जुलूस निकाल रहे यासीन मलिक को पुलिस ने किया अरेस्ट, घाटी में बंद का आह्वान

yasin malik arest
यासीन मलिक

Yasin Malik Arrested Separatists Call For Protest Strike

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के कुलगाम जिले में नागरिकों की मौतों के विरोध में बुधवार को जुलूस निकाल रहे जम्मू एवं कश्मीर लिबरेशन फ्रंट(जेकेएलएफ) के चेयरमैन यासीन मलिक को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। वहीं अलगाववादी संगठनों के नेताओं सैयद अली गिलानी, मीरवाइज उमर फारूक और यासीन मलिक ने गुरुवार और शुक्रवार को घाटी में बंद का आह्वान किया है।

जेकेएलएफ के कार्यालय पर आनन-फानन में बुलाए गए संवाददाता सम्मेलन में गिलानी और मीरवाइज उमर ने संवाददाताओं को फोन से संबोधित किया। उन्होंने और मलिक ने भारत सरकार पर आरोप लगाया कि वह कश्मीर के लोगों का सफाया करना चाहती है। मीरवाइज ने कहा कि 2019 के आम चुनावों में कश्मीर को मुख्य मुद्दा बनाने के लिए मोदी सरकार किसी भी हद तक जा सकती है।

मलिक ने राज्य सरकार, विशेषकर पीडीपी नेतृत्व पर उस भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के साथ गठबंधन करने के लिए हमला बोला जो ‘खुले तौर पर दुष्कर्मियों और कातिलों का समर्थन कर रही है।’ गिलानी ने कहा कि ‘कश्मीर के लोगों के मन से स्वतंत्रता की इच्छा और संकल्प’ को खत्म करने की नई दिल्ली की कोशिशें कभी सफल नहीं होंगी।

बुधवार को कुलगाम में नागरिकों की मौतें होने के विरोध में अलगाववादियों ने गुरुवार और शुक्रवार को घाटी में बंद का आह्वान किया है। मलिक की गिरफ्तारी की खबर शहर में फैलते ही मैसूमा क्षेत्र के सैकड़ों युवक अपने घरों से निकलकर सुरक्षा बलों से भिड़ गए। बुधवार को नागरिकों की मौतें होने के विरोध में पुलवामा, अनंतनाग, सोपोर और बांदीपोरा में भी झड़पों की खबरें आई हैं।

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के कुलगाम जिले में नागरिकों की मौतों के विरोध में बुधवार को जुलूस निकाल रहे जम्मू एवं कश्मीर लिबरेशन फ्रंट(जेकेएलएफ) के चेयरमैन यासीन मलिक को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। वहीं अलगाववादी संगठनों के नेताओं सैयद अली गिलानी, मीरवाइज उमर फारूक और यासीन मलिक ने गुरुवार और शुक्रवार को घाटी में बंद का आह्वान किया है। जेकेएलएफ के कार्यालय पर आनन-फानन में बुलाए गए संवाददाता सम्मेलन में गिलानी और मीरवाइज उमर ने संवाददाताओं को फोन से संबोधित किया।…