Big News: सुबह 9 बजे तक दफ्तर नहीं पहुंचे अधिकारी तो कटेगी सैलरी: सीएम योगी

f

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अधिकारियों की लापरवाही के प्रति सख्त है। एक बार फिर से सरकारी अमलों के अधिकारियों के लिए उन्होंने सख्त फरमान जारी किया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश के सभी अफसरों को सबेरे नौ बजे तक हर हाल में कार्यालय में पहुंचने के निर्देश दिए हैं।

Yogi Adityanath Instructed All The Officers Of The State To Reach The Office At Till 9 Am :

उन्होंने सख्त निर्देश देते हुए कहा कि सभी अफसर तत्काल प्रभाव से इसका पालन करें। ऐसा नहीं होने पर उनके खिलाफ सख्त कार्रावाई की जाएगी। उनका वेतन भी काटा जा सकता है। इसकी जानकारी मुख्यमंत्री कार्यालय के अधिकृत ट्विटर एकाउंट पर ट्वीट करके दी गई है।

सीएम योगी लोकसभा चुनाव के बाद से एक्शन मोड में हैं। हाल ही में उन्होंने सभी विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक की थी। डीएम, स्वास्थ्य विभाग, शिक्षा विभाग, पुलिस विभाग सहित कई विभागों के अधिकारियों के साथ वो समीक्षा बैठक कर चुके हैं। भष्ट अधिकारियों के लिए कड़ा संदेश देते हुए उन्होंने कहा था कि ऐसे अधिकारियों और कर्मचारियों की सरकार में कोई जगह नहीं है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि ऐसे अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए और उन्हें जबरन स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति दी जाए। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिया थे कि भ्रष्ट बाबुओं की सूची तैयार की जाए और सुझाव दिया कि उन्हें स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति के लिए बाध्य किया जाए। मुख्यमंत्री ने ई कार्यालय प्रणाली के कार्य में तेजी लाने की आवश्यकता पर जोर दिया। अधिकारियों को निर्देश दिया कि प्रोन्नति, पदों को भरे जाने और कर्मचारियों की सेवानिवृत्ति जैसे मुद्दों पर उचित कार्रवाई की जाए।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अधिकारियों की लापरवाही के प्रति सख्त है। एक बार फिर से सरकारी अमलों के अधिकारियों के लिए उन्होंने सख्त फरमान जारी किया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश के सभी अफसरों को सबेरे नौ बजे तक हर हाल में कार्यालय में पहुंचने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने सख्त निर्देश देते हुए कहा कि सभी अफसर तत्काल प्रभाव से इसका पालन करें। ऐसा नहीं होने पर उनके खिलाफ सख्त कार्रावाई की जाएगी। उनका वेतन भी काटा जा सकता है। इसकी जानकारी मुख्यमंत्री कार्यालय के अधिकृत ट्विटर एकाउंट पर ट्वीट करके दी गई है। सीएम योगी लोकसभा चुनाव के बाद से एक्शन मोड में हैं। हाल ही में उन्होंने सभी विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक की थी। डीएम, स्वास्थ्य विभाग, शिक्षा विभाग, पुलिस विभाग सहित कई विभागों के अधिकारियों के साथ वो समीक्षा बैठक कर चुके हैं। भष्ट अधिकारियों के लिए कड़ा संदेश देते हुए उन्होंने कहा था कि ऐसे अधिकारियों और कर्मचारियों की सरकार में कोई जगह नहीं है। मुख्यमंत्री ने कहा कि ऐसे अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए और उन्हें जबरन स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति दी जाए। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिया थे कि भ्रष्ट बाबुओं की सूची तैयार की जाए और सुझाव दिया कि उन्हें स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति के लिए बाध्य किया जाए। मुख्यमंत्री ने ई कार्यालय प्रणाली के कार्य में तेजी लाने की आवश्यकता पर जोर दिया। अधिकारियों को निर्देश दिया कि प्रोन्नति, पदों को भरे जाने और कर्मचारियों की सेवानिवृत्ति जैसे मुद्दों पर उचित कार्रवाई की जाए।