवाब मलिक, प्रकाश आंबेडकर, पृथ्वीराज चव्हाण समेत अन्य नेता मौजजूद हैं। बता दें कि, यह यात्रा मुंबई के गेटवा ऑफ इंडिया से शुरू होकर दिल्ली में खत्म होगी। गांधी शांति यात्रा के दौरान यह मांग की विपक्ष यह मांग करेगा कि सरकार संसद में घोषणा करे कि राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टश्र (एनआरसी) नहीं कराई जाएगी। यात्रा महाराष्ट्र, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, हरियाणा से होकर 30 जनवरी को दिल्ली के राजघाट पर खत्म होगी।

गौरतलब है कि यशवंत सिन्हा बीजेपी सरकार में वित्त मंत्री रह चुके हैं। कुछ दिनों पूर्व उन्होंने पीएम मोदी पर तीखा हमला किया था। दिल्ली के जामिया मिल्लिया इस्लामिया पहुंचे यशवंत सिन्हा ने कहा था कि मोदी सरकार ने कश्मीर को देश के बाकी हिस्सों जैसा बनाने का दावा किया था, लेकिन हालात ऐसे बन गए हैं कि अब पूरा देश ही कश्मीर बन गया है। यशवंत सिन्हा बीजेपी में रहे हैं लेकिन मौजूदा सरकार की नीतियों की आलोचना करते रहे हैं।

मुंबई। नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (एनआरसी) के खिलाफ देशभर में प्रदर्शन जारी है। विपक्षी पार्टियां इसको लेकर विरोध कर रही हैं। वहीं इस कानून के खिलाफ पूर्व केंद्रीय मंत्री यशंत सिन्हा ने मुंबई में गांधी शांति यात्रा की शुरूआत की है। वहीं, इस यात्रा में शामिल होने के लिए मुंबई के गेटवे ऑफ इंडिया पर एनसीपी प्रमुख शरद पवार भी पहुंचे हैं। इसके साथ ही नवाब मलिक, प्रकाश आंबेडकर, पृथ्वीराज चव्हाण समेत अन्य नेता मौजजूद हैं। बता दें कि, यह यात्रा मुंबई के गेटवा ऑफ इंडिया से शुरू होकर दिल्ली में खत्म होगी। गांधी शांति यात्रा के दौरान यह मांग की विपक्ष यह मांग करेगा कि सरकार संसद में घोषणा करे कि राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टश्र (एनआरसी) नहीं कराई जाएगी। यात्रा महाराष्ट्र, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, हरियाणा से होकर 30 जनवरी को दिल्ली के राजघाट पर खत्म होगी। गौरतलब है कि यशवंत सिन्हा बीजेपी सरकार में वित्त मंत्री रह चुके हैं। कुछ दिनों पूर्व उन्होंने पीएम मोदी पर तीखा हमला किया था। दिल्ली के जामिया मिल्लिया इस्लामिया पहुंचे यशवंत सिन्हा ने कहा था कि मोदी सरकार ने कश्मीर को देश के बाकी हिस्सों जैसा बनाने का दावा किया था, लेकिन हालात ऐसे बन गए हैं कि अब पूरा देश ही कश्मीर बन गया है। यशवंत सिन्हा बीजेपी में रहे हैं लेकिन मौजूदा सरकार की नीतियों की आलोचना करते रहे हैं।