1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. योगी आदित्यनाथ ने अफसरों को बताया, बुलडोजर से किस पर ढाहना है कहर, किसे देनी है छूट

योगी आदित्यनाथ ने अफसरों को बताया, बुलडोजर से किस पर ढाहना है कहर, किसे देनी है छूट

10 मार्च को उत्तर प्रदेश में दोबारा सत्ता में वापसी करने के बाद योगी आदित्यनाथ की पहचान बन चुका बुलडोजर एक बार फिर से गर्जना भर रहा है।

By प्रिन्स राज 
Updated Date

लखनऊ। 10 मार्च को उत्तर प्रदेश में दोबारा सत्ता में वापसी करने के बाद योगी आदित्यनाथ की पहचान बन चुका बुलडोजर एक बार फिर से गर्जना भर रहा है। इस बीच तमाम माफियाओं, अपराधियों के अवैध सं​पत्ति पर बुलडोजर तो चल रहा है लेकिन कुछ ऐसे वीडियो भी सामने आये हैं जिसमें गरीब,ठेले वाले, रेहणी पट्टी वालों पर भी बुलडोजर का अपयोग गलत तरीके से किया जा रहा है। ऐसे मामले सामने आने पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से अफसरों को कड़ा निर्देश दिया है।

पढ़ें :- महराजगंज:एमएलसी चुनाव के मतदान स्थलों की तैयारियों का डीएम व एसपी ने लिया जायजा

उन्होंने कहा है कि कहीं भी किसी गरीब की दुकान और मकान को नहीं तोड़ना है। मुख्यमंत्री ने अफसरों से कहा कि किसी गरीब की दुकान, मकान या झोपड़ी पर बुलडोजर नहीं चलेगा, बल्कि यह सख्त कार्रवाई माफिया की अवैध संपत्ति पर की जाए। उन्होंने यह भी कहा है कि गरीबों की संपत्ति पर कब्जा करने वालों पर त्वरित एक्शन लिया जाए। इस आदेश से यह सुनिश्चित किया जाएगा कि ऐसी कार्रवाई पर कोई शिकायत न आए।

बता दें कि पिछले एक पखवारे में लगभग 80 अपराधी आत्मसमर्पण कर चुके हैं। माफिया और अवैध कब्जा किए लोगों में सरकार के बुलडोजर का खौफ है। गौरतलब है कि योगी सरकार ने पहले कार्यकाल में भी कई अपराधियों और माफिया के मकानों पर बुलडोजर चढ़ा दिया था। चुनाव में भी यह एक बड़ा मुद्दा बना। भाजपा की ऐतिहासिक जीत में बुलडोजर को अहम माना जा रहा है। विपक्ष ने बुलडोजर बाबा कहकर योगी को निशाना बनाने की कोशिश की, लेकिन यह भगवा पार्टी के पक्ष में ही गया।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...