यस बैंक संकट: रविशंकर प्रसाद ने कांग्रेस को ठहराया जिम्मेदार, बोले-UPA सरकार ने खूब दिया लोन

ravishankar prashad
बीजेपी का राहुल गांधी पर हमला, रविशंकर बोले-झूंठ बोलेकर देश के संकल्प को करना चाहते हैं कमजोर

नई दिल्ली। हाल ही में यस बैंक पर आये संकट को लेकर अब सियासी बयानबाजी शुरू हो गयी है। जहां एक तरफ विपक्षी पार्टियों ने मोदी सरकार पर निशाना साधा वहीं बीजेपी इसके लिए कांग्रेस को जिम्मेदार ठहरा रही है। मोदी सरकार में केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा है कि जिन कर्जों की वजह से येस बैंक की ये स्थिति हुई है वो लोन तब दिए गए जब देश के प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह और वित्त मंत्री पी चिदंबरम थे।

Yes Bank Crisis Ravi Shankar Prasad Held Congress Responsible Said Upa Government Gave A Lot Of Loan :

उन्होंने एक कार्यक्रम के दौरान कहा कि सरकार पैसा जमा करने वालों को कोई नुकसान नहीं होने देगी। उन्होंने इस संकट के लिए यूपीए सरकार को पूरी तरह से जिम्मेदार ठहराया है। उन्होेने कहा कि येस बैंक मामले में सरकार सख्ती से कार्रवाई कर रही है। स्टेट बैंक ऑफ इंडिया इसी दिशा में आगे बढ़ रहा है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण पहले ही स्पष्ट कर चुकी हैं कि जिस लोन के कारण बैंक की हालत बिगड़ी है वो कर्ज तब दिया गया था, जब मनमोहन सिंह प्रधानमंत्री और पी चिदंबरम वित्तमंत्री थे।

उन्होंने कहा कि उस वक्त फोन बैंकिंग होती थी। लोन को लेकर जो सिस्टम चलता था उसके कारण संस्थान परेशान हो रहे हैं। उन्होंने वादा किया है कि किसी भी खाताधारक के साथ अहित नही होगा। बता दें कि रविशंकर प्रसाद ने रविवार को पटना में अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर आईटी क्षेत्र में कार्यरत समाज सेविकाओं और महिला उद्यमियों के साथ भी मुलाकात की और उन्हें प्रधानमंत्री के ट्विटर अकाउंट से जुड़ने की सलाह दी।

नई दिल्ली। हाल ही में यस बैंक पर आये संकट को लेकर अब सियासी बयानबाजी शुरू हो गयी है। जहां एक तरफ विपक्षी पार्टियों ने मोदी सरकार पर निशाना साधा वहीं बीजेपी इसके लिए कांग्रेस को जिम्मेदार ठहरा रही है। मोदी सरकार में केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा है कि जिन कर्जों की वजह से येस बैंक की ये स्थिति हुई है वो लोन तब दिए गए जब देश के प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह और वित्त मंत्री पी चिदंबरम थे। उन्होंने एक कार्यक्रम के दौरान कहा कि सरकार पैसा जमा करने वालों को कोई नुकसान नहीं होने देगी। उन्होंने इस संकट के लिए यूपीए सरकार को पूरी तरह से जिम्मेदार ठहराया है। उन्होेने कहा कि येस बैंक मामले में सरकार सख्ती से कार्रवाई कर रही है। स्टेट बैंक ऑफ इंडिया इसी दिशा में आगे बढ़ रहा है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण पहले ही स्पष्ट कर चुकी हैं कि जिस लोन के कारण बैंक की हालत बिगड़ी है वो कर्ज तब दिया गया था, जब मनमोहन सिंह प्रधानमंत्री और पी चिदंबरम वित्तमंत्री थे। उन्होंने कहा कि उस वक्त फोन बैंकिंग होती थी। लोन को लेकर जो सिस्टम चलता था उसके कारण संस्थान परेशान हो रहे हैं। उन्होंने वादा किया है कि किसी भी खाताधारक के साथ अहित नही होगा। बता दें कि रविशंकर प्रसाद ने रविवार को पटना में अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर आईटी क्षेत्र में कार्यरत समाज सेविकाओं और महिला उद्यमियों के साथ भी मुलाकात की और उन्हें प्रधानमंत्री के ट्विटर अकाउंट से जुड़ने की सलाह दी।