लखनऊ में बैठकर सीएम योगी ने पश्चिम बंगाल में की रैली

a.jpeg¢¢¢¢¢

लखनऊ।
पश्चिम बंगाल में रैली स्थल के पास हेलीकॉप्टर उतारने की अनुमति न दिए जाने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ के पांच कालिदास मार्ग स्थित अपने आवास से पश्चिम बंगाल की जनसभा सम्बोधित की।

Yogi Adityanath Addressed A Rally In West Bengal By Phone :

सीएम योगी ने रैली के लिए अनुमति न दिए जाने पर पश्चिम बंगाल सरकार से गहरी नाराजगी जताई और कहा कि ममता जी को प्रशासन का इस्तेमाल राजनीति के लिए नहीं करना चाहिए। यह पूरी तरह अलोकतांत्रिक है। बंगाल का प्रशासन तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ता की तरह काम कर रहा है। यह अस्वीकार्य है। आपको बता दें कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को रविवार को पश्चिम बंगाल में बलूरघाट व दक्षिणी दिनाजपुर में रैलियों को सम्बोधित करना था लेकिन सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए योगी के हेलीकॉप्टर को रैली स्थल के पास उतारने की अनुमति नहीं दी गई। जिस पर भाजपा ने कड़ी प्रतिक्रिया दी। पश्चिम बंगाल सरकार द्वारा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की रैली के लिए अनुमति न दिए जाने को भाजपा ने अलोकतांत्रिक बताते हुए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से गहरी नाराजगी जताई है। भाजपा प्रवक्ता चन्द्रमोहन ने कहा कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी सीएम योगी की लोकप्रियता से घबरा गई हैं। वह एक ओर तो महागठबंधन के अलग.अलग पार्टियों के नेताओं को बुलाती हैं। दूसरी तरफ योगी की रैली के लिए अनुमति नहीं देती हैं। आने वाले चुनाव में बंगाल की जनता ममता को सबक सिखाएगी। बंगाल में ममता की जमीन खिसक रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की लोकप्रियता का ग्राफ तेजी से बढ़ रहा है। ये बताता है कि आने वाले चुनाव में बंगाल में ममता का सूपड़ा साफ होगा। आपको बता दें कि आगामी लोकसभा चुनाव में प्रचार के लिए भाजपा ने पश्चिम बंगाल में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की रैली के लिए अनुमति मांगी थी जिसे मना कर दिया गया।

लखनऊ। पश्चिम बंगाल में रैली स्थल के पास हेलीकॉप्टर उतारने की अनुमति न दिए जाने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ के पांच कालिदास मार्ग स्थित अपने आवास से पश्चिम बंगाल की जनसभा सम्बोधित की। सीएम योगी ने रैली के लिए अनुमति न दिए जाने पर पश्चिम बंगाल सरकार से गहरी नाराजगी जताई और कहा कि ममता जी को प्रशासन का इस्तेमाल राजनीति के लिए नहीं करना चाहिए। यह पूरी तरह अलोकतांत्रिक है। बंगाल का प्रशासन तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ता की तरह काम कर रहा है। यह अस्वीकार्य है। आपको बता दें कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को रविवार को पश्चिम बंगाल में बलूरघाट व दक्षिणी दिनाजपुर में रैलियों को सम्बोधित करना था लेकिन सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए योगी के हेलीकॉप्टर को रैली स्थल के पास उतारने की अनुमति नहीं दी गई। जिस पर भाजपा ने कड़ी प्रतिक्रिया दी। पश्चिम बंगाल सरकार द्वारा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की रैली के लिए अनुमति न दिए जाने को भाजपा ने अलोकतांत्रिक बताते हुए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से गहरी नाराजगी जताई है। भाजपा प्रवक्ता चन्द्रमोहन ने कहा कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी सीएम योगी की लोकप्रियता से घबरा गई हैं। वह एक ओर तो महागठबंधन के अलग.अलग पार्टियों के नेताओं को बुलाती हैं। दूसरी तरफ योगी की रैली के लिए अनुमति नहीं देती हैं। आने वाले चुनाव में बंगाल की जनता ममता को सबक सिखाएगी। बंगाल में ममता की जमीन खिसक रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की लोकप्रियता का ग्राफ तेजी से बढ़ रहा है। ये बताता है कि आने वाले चुनाव में बंगाल में ममता का सूपड़ा साफ होगा। आपको बता दें कि आगामी लोकसभा चुनाव में प्रचार के लिए भाजपा ने पश्चिम बंगाल में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की रैली के लिए अनुमति मांगी थी जिसे मना कर दिया गया।