योगी आदित्यनाथ के साथ 44 मंत्री भी लेंगे शपथ, मुस्लिम चेहरा भी शामिल

लखनऊ| उत्तर प्रदेश में बीजेपी नेता योगी आदित्यनाथ रविवार को यूपी के 21वें मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ लेंगे| उन्हें लखनऊ में शनिवार को पार्टी विधायक दल की बैठक में मुख्यमंत्री चुना गया था| जिसके बाद राज्यपाल ने उन्हें सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया| प्रदेश पार्टी अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य और पार्टी उपाध्यक्ष दिनेश शर्मा डिप्टी सीएम होंगे| केशव प्रसाद मौर्य जहां बीजेपी के प्रदेशाध्यक्ष हैं, वहीं दिनेश शर्मा लखनऊ के मेयर हैं| इसके साथ करीब 44 मंत्री शपथ ले सकते हैं|



कहा जा रहा है कि नई कैबिनेट में अनुभव व युवा दोनों चेहरों को तरजीह मिलने की संभावना है| साथ ही महिलाओं को भी पर्याप्त प्रतिनिधित्व मिलना तय है| गठबंधन को साधने के लिए अपना दल के एक विधायक को मंत्री बनाया जाएगा| भाजपा सरकार में पार्टी के वरिष्ठ नेता व सबसे ज्यादा आठ बार विधायक चुने गए सुरेश खन्ना, सातवीं बार विधायक बने सतीश महाना, राधा मोहन दास अग्रवाल, हृदय नारायण दीक्षित, सूर्य प्रताप शाही, जयप्रताप सिंह, जगन प्रसाद गर्ग, धर्मपाल सिंह, राजेंद्र सिंह उर्फ मोती सिंह, उपेंद्र तिवारी, दल बहादुर, सत्यप्रकाश अग्रवाल, कृष्णा पासवान, राजेश अग्रवाल, श्रीराम सोनकर, वीरेंद्र सिंह सिरोही, रमापति शास्त्री और अक्षयवर लाल को कैबिनेट में जगह मिल सकती है|

युवा नेताओं में सिद्धार्थनाथ सिंह, श्रीकांत शर्मा, देवमणि द्विवेदी, गृहमंत्री राजनाथ सिंह के बेटे और पहली बार नोएडा से विधायक चुने गये पंकज सिंह और मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी से चुनाव जीते युवा नेताओं को सरकार में शामिल किया जा सकता है| नई सरकार में मानिकपुर से जीते और पूर्व सांसद आरके पटेल को मौका मिल सकता है| नेता प्रतिपक्ष रह चुके स्वामी प्रसाद मौर्य, पूर्व मुख्यमंत्री वीरबहादुर सिंह के पुत्र पूर्व मंत्री फतेहबहादुर सिंह और पूर्व मंत्री धर्म सिंह सैनी की दावेदारी बढ़ गई है| इसके अलावा योगी की टीम में एक मुस्लिम को भी मंत्री बनाए जाने की चर्चा जोरों पट है| बताया जा रहा है कि एमएलसी मोहसिन रजा को मंत्री बनाया जा सकता है|




भाजपा सरकार में लखनऊ से भी कई चेहरों को शामिल किए जाने की चर्चा जोरों पर है| इसमें लखनऊ कैंट से विधायक रीता बहुगुणा जोशी, लालजी टंडन के बेटे आशुतोष टंडन, दयाशंकर सिंह की पत्नी स्वाति सिंह और ब्रजेश पाठक को भी मौका मिल सकता है| इनके अलावा महिलाओं में रीता बहुगुणा जोशी और स्वाति सिंह के अलावा कृष्णा पासवान, प्रदेश महामंत्री अनुपमा जायसवाल, नीलिमा कटियार, रजनी तिवारी, रानी पक्षालिका सिंह व कांग्रेस के गढ़ को फतह करने वाली भूपति भवन की रानी गरिमा सिंह को भी मौका मिल सकता है|

Loading...