1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. चुनाव के बाद पहली बार योगी आदित्यनाथ और अखिलेश यादव का हुआ आमना-सामना, सीएम ने रखा नेता प्रतिपक्ष के कंधे पर हाथ

चुनाव के बाद पहली बार योगी आदित्यनाथ और अखिलेश यादव का हुआ आमना-सामना, सीएम ने रखा नेता प्रतिपक्ष के कंधे पर हाथ

आज यूपी विधानसभा चुनाव में चुन कर आयी नयी सरकार के विधायकों के शपथ ग्रहण की प्रक्रिया विधान भवन में चल रही है। इस दौरान इतिहास रच दूसरी बार सूबे के सीएम बनें योगी आदित्यनाथ ने विधायक पद की शपथ ली।

By प्रिन्स राज 
Updated Date

लखनऊ। आज यूपी विधानसभा चुनाव में चुन कर आयी नयी सरकार के विधायकों के शपथ ग्रहण की प्रक्रिया विधान भवन में चल रही है। इस दौरान इतिहास रच दूसरी बार सूबे के सीएम बनें योगी आदित्यनाथ ने विधायक पद की शपथ ली। उनके शपथ लेने के बाद संवैधानिक प्रकिया के तहत सदन के नेता विरोधी दल के रुप में चुने गये प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को प्रोटेम स्पीकर रामापति शास्त्री ने शपथ लेने के लिए आमंत्रित किया। इस दौरान ऐसा पहली बार हुआ जब यूपी चुनाव के बाद दोनों नेता एक दूसरे के आमने सामने आये।

पढ़ें :- Free Scooty Yojana 2022 : योगी सरकार लड़कियों को जल्द देगी मुफ्त स्कूटी, यहां जानें सब कुछ

शपथ लेने के लिए आगे की ओर बड़ रहे अखिलेश यादव ने अपने डेस्क के पास खड़े मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का हांथ जोड़ कर अभिवादन किया। जवाब में योगी आदित्यनाथ ने भी अखिलेश को देख हांथ जोड़ा और मुस्करा कर के अभिवादन स्वीकार किया। बता दें कि ये दोनों नेताओं ने पहली बार विधानसभा का चुनाव लड़ा था। योगी आदित्यनाथ अपने पूर्व संसदीय क्षेत्र गोरखुपर से तथा अखिलेश यादव मैनपुरी के करहल विधानसभा क्षेत्र से जीत दर्ज कर विधानभवन पहुंचे हैं। ये दोनों नेताओं ने चुनाव के दौरान एक दूसरे पर जमकर कर के व्यक्तिगत और राजनीतिक हमले किये।

चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने शानदार प्रदर्शन करते हुए 255 सीटों पर जीत दर्ज की। वहीं दूसरे सबसे बड़े दल के रुप में समाजवादी पार्टी ने 111 सीटों पर अपना परचम लहराया। 25 मार्च को लखनऊ के अटल बिहारी वाजपेयी इकाना स्टेडियम में हुए मुख्यमंत्री के शपथ ग्रहण समारोह से एक दिन पहले लोकभवन में हुए कार्यक्रम के दौरान भाजपा के विधायकों ने योगी आदित्यनाथ को विधायक दल का नेता चुना था। इस दौरान पार्टी के पर्यवेक्षक बन कर कार्यक्रम में शिरकत करने आये गृह मंत्री अमित शाह और सह पर्यवेक्षक रघुवर दास भी मौजूद रहे।

वहीं आजमगढ़ जिले के सांसद पद से इस्तीफा देने के बाद 26 तारीख को सपा के कार्यालय पर हुए सपा के विधायकों की मीटिंग में अखिलेश को विधानमंडल दल का नेता चुना गया। नेता प्रतिपक्ष चुने जानें के बाद अखिलेश यादव ने कहा कि वो नेता प्रतिपक्ष के रुप में जनता हित के मुद्दों को खुद सदन में उठाने का कार्य करेंगे। इन दोनों बड़े नेताओं के बाद एक एक कर अन्य मंत्रियों और विधायकों नेे भी शपथ ग्रहण की प्रक्रिया को पूरा किया। आज इस आयोजन के बाद कल यूपी विधानसभा को नया विधानसभा अध्यक्ष भी मिल जायेगा। इसके बाद आठरहवीं विधानसभा के गठन की प्रक्रिया पूर्ण रुप से पूरी हो जायेगी।

पढ़ें :- Rajya Sabha Election : यूपी में 11 प्रत्याशियों का निर्विरोध निर्वाचन तय, 3 जून को साफ होगी तस्वीर
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...